NDTV Khabar

चल गया लियोनेल मेसी का जादू...

फीफा वर्ल्डकप का जो मैच सबसे अधिक देखा गया होगा या दुनिया भर के फुटबाल प्रेमियों में जिसको लेकर सबसे ज्यादा उत्सुकता थी, वह निश्चित तौर पर अर्जेन्टीना बनाम नाइजीरिया होगा.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
चल गया लियोनेल मेसी का जादू...

नाइजीरिया के खिलाफ मैच में मेसी ने शानदार खेल दिखाया (फाइल फोटो)

फीफा वर्ल्डकप का जो मैच सबसे अधिक देखा गया होगा या दुनिया भर के फुटबाल प्रेमियों में जिसको लेकर सबसे ज्यादा उत्सुकता थी, वह निश्चित तौर पर अर्जेन्टीना बनाम नाइजीरिया होगा. सबकी निगाहें अर्जेंटीना के लियोनेल मेसी पर थी कि कब उसका गोल देखने को मिलेगा. खेल के 16वें मिनट में जैसे ही मेसी को गेंद मिली उसने पहले उसे अपने जांघों पर लिया और फिर डिफेंडर को मात देते हुए बायें पांव से ऐसा गोल दागा कि सबके मुंह से निकला होगा वाह क्या गोल है मेसी द मैजेसियन .मेसी का इस फीफा वर्ल्डकप में यह पहला गोल था. वैसे भी फीफा वर्ल्डकप के शुरू होने से पहले ही इस बात की चर्चा होने लगी थी कि क्रिस्टियानो रोनाल्डो के अधिक गोल होंगे कि मेसी के.जाहिर सी बात है कि मेसी से रोनाल्डो काफी निकल गए हैं.

यह भी पढ़ें: NGA vs ARG: मार्कोस रोजो के गोल से अर्जेटीना अंतिम-16 में पहुंची


रोनाल्डो के टूर्नामेंट में 4 गोल है और वह अभी भी गोल्डन बूट की रेस में हैं..इस वर्ल्ड कप में बेल्जियम के लोकाकू के भी 4 गोल हैं जबकि इंग्‍लैंड के हैरिकेन के नाम 5 गोल हैं जिसमें हैट्रिक भी शामिल है.आंकड़े भी रोनाल्डो के पक्ष में ही हैं. अपने पूरे कैरियर में मेसी ने 761 मैच खेले हैं जबकि 616 गोल किए हैं, वहीं दूसरी ओर रोनाल्डो ने 911 मैच खेले हैं और 654 गोल किए हैं.अभी तक तमाम क्लबों के लिए खेलते हुए मेसी ने 637 मैच खेले और 552 गोल किए. जबकि रोनाल्डो ने क्लबों के लिए 761 मैच खेले और 573 गोल किए. मेसी और रोनाल्डो के बीच किए गए गोल अंतर की वजह दोनों के खेलने के तरीके की वजह से है. मेसी टीम प्लेयर माने जाते हैं..वो अपनी टीम के दूसरे खिलाडियों को गोल करने में मदद करते हैं.उनकी ड्रिब्लिंग शानदार होती है गेंद लेकर गोल की तरफ भागने में तेजी उनकी खासियत है हालांकि रोनाल्डो भी गेंद लेकर तेजी दिखाते हैं मगर वे उम्मीद करते हैं कि सभी खिलाडी उन्हें ही गेंद दें.

रोनाल्डो और मेसी में एक बडा फर्क है कि मेसी का केवल बायां पांव चलता है मगर रोनाल्डो दोनों पांव से खेलते हैं. दोनों फ्री किक लेने में उत्साद हैं मगर रोनाल्डो के साथ एक और कला है कि वह है सिर से गोल करना .रोनाल्डो के कई शानदार गोल आपको मिलेंगे जो उन्होने हेडर से किए हैं. दोनों दुनिया के सबसे सफल क्लबों से खेलते हैं और शानदार प्रर्दशन करते हैं मगर देश के लिए खेलते हुए उनकी टीम अच्छा नहीं कर पा रही है यही वजह है कि मेसी और रोनाल्डो दोनों में से किसी ने भी वर्ल्ड कप नहीं जीता है. इसके लिए कहा जाता है कि क्लब फुटबाल वे साल भर खेलते हैं और वहां पूरी दुनिया भर से अच्छे प्लेयर खरीद कर लाए जाते हैं मगर देश के लिए खेलते वक्त यह हालात नहीं होते.

इसके खिलाफ यह दलील दी जाती है कि यह नियम तो हरेक देश पर लागू होता है.और अंत में अर्जेन्टीना और नाइजीरिया के मैच के दौरान कैमरा एक शख्स पर बार-बार जा रहा था वो थे डिएगो माराडोना जो अपनी भावनाओं को रोक नहीं पा रहे थे. कभी रोते कभी सिर पकड़ कर बैठे माराडोना की तस्वीर जेहन से हटती नहीं है और जब गोल हुआ तो माराडोना ने भगवान का सजदा किया और राहत की सांस ली. मगर खेल के अंत में नाइजीरिया की एक महिला फैन के साथ उनके डांस करने की तस्वीर फीफा वर्ल्ड कप की भावनाओं को दर्शाती है जो भी होगा फुटबॉल के मैदान पर ही होगा..बाहर हम सब एक हैं.

टिप्पणियां

मनोरंजन भारती NDTV इंडिया में 'सीनियर एक्ज़ीक्यूटिव एडिटर - पॉलिटिकल न्यूज़' हैं...

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रतिNDTV उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार NDTV के नहीं हैं, तथा NDTV उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement