NDTV Khabar

भारतीय क्रिकेट टीम के अंदर की कुछ कहानियां और आने वाले कल की तस्वीरें

अब सबकी निगाहें होंगी विराट और रोहित की बल्लेबाजी पर हैं, वेस्ट इंडीज से एक ऐसी प्रतिस्पर्धा है जिसमें सभी की दिलचस्पी रहेगी

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
भारतीय क्रिकेट टीम के अंदर की कुछ कहानियां और आने वाले कल की तस्वीरें

भारत ने वेस्ट इंडीज दौरे के लिए अपनी टीम की घोषणा कर दी है. टीम का जो चयन किया गया है उसमें से दो बातें समझ में आ रही हैं, सबसे बड़ी बात है कि कप्तान विराट कोहली तीनों फार्मेट में खेलने वाले हैं. जिस भारतीय कप्तान के बारे में कहा जा रहा था कि वह शायद वेस्ट इंडीज के दौरे पर नहीं जाने वाले हैं और थोड़ा आराम करने वाले हैं मगर विराट ने इन सभी खबरों को विराम देते हुए न सिर्फ वेस्ट इंडीज जाने का फैसला किया बल्कि तीनों फार्मेट भी खेलेंगे.

आखिर विराट के लिए वो कारण क्या थे जिसकी वजह से विराट को यह फैसला लेना पड़ा. सबसे बड़ा कारण है विश्व कप में भारत का सेमीफाइनल में हार जाना, जबकि वह कप का दावेदार माना जा रहा था. दूसरा कारण इससे भी बड़ा है कि पूरे विश्व कप में विराट कोहली के बल्ले से एक भी शतक नहीं आया केवल पांच अर्ध शतक ही वे बना पाए जबकि रोहित शर्मा ने पांच शतक लगा दिए. इसके बाद यदि विराट कोहली वेस्ट इंडीज नहीं जाते तो रोहित शर्मा को कप्तान बनाया जाता. वैसे भी वनडे और टी-20 में एक लॉबी रोहित शर्मा को कप्तान बनाने की वकालत काफी दिनों से कर रही है. भले ही ये सभी लोग मुंबई क्रिकेट से जुड़े हुए हैं मगर उनकी बात में दम है. खासकर टी-20 की कप्तानी को लेकर. रोहित की कप्तानी में मुबंई इंडियन चार बार आईपीएल जीत चुका है जबकि विराट कोहली के नेतृत्व में आरसीबी एक भी बार चैंपियन नहीं बनी है. एक और दलील दी जाती है कि विराट कोहली बल्ले से अपने आलोचकों के जवाब देना चाहते हैं क्योंकि विश्व कप में अपने प्रर्दशन से वे खुश नहीं थे और वेस्ट इंडीज की टीम जिस हालत में है, विराट यह मौका नहीं छोड़ना चाहते हैं. आखिर वे मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर के रिर्काड का भी तो पीछा कर रहे हैं.

अब सबकी निगाहें होंगी विराट और रोहित की बल्लेबाजी पर. यह एक ऐसी प्रतिस्पर्धा है जिसमें सभी की दिलचस्पी रहेगी. वेस्ट इंडीज जाने वाली टीम में धोनी का न होना भी एक बहुत बड़ी खबर है. चयनकर्ताओं ने एक बात तो साफ कर दी है कि धोनी को टीम से हटाया नहीं गया है बल्कि उन्होंने छुट्टी ली है क्रिकेट से कुछ दिनों के लिए. मगर सबसे बड़ा सवाल है कि धोनी के लिए आगे का रास्ता क्या है? इतना तो तय है कि धोनी टी-20 का विश्व कप अगले साल जरूर खेलेंगे क्योंकि सूत्रों की मानें तो विराट ने चयनकर्ताओं से इस बारे में बात भी कर ली है. अब सबसे बड़ा सवाल है कि धोनी तब तक क्रिकेट खेलते हुए कितने कामयाब होते हैं.


वेस्टइंडीज के बाद टी-20 की चार सीरीज लगातार भारत में होनी हैं दक्षिण अफ्रीका, बांग्लादेश, वेस्ट इंडीज और जिम्बाव्वे के साथ. जबकि भारत पांच मैच की एक टी-20 सीरिज न्यूजीलैंड के साथ उसके घर पर ही खेलेगा. ऐसे में 12 घरेलू टी-20 मैचों में भारत की जमीन पर धोनी को साबित करना होगा कि वर्ल्ड कप की टीम का हिस्सा हो सकते हैं. दरअसल चयनकर्ता धोनी को उनके रिटायमेंट के लिए दबाब न बनाकर फैसला उनके ऊपर ही छोड़ रहे हैं जैसा कि सचिन तेंदुलकर के साथ किया गया था. अब फैसला धोनी के हाथ में है कि वे वर्ल्ड कप के बाद संन्यास लेते हैं या नहीं.

धोनी पर चेन्नई सुपर किंग का भी दबाब है कि वे 2020 तक टी-20 की भारतीय टीम में बने रहें क्योंकि चैन्नई सुपर किंग के साथ उनका 2020 तक का करार है और आईपीएल में किए गए प्रर्दशन पर काफी कुछ निर्भर करेगा. इतना तो तय है कि भारतीय क्रिकेट में धोनी का कद इतना बड़ा है कि कोई उन पर फैसला थोप नहीं सकता, उन्हें खुद ही अपने कैरियर का फैसला करना होगा.

इस बार वनडे और टी-20 की टीम में चुने गए एक खिलाड़ी का जिक्र जरूर करना चाहूंगा, वो हैं राजस्थान के नवदीप सैनी. तेज गेंदबाज सैनी गौतम गंभीर की खोज हैं जिन्हें नेट पर गेंद फेंकने के लिए बुलाया गया था. 150 किलोमीटर की रफ्तार से सैनी गेंद फेंकते हैं. आईपीएल में रॉयल चैलेंजर के लिए खेलते हैं इसलिए विराट की नजर में भी हैं, मगर सबसे बड़ी कहानी यह है कि एक वक्त में नवदीप सैनी महज 200 रुपये में करनाल में टेनिल बॉल टूर्नामेंट खेलने जाया करते थे. दो चचेरे भाई भी टीम में हैं दीपक चहर और राहुल चाहर.दीपक स्विंग गेंदबाज हैं. एक वनडे और एक टी-20 भी खेल चुके हैं और फिलहाल चेन्नई के लिए आईपीएल खेलते हैं. जबकि राहुल छोटे हैं और लेग ब्रेक गुगली गेंदबाज हैं. 2017 में पुणे के लिए खेले, धोनी ने मदद की. अब मुंबई के लिए खेल रहे हैं. एक बांए हाथ का तेज गेंदबाज है जो जहीर खान की याद दिलाता है, नाम है खलील अहमद. देखते हैं हमारे यह नए सितारे आने वाले दिनों में क्या गुल खिलाते हैं.

टिप्पणियां

(मनोरंजन भारती NDTV इंडिया में 'सीनियर एक्ज़ीक्यूटिव एडिटर - पॉलिटिकल न्यूज़' हैं...)

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति NDTV उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार NDTV के नहीं हैं, तथा NDTV उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement