NDTV Khabar

आधा दर्जन छोटे दलों के संपर्क में हैं प्रियंका

प्रियंका उत्तर प्रदेश में भानुमति का कुनबा इकट्ढा करने में जुटी हैं, आखिर एक-एक वोट का सवाल जो है

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
आधा दर्जन छोटे दलों के संपर्क में हैं प्रियंका

कांग्रेस उत्तर प्रदेश में अपने पांव जमाने की कोशिश में लगी है. जब से पूर्वी उत्तर प्रदेश का जिम्मा प्रियंका गांधी को मिला है और पश्चिमी उत्तर प्रदेश का ज्योतिरादित्य सिंधिया को, दोनों ने अपने-अपने ढंग से कांग्रेस को फिर से खड़ा करने के लिए काम करना शुरू कर दिया है. इसके लिए प्रियंका अपनी खास कोशिशों में जुट गई हैं. इसी रणनीति का हिस्सा है कि प्रियंका ने उत्तर प्रदेश के सभी छोटे-छोटे दलों की खोज खबर लेना शुरू कर दिया है.

इसी सिलसिले में खबर आई कि अपना दल की अनुप्रिया पटेल प्रियंका गांधी के संर्पक में हैं और दोनों की फोन पर बातचीत हुई है..यही नहीं यह भी खबर है कि अनुप्रिया पटेल ने कांग्रेस नेता अहमद पटेल और ज्योतिरादित्य सिंधिंया से मुलाकात की है. अनुप्रिया पटेल ने मीडिया से बात करते हुए साफ कहा है कि उन्होंने अपनी पार्टी की तरफ से अपनी शिकायत बीजेपी को बता दी थी और उनसे कहा था कि 20 फरवरी तक इस मसले को हल कर लिया जाए मगर अभी तक कुछ भी नहीं हुआ है इसलिए अपना दल अब आगे की अपनी रणनीति बनाने के लिए स्वतंत्र है.

खबर है कि प्रियंका गांधी ने अनुप्रिया पटेल से  4 सीटें देने का वायदा किया है. यही नहीं प्रियंका गांधी जब लखनऊ में थी तब उनकी शिवपाल यादव से फोन पर बातचीत हुई थी. शिवपाल उनसे मिलना चाहते थे मगर उस वक्त वह मीटिंग नहीं हो पाई. मगर शिवपाल यादव की लोकतांत्रिक समाजवादी पार्टी भी प्रियंका के जेहन में है कि उनको कितनी सीटें दी जाएं.


लखनऊ में ही महान दल के नेताओं ने प्रियंका से मुलाकात कर कांग्रेस को सर्मथन देने का ऐलान किया था. महान दल के नेता केशव देव मौर्या ने प्रियंका से मुलाकात की थी और कांग्रेस के लिए प्रचार करने की घोषणा की थी. महान दल का उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों में प्रभाव बताया जाता है यह मौर्या, कुशवाहा, सैनी और शाक्य के 14 फीसदी वोटों पर अपना दावा करती है.

इसके अलावा कहा जा रहा है कि प्रियंका के ऐजेंडा पर पीस पार्टी, निषाद पार्टी. बीएस-4 यानि बहुजन स्वाभिमान संघर्ष समिति और बहुजन मुक्ति पार्टी भी शामिल है. कांग्रेस के कुछ नेता इनके संर्पक में हैं. यानी प्रियंका उत्तर प्रदेश में भानुमति का कुनबा इकट्ढा करने में जुटी हैं, आखिर एक-एक वोट का सवाल जो है.

 

(मनोरंजन भारती NDTV इंडिया में 'सीनियर एक्ज़ीक्यूटिव एडिटर - पॉलिटिकल न्यूज़' हैं...)

टिप्पणियां

 

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति NDTV उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार NDTV के नहीं हैं, तथा NDTV उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement