NDTV Khabar

विदेश मंत्री के लिए सोशल मीडिया ज़रूरी

पूर्व विदेश सचिव एस जयशंकर के विदेश मंत्री बनने के बाद क़यास ये लगे कि क्या वो स्वराज के शुरू किए आम लोगों की फ़ौरी मदद का ये ज़रिया, ये तरीक़ा बरक़रार रखेंगे.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
विदेश मंत्री के लिए सोशल मीडिया ज़रूरी

विदेश मंत्री एस जयशंकर (फाइल फोटो)

विदेश सचिव एस जयशंकर ने पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज की शुरू की हुई परंपरा को बरक़रार रखा है. सुषमा स्वराज विदेशों में मुश्किलों में फंसे भारतीयों की मदद ट्विटर के ज़रिए करती रहीं और इस वजह से काफी लोकप्रिय भी हुईं. पूर्व विदेश सचिव एस जयशंकर के विदेश मंत्री बनने के बाद क़यास ये लगे कि क्या वो स्वराज के शुरू किए आम लोगों की फ़ौरी मदद का ये ज़रिया, ये तरीक़ा बरक़रार रखेंगे. लेकिन जयशंकर ने 48 घंटे के अंदर ये साफ कर दिया कि लोगों के लिए विदेश मंत्री से ट्विटर के ज़रिए मदद मांगने का रास्ता खुला हुआ है. असल में इस एक कदम के कई मायने हैं. इलीट और आम लोगों की पहुंच से बहुत दूर माना जाने वाल विदेश मंत्रालय पहली बार लोगों से इस तरह से जुड़ा. भारतीय अर्थव्यवस्था के खुलने के बाद बड़ी संख्या में भारतीय देश के बाहर काम के लिए जाने लगे. और अब तो कई मल्टीनैशनल कंपनियां यहां पर काम करती हैं और भारतीय कर्मचारियों के लिए विदेश जाना आम बात है.

पर्यटन के लिए भी लोग बड़ी संख्या में बाहर जाते हैं. ऐसे में समस्याओं की तादाद भी बढ़ी है. और कई बार देश के बाहर दूतावास या कंसुलेट से मनमाफिक मदद न मिलने से आम लोगों को लगता था कि इस मंत्रालय से न सुनवाई है न जुड़ाव. लेकिन सोशल मीडिया पर जब सुषमा स्वराज ने लोगों की मदद शुरू की तो जुड़ाव भी हुआ और सुदूर भारतीय दूतावासों तक के काम में चुस्ती आई. और काम की प्रशंसा और पहचान भी हुई.


ऐसे में इस तरह के काम को जारी रखना न सिर्फ मंत्रालय और मंत्री को लोगों से जोड़ता है बल्कि मंत्री के लिये एक राजनीतिक समर्थन और विश्वास भी जुटाता है. नए विदेश मंत्री ख़ुद भी करियर डिप्लोमैट रहे हैं. अब उन्हें गुजरात से राज्य सभा में लाने की तैयारी है. ऐसे में सोशल मीडिया के ज़रिए उन्हे लोगों से जुड़ने का, अपनी बात कहने का मौका भी मिलेगा.

टिप्पणियां

(कादम्बिनी शर्मा NDTV इंडिया में एंकर और एडिटर (फॉरेन अफेयर्स) हैं...)

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) :इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति NDTV उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार NDTV के नहीं हैं, तथा NDTV उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement