NDTV Khabar

#MeToo: मेरा अकबर महान! कारनामा ऐसा कि कायनात शरमा जाए

क्या प्रधानमंत्री ने अकबर (M J Akbar) को मंत्री बनाते समय अपना होमवर्क नहीं किया था? यह कैसे हो सकता है? उन्हें बताना चाहिए कि क्या वाक़ई अपने राजनीतिक जीवन में वे अकबर के अंतरंग क़िस्सों से अनजान थे?

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
#MeToo: मेरा अकबर महान! कारनामा ऐसा कि कायनात शरमा जाए
सवाल अकबर (M J Akbar) के इस्तीफ़े का नहीं है. इस्तीफ़ा लेकर कोई महान नहीं बन जाएगा. वो तो होगा ही. मगर जवाब देना पडेगा कि इस अकबर में क्या ख़ूबी थी कि राज्यसभा का सदस्य बनाया, बीजेपी का सदस्य बनाया और मंत्री बनाया. इसके दो-दो दलों के अंदरखाने तक पहुंच होती है. सत्ता तंत्र का बादशाह बन जाता है. आराम से कांग्रेस का सांसद, आराम से भाजपा का सांसद.

रवीश कुमार का ब्लॉग: एमजे अकबर पर सरकार की चुप्पी पर सवाल

क्या प्रधानमंत्री ने अकबर को मंत्री बनाते समय अपना होमवर्क नहीं किया था? यह कैसे हो सकता है? उन्हें बताना चाहिए कि क्या वाक़ई अपने राजनीतिक जीवन में वे अकबर के अंतरंग क़िस्सों से अनजान थे? दुनिया को 'बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ' का संदेश दे रहे थे और ख़ुद 'अकबर बचाओ अकबर बढ़ाओ' में लगे थे? अकबर की राज्य सभी की सदस्यता भी जानी चाहिए. ये बीजेपी को तय करना है कि उसकी पार्टी में अकबर ‘महान’ होगा या नहीं. 

रवीश कुमार का ब्लॉग: अकबर की ख़बर रोको, आयकर छापे की लाओ, कुछ करो, जल्दी भटकाओ...

नौ महिला पत्रकारों ने आरोप लगाए हैं. चार के आरोप तो इतने गंभीर क़िस्म के हैं कि उन्हें पढ़ते ही अकबर को सरकार और पार्टी से तुरंत निकाल देना चाहिए. आप उनमें से किसी एक का पूरा ब्यौरा पढ़ जाइये, आपको नींद नहीं आएगी.

#MeToo: यौन उत्पीड़न के आरोपों में घिरे एमजे अकबर पर बढ़ा इस्तीफे का दबाव, NDTV से सरकारी सूत्रों ने कही यह बात

टिप्पणियां
क्या यह भी संयोग है कि फ़ेसबुक पर अकबर पर मेरी पोस्ट धीमी कर दी गई है? हिन्दी अख़बारों के कई ज़िला संस्करणों से अकबर की ख़बर ग़ायब है? जिन हिन्दी अख़बारों में अकबर के कारनामे छपे हैं उनमें किसी महिला पत्रकार की आपबीती विस्तार से नहीं है. एक अकबर के लिए इतना सबकुछ. अकबर के इस्तीफ़े की ख़बर आती होगी लेकिन सोशल मीडिया और मीडिया में ख़बरें रोक कर और साधारण बनाने के पीछे कौन है? क्या आप ऐसा भारत चाहते हैं जहाँ ख़बरें हर स्तर पर रोक दी जाएं? ये बुज़दिल इंडिया किसके सपनों के लिए बन रहा है? आप कभी ये सवाल पूछेंगे ही नहीं ? क्या आपने सब कुछ सत्यानाश कर देने की क़सम खा ली है?

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति NDTV उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार NDTV के नहीं हैं, तथा NDTV उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.

अगर आप एनडीटीवी से जुड़ी कोई भी सूचना साझा करना चाहते हैं तो कृपया इस पते पर ई-मेल करें-worksecure@ndtv.com




Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement