'लक्ष्मी बम' में ट्रांसजेंडर का किरदार निभाने पर अक्षय कुमार का खुलासा, बोले- मेरे अंदर के एक छुपे अस्तित्व की पहचान...

अक्षय कुमार (Akshay Kumar) ने हाल ही में अपनी अपकमिंग फिल्म 'लक्ष्मी बम (Laxmmi Bomb)' को लेकर खुलासा किया है.

'लक्ष्मी बम' में ट्रांसजेंडर का किरदार निभाने पर अक्षय कुमार का खुलासा, बोले- मेरे अंदर के एक छुपे अस्तित्व की पहचान...

अक्षय कुमार (Akshay Kumar) ने 'लक्ष्मी बम (Laxmmi Bomb)' को लेकर कही ये बात

खास बातें

  • 'लक्ष्मी बम' को लेकर अक्षय कुमार का खुलासा
  • फिल्म जल्द ही OTT प्लेटफॉर्म पर होगी रिलीज
  • फिल्म का नया पोस्टर हुआ रिलीज
नई दिल्ली:

अक्षय कुमार (Akshay Kumar) की आने वाली हॉरर-कॉमेडी 'लक्ष्मी बम (Laxmmi Bomb)' साल की बहुप्रतीक्षित फिल्मों में से एक है. फिल्म का निर्देशन राघव लॉरेंस (Raghav Lawrence) ने किया है इस फिल्म में कियारा आडवाणी भी नजर आएंगी. 'लक्ष्मी बम' शुरुआत में 22 मई को सिनेमाघरों में रिलीज होने वाली थी. हालांकि कोरोनावायरस महामारी के कारण इसने ओटीटी मार्ग अपना लिया. आज शाम डिज्नी+हॉटस्टार के लाइव इवेंट के दौरान आधिकारिक घोषणा करते हुए अक्षय ने फिल्म के दो पोस्टर शेयर किए.

Newsbeep

अपने अनुभव के बारे में बात करते हुए अक्षय (Akshay Kumar) ने कहा, 'लक्ष्मी बम (Laxmmi Bomb) मानसिक रूप से गहन भूमिका थी. इस किरदार में नयापन था, जैसे पहले कभी अनुभव ही नहीं किया हो. मैंने सही शॉट देने के लिए कई रीटेक भी लिए." अक्षय कुमार (Akshay Kumar Instagram) ने आगे कहा कि राघव ने उन्हें फिल्म के साथ कुछ नया अनुभव करने का मौका दिया. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


ट्रांसजेंडर किरदार निभाने के बारे में बोलते हुए उन्होंने कहा, "मैं अपने डायरेक्टर लॉरेंस सर का शुक्रिया अदा करना चाहूंगा. उन्होंने मेरे अंदर के एक छुपे अस्तित्व की पहचान कराई, जिसकी मुझे खबर ही नही थी. यह किरदार उन सभी किरदारों से अलग है, जिन्हें मैंने कभी चित्रित किया है." अक्षय कुमार (Akshay Kumar) ने आगे कहा कि इतने फिल्में करने के बाद भी, मैं वास्तव में हर एक दिन सेट पर होने के लिए , तथा अपनी सीमाओं को आगे बढ़ाने, अपने बारे में अधिक सीखने के लिए उत्साहित था. उन्होंने आगे कहा, इस फिल्म ने मुझे लैंगिक समानता को लेकर अपने विचारों को और शक्तिशाली बनाना सिखाया है. जो भी आप जीवन में चाहते हो बनो, लेकिन अज्ञानी मत बनो. आख़िर विनम्रता, दयालुता ही शांति की कुंजी है."