NDTV Khabar

ये नफरत आपको दंगाई बना रही है, हमारी मोहब्बत आपको इंसान बनाएगी

मैं केरल नहीं गया. जाता तो गलत नहीं होता. उसके बाद भी किसी मदद करने वाले के चेहरे पर मेरा चेहरा लगाकर इस तरह से पेश किया जा रहा है ताकि कम दिमाग के लोग मान बैठे कि केरल जाना या बाढ़ पीड़ितों की मदद करना गलत है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
ये नफरत आपको दंगाई बना रही है, हमारी मोहब्बत आपको इंसान बनाएगी
हम तुम्हारी हर झूठ पर भारी पड़ते हैं, भांडा फोड़ देते हैं और इस तरह आप धीरे-धीरे बदलते चले जाएंगे. नफरतों से सामान्य होना कितना सहज हो चुका है. मैं केरल नहीं गया. जाता तो गलत नहीं होता. उसके बाद भी किसी मदद करने वाले के चेहरे पर मेरा चेहरा लगाकर इस तरह से पेश किया जा रहा है ताकि कम दिमाग के लोग मान बैठे कि केरल जाना या बाढ़ पीड़ितों की मदद करना गलत है. कम दिमाग वालों में ऐसी मूर्खता होगी ही इसी भरोसे धारणा फैक्ट्री से ऐसी सामग्री बनाई जाती है. सोचिए जिसकी जगह मेरा चेहरा लगा है वह कितना अच्छा होगा. अपने कंधे पर एक बच्चे को बिठाकर ले जा रहा है. यह उस बंदे का अपमान है. हम समाज में ऐसे लोगों को तैयार कर रहे हैं जो इस तरह के झांसे में आ रहे हैं.

टिप्पणियां
आपकी सोच की बुनियाद बदली जा रही है. आप रोबोट की तरह इनकी फीड की गई सामग्री के अनुसार व्यवहार करने लगेंगे. रोबोट बनाने वाले कब आपके दिमाग से भारत का एक राज्य, भारत का एक समाज गायब कर देंगे, आपको पता भी नहीं चलेगा. आप बस बीप-बीप करते रह जाएंगे. एक दिन ये आपको भी कम कर देंगे. इनके पास तर्क नहीं हैं. तथ्य भी नहीं हैं. इसलिए झूठ इनका मुख्य भोजन है. जब विश्व गुरु के सपने बेचने वालों का गुरु ही झूठ बोलता है तो उसके लिए चेलों की फौज दस गुना ज़्यादा झूठ बोलेगी ही.
 
29uk95fo

कल यानी रविवार को 'एनडीटीवी' चैनल पर दोपहर तीन बजे से रात के नौ बजे तक केरल की मदद के लिए विशेष अभियान चलेगा. मैं नहीं हूं वरना जमकर केरल के लिए मदद मांगता. जिन लोगों ने ये हरकत की है, उनकी सोच को हराइये. 10 रुपया ही सही मगर दीजिए. ये नफरत आपको दंगाई बना रही है. हमारी मोहब्बत आपको इंसान बनाएगी. हमारे साथ आइये. कमेंट बॉक्स में ये क्या लिखते हैं, इसकी चिन्ता न करें. आप किसी को डराने का अधिकार मत दीजिए. बहुत हो गया. बोलना सीखिए. अब बस. क्या यही भारत बनाना चाहते हैं आप ? पढ़िए कमेंट बॉक्स के कमेंट. सोचिए एक बार. गुंडों लंपटों की भाषा बोलने वालों को आप कब से गले लगाने लगे. 

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति NDTV उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार NDTV के नहीं हैं, तथा NDTV उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement