NDTV Khabar

गोवा में गहराता राजनैतिक संकट...

मनोहर पर्रिकर को केंद्रीय रक्षामंत्री के पद से हटाकर गोवा भेजा गया था, लेकिन अब हालात ये हैं कि मनोहर पर्रिकर खुद बीमार हैं और दिल्ली के AIIMS में भर्ती हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
गोवा में गहराता राजनैतिक संकट...

गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर.

गोवा में राजनैतिक संकट गहराता जा रहा है... संकट इस बार संवैधानिक बन सकता है, जैसा कि कांग्रेस कह रही है... गोवा के हालात एकदम अलग हैं... वहां BJP की सरकार है, जिसके पास 14 विधायक हैं और वह 40 सदस्यों की विधानसभा में सबसे बड़ा दल नहीं है... सबसे बड़ा दल कांग्रेस है, जिसके पास 16 विधायक हैं... मगर गोवा में सरकार BJP की है, जिसे महाराष्ट्रवादी गोमांतक पार्टी, यानी MGP के 3, गोवा फॉरवर्ड पार्टी, यानी GFP के 3 और 3 निर्दलीय विधायकों का सर्मथन मिला हुआ है... इन सभी पार्टियों ने साफ कह रखा है कि उन्होंने BJP को नहीं, बल्कि मनोहर पर्रिकर को समर्थन दिया है...

यही वजह है कि मनोहर पर्रिकर को केंद्रीय रक्षामंत्री के पद से हटाकर गोवा भेजा गया था, लेकिन अब हालात ये हैं कि मनोहर पर्रिकर खुद बीमार हैं और दिल्ली के AIIMS में भर्ती हैं... उपमुख्यमंत्री फ्रांसिस डिसूज़ा भी इलाज के लिए अमेरिका में हैं और पांडुरंग मडगईकर की हालत भी खराब है, और वह भी वोट डालने की स्थिति में नहीं हैं...

यह सब देखते हुए कांग्रेस ने राज्यपाल के पास सरकार बनाने का दावा पेश कर दिया है - सबसे बड़ी पार्टी होने के नाते उन्हें सरकार बनाने का मौका दिया जाए... राज्यपाल को अब निर्णय लेना है कि किस तरह इस संकट का हल निकालें... BJP भी पसोपेश में है - करें, तो क्या करें... यदि नया मुख्यमंत्री बनाते हैं, तो विश्वासमत लेना पड़ेगा और वहां दिक्कत हो सकती है, क्योंकि MGP, GFP और निर्दलीय विधायक साफ कर चुके हैं कि उनका सर्मथन पर्रिकर को था, और वह किसी और को स्वीकार नहीं करेंगे...


यही वजह है कि BJP अब एक उपमुख्यमंत्री बनाने पर विचार कर रही है, मगर इस आइडिया को लेकर BJP में ही फूट पड़ती नज़र आ रही है - कौन बनेगा अगला उपमुख्यमंत्री... वैसे, पहले यह ख़बर आई थी कि केंद्र में मंत्री श्रीपद नायक को मुख्यमंत्री बनाकर गोवा भेजा जाएगा, मगर उससे बात बनती नहीं दिखी... ऐसे में कांग्रेस खेमे में उत्साह है, और कांग्रेस नेता व पूर्व मुख्यमंत्री दिगंबर कामत सक्रिय हो गए हैं...

कांग्रेस के पास विधानसभा में 16 विधायक हैं और एक विधायक उनकी सहयोगी राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी, यानी NCP का भी है... यदि MGP, GFP और निर्दलीय पाला बदलते हैं, तो कांग्रेस सरकार बनाने की हालत में होगी... मगर इस समय तो सबसे बड़ा सवाल यही है कि राज्यपाल क्या करेंगी, क्योंकि कर्नाटक में राज्यपाल की भूमिका पर काफी सवाल उठाए गए थे... वहां राज्यपाल ने सबसे बड़ी पार्टी के रूप में BJP के बीएस येदियुरप्पा को शपथ दिलाई थी, जो बहुमत साबित करने से पहले ही इस्तीफा दे गए... अब देखना होगा, गोवा में राजनैतिक ऊंट किस करवट बैठता है...

टिप्पणियां

मनोरंजन भारती NDTV इंडिया में 'सीनियर एक्ज़ीक्यूटिव एडिटर - पॉलिटिकल न्यूज़' हैं...

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति NDTV उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार NDTV के नहीं हैं, तथा NDTV उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement