NDTV Khabar

कंदील बलोच जानती थी उसकी हत्‍या होगी...

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
कंदील बलोच जानती थी उसकी हत्‍या होगी...

कंदील बलोच की फाइल तस्वीर

तस्‍लीमा नसरीन ने लिखा है-
तुम लड़की हो, यह अच्छी तरह याद रखना।
तुम जब घर की चौखट लांघोगी
लोग तुम्हें टेढ़ी नज़रों से देखेंगे।
तुम जब गली से होकर चलती रहोगी
लोग तुम्हारा पीछा करेंगे, सीटी बजाएंगे।
तुम जब गली पार कर मुख्य सड़क पर पहुंचोगी
लोग तुम्हें बदचलन कहकर गालियां देंगे।
 तुम हो जाओगी बेमानी, अगर पीछे लौटोगी।
वरना जैसे जा रही हो, जाओ।

 
ऑनर किलिंग या किलिंग ऑनर
'ऑनर किलिंग' यह शब्‍द यकीनन आपने इससे पहले भी पढ़ा होगा। इस शब्‍द का अर्थ माना जाता है सम्‍मान या शान के लिए की गई हत्‍या। पर अगर आप इस शब्‍द का असली अर्थ निकालना चाहते हैं तो इसका 'मिरर रिव्‍यू' करें... कहने का मतलब है कि शब्‍दों को पलट दें और इसे पढ़ें- किलिंग ऑनर...

और नहीं तो क्‍या। यह भला कैसा ऑनर है, जिसके लिए किसी अपने की हत्‍या कर देना और फिर अपने इस घिनौने कृत्‍य को छिपाने के जिए जाने क्‍या-क्‍या और कैसे-कैसे अनैतिक काम करना। भला इसमें कैसा ऑनर... हत्‍या करने से ऑनर बचता नहीं, खत्‍म हो जाता है। तो इसे ऑनर किलिंग नहीं, किलिंग ऑनर कहना ही ठीक होगा...
 
गौर करने वाली एक और बात है। ये ऑनर केवल पुरुषों का ही है, जो 'किल' होता है। तभी शायद इसे कोई और नाम न देकर ऑनर कहा गया है। ये ऐसा सम्‍मान है जो खुद पुरुष के अंदर से आवाज बनकर निकलता है- 'ओ नर', खत्‍म कर दे हर उस इंसान को जो तेरे अहं को ठेस पहुंचाए, जो तेरे निर्देशों का पालन न करे या कुछ भी ऐसा करे जो तेरे अहम, पुरुष होने के गुरूर और उसकी झूठी शान को ठेंगा दिखाए।
 
यकीन मानिए, केवल पुरुषों को ही हक है इस ऑनर किलिंग का। आखिर सम्‍मान और ऑनर औरत के पास हैं ही कहां। उनके पास है तो सिर्फ एक चीज- शर्म यानी उसका एकमात्र गहना...
 
बलोच जानती थीं...
अब आते हैं असली मुद्दे पर... शनिवार को एक खबर आई कि पाकिस्तानी मॉडल कंदील बलोच की हत्या हो गई है। बताया जा रहा है कि वह ईद के मौके पर अपने घर गई हुई थीं। हत्‍या का आरोप बलोच के भाई पर है, जोकि इस समय फरार है। बलोच की हत्‍या को ऑनर किलिंग माना जा रहा है। बलोच पिछले कुछ समय से विवादों के चलते चर्चा का विषय बनी रही थीं। हो सकता है कि ये विवाद उनके खुद के बनाए हुए हों, चर्चा में रहने और शोहरत पाने के इरादे से... पर क्‍या बलोच जानती थी इसका अंजाम कुछ ऐसा होगा। अगर आप मुझसे यही सवाल करेंगे तो मेरा जवाब हां होगा... इस हां के पीछे एक ठोस वजह है...
 
मैंने देखा है, जिन परिवार के नरों में इतना ऑनर होता है, वहां का माहौल शुरुआत से ही अलग होता है। उस घर की हर औरत को यह बात अच्‍छी तरह पता होती है कि उसकी हदें या कहें सरहदें क्‍या और कहां तक हैं... अगर वह उन्‍हें पार करेगी तो उसका क्‍या हश्र होगा।
 
इसी वजह से मैं यकीन से कह सकती हूं कि बलोच जानती थी 'उसकी हत्‍या होगी...' क्‍योंकि उसने जो किया वो कई नरों के अहं को ठेस पहुंचाएगा। भले ही वही पुरुष समाज रात में छिपकर उसके गानों को देखता हो, मन ही मन उस पर लट्टू होता रहे, लेकिन सम्‍मान दबी छिपी चीज तो नहीं, वह तो सरेआम सीना ठोक कर दिखाई जाने वाली चीज है। भला उससे कैसे कोई खिलवाड़ कर सकता है।
 
भले ही लोग बलोच के वीडियो को या उनके जीवन को इस तरह से देखें कि वह चर्चा में रहने के लिए कुछ भी कर सकती थीं। पर मैं कहूंगी कि एक ऐसे परिवार, समाज और वातावरण में जहां महिलाओं को ज्‍यादा अधिकार प्राप्‍त न हों, घर से निकल कर वो काम करना जो उसका मन कहता है, जो उसे सही लगते हैं और जिसे करके वह खुद को साबित करना चाहती हैं, काबिले तारीफ हैं...  यही वजह है कि मैंने सबसे ऊपर तस्‍लीमा की इस कविता चरित्र का जिक्र किया।
 
यकीन मानिए 'किलिंग ऑनर' के ऐसे मामले आने वाले दिनों में और बढ़ेंगे! क्‍योंकि अब 'आधी दुनिया' इस झूठे सम्‍मान के लिए खुद को पल-पल मरते देखने से ज्‍यादा सही लड़कर इस झूठे सम्‍मान से सच और अपने अधिकारों की खातिर बलि चढ़ना पसंद कर रही है। महिलाओं ने मन बना लिया है और चुन ली है अपनी राह... तो 'ओ-नर' अब जरूरत है, तुझे इस झूठे गुरूर और 'ऑनर' को तोड़ कर सच और इंसानियत को समझने की... देखते हैं ये कर पाने में तुम कितना समय लेते हो...

अनिता शर्मा एनडीटीवी खबर में चीफ सब एडिटर हैं।

टिप्पणियां
डिस्क्लेमर (अस्वीकरण): इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं। इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति एनडीटीवी उत्तरदायी नहीं है। इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं। इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार एनडीटीवी के नहीं हैं, तथा एनडीटीवी उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है


इस लेख से जुड़े सर्वाधिकार NDTV के पास हैं। इस लेख के किसी भी हिस्से को NDTV की लिखित पूर्वानुमति के बिना प्रकाशित नहीं किया जा सकता। इस लेख या उसके किसी हिस्से को अनधिकृत तरीके से उद्धृत किए जाने पर कड़ी कानूनी कार्रवाई की जाएगी।


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement