किसानों के समर्थन में आए बिग बॉस कंटेस्टेंट आसिम रियाज, बोले- किसान नहीं तो खाना नहीं और...

'बिग बॉस 13' (Bigg Boss 13) के मशहूर कंटेस्टेंट रहे आसिम रियाज (Asim Riaz) ने भी किसानों के समर्थन में ट्वीट किया है.

किसानों के समर्थन में आए बिग बॉस कंटेस्टेंट आसिम रियाज, बोले- किसान नहीं तो खाना नहीं और...

आसिम रियाज (Asim Riaz) ने किया किसानों का समर्थन

खास बातें

  • किसानों के समर्थन में आए आसिम रियाज
  • बिग बॉस कंटेस्टेंट आसिम रियाज ने कहा कि किसान नहीं तो खाना नहीं...
  • किसानों को लेकर आसिम रियाज का ट्वीट हुआ वायरल
नई दिल्ली:

केंद्र के कृषि कानूनों को लेकर किसानों का विरोध प्रदर्शन (Farmer Protest) जारी है. बीते दिन कुछ किसानों ने गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) से मुलाकात भी की थी. प्रदर्शन कर रहे किसानों को लगातार बॉलीवुड और पंजाबी कलाकारों का समर्थन मिल रहा है. हाल ही में 'बिग बॉस 13' (Bigg Boss 13) के मशहूर कंटेस्टेंट रहे आसिम रियाज (Asim Riaz) ने भी किसानों के समर्थन में ट्वीट किया है. आसिम रियाज ने अपने ट्विटर हैंडल से किसानों की कुछ तस्वीरें शेयर कीं और लिखा कि किसान नहीं तो खाना नहीं और भविष्य भी नहीं. किसानों को लेकर किया गया आसिम रियाज का यह ट्वीट खूब वायरल हो रहा है साथ ही यूजर इसपर खूब कमेंट भी कर रहे हैं. 


आसिम रियाज (Asim Riaz) ने किसानों का समर्थन करते हुए लिखा, "किसान नहीं तो खाना नहीं और भविष्य नहीं..." आसिम रियाज ने अपने कैप्शन में हैशटैग्स के जरिए बताया कि वह किसानों का समर्थन करते हैं. बता दें कि आसिम रियाज अकसर सोशल मीडिया के जरिए प्रेरक विचार साझा करते हुए भी दिखाई देते हैं. आसिम रियाज ने यूं तो बॉलीवुड फिल्म में भी काम किया है, लेकिन बिग बॉस 13 के जरिए उन्होंने काफी सुर्खियां बटोरी थीं. बिग बॉस 13 के खत्म होने के बाद आसिम रियाज कई गानों में भी नजर आए थे. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


किसानों की बात करें तो गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) से हुई बैठक के बाद कुछ किसान नेताओं ने कहा कि प्रस्तावित बैठक में शामिल होने का सवाल ही नहीं उठता. इन नेताओं ने कहा कि सरकार के लिखित प्रस्ताव पर विचार-विमर्श के बाद ही अगले कदम पर निर्णय लिया जाएगा. वहीं दूसरी तरफ आज 11 बजे टिकरी बॉर्डर पर हरियाणा और पंजाब के किसानों की बैठक होगी. टिकरी बॉर्डर पर ही प्रदर्शन कर रहे एक किसान ने कहा कि ये कानून रद्द करने होंगे, ये किसानों के खिलाफ हैं. वहीं, टिकरी बॉर्डर पर होने वाली किसानों की बैठक में जिन किसान संगठनों ने सरकार से मिलकर बिल के लिए धन्यवाद किया था, उसपर चर्चा की जाएगी.