भगवान दादा के थप्पड़ ने बिगाड़ा इस एक्ट्रेस का करियर! कभी ठीक नहीं हो सकी आंख

दिलचस्प यह है कि भगवान दादा के सिग्नेचर डांस स्टेप को अमिताभ बच्चन तक ने कॉपी किया है. भगवान दादा अपनी ‘अलबेला’ जैसी फिल्म के लिए पहचाने जाते हैं.

भगवान दादा के थप्पड़ ने बिगाड़ा इस एक्ट्रेस का करियर! कभी ठीक नहीं हो सकी आंख

भगवान दादा की 16वीं पुण्यतिथि.

खास बातें

  • ‘क्रिमिनल’ थी भगवान दादा की पहली फिल्म
  • अमिताभ बच्चन कर चुके इनके डांस स्टाइल को कॉपी
  • ललिता पवार को शूटिंग के दौरान जड़ा था थप्पड़
नई दिल्ली:

हिंदी सिनेमा के महान अभिनेता-निर्देशक भगवान दादा को दुनिया से अलविदा कहे 16 साल बीत चुके हैं. भगवान दादा का जन्म 1 अगस्त 1913 को महाराष्ट्र के सिंधुदुर्ग में हुआ. उनका असली नाम भगवान आभाजी पालव था. उनके पिता कपड़ा मिल में काम करते थे. वे भी श्रमिक के तौर पर काम करने लगे लेकिन फिल्म का ख्वाब वे अपनी आंखों में संजोए हुए थे. लेकिन उन्हें कुश्ती का बहुत शौक था जिस वजह से उनके नाम के साथ दादा जुड़ गया और वे भगवान दादा हो गए. उन्होंने सायलेंट एरा में फिल्मों में कदम रखा और ‘क्रिमिनल’ उनकी पहली फिल्म थी. दिलचस्प यह है कि उनके सिग्नेचर डांस स्टेप को अमिताभ बच्चन तक ने कॉपी किया है. भगवान दादा अपनी ‘अलबेला’ जैसी फिल्म के लिए पहचाने जाते हैं.

Box Office Collection: 700 करोड़ के क्लब में शामिल ये 4 भारतीय फिल्में, सलमान-शाहरुख की एक भी फिल्म नहीं
 

 

A post shared by CelebrityBorn (@celebrityborn) on


भगवान दादा से जुड़ा एक दिलचस्प वाकया और भी है. वे 1942 में ललिता पावर के साथ एक फिल्म की शूटिंग कर रहे थे. एक सीन में उन्हें ललिता पवार के थप्पड़ मारना था. लेकिन गलती से भगवान दादा ने इतनी जोर से थप्पड़ मार दिया कि ललिता पवार फेशियल पैरालिसिस का शिकार हो गईं और उलटे हाथ की नस भी फट गई. तीन साल तक इसका इलाज चला, लेकिन उनकी आंख कभी नॉर्मल नहीं हो सकी. 

अमिताभ बच्चन ने 'पद्मावत' देखने के बाद दीपिका पादुकोण को दिया ये इनाम​

Newsbeep

भगवान दादा ने एक्टिंग के अलावा डायरेक्शन में भी हाथ आजमाया और उन्होंने 1956 में ‘भागम भाग’ फिल्म बनाई थी. भगवान दादा का निधन 4 फरवरी, 2002 को हुआ था.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


  ...और भी हैं बॉलीवुड से जुड़ी ढेरों ख़बरें...