कुरुक्षेत्र में पुलिस ने किसानों पर किया लाठीचार्ज तो बॉलीवुड एक्टर बोले- सिर्फ लाठी मारने से क्या होगा यार...

भारतीय किसान संघ ने दावा किया है कि पुलिस ने उन्हें तितर-बितर करने के लिए लाठी-चार्ज भी की. इस बात को लेकर हाल ही में बॉलीवुड के मशहूर एक्टर जीशान अय्यूब (Zeeshan Ayyub) ने भी ट्वीट किया है.

कुरुक्षेत्र में पुलिस ने किसानों पर किया लाठीचार्ज तो बॉलीवुड एक्टर बोले- सिर्फ लाठी मारने से क्या होगा यार...

जीशान अय्यूब (Zeeshan Ayyub) ने किसानों पर हुई लाठीचार्ज को लेकर किया ट्वीट

खास बातें

  • कुरुक्षेत्र में पुलिस ने किसानों पर की लाठीचार्ज
  • बॉलीवुड एक्टर ने कहा कि सिर्फ लाठी मारने से क्या होगा
  • जीशान अय्यूब का ट्वीट हुआ वायरल
नई दिल्ली:

कें‍द्र सरकार के तीन कृषि अध्यादेशों को किसान विरोधी बताते भारतीय किसान संघ और अन्य किसान संगठनों ने उनके विरोध में बृहस्पतिवार को हरियाणा के कुरुक्षेत्र जिले के पिपली में राष्ट्रीय राजमार्ग को अवरुद्ध कर दिया. भारतीय किसान संघ ने दावा किया है कि पुलिस ने उन्हें तितर-बितर करने के लिए लाठी-चार्ज भी की. इस बात को लेकर हाल ही में बॉलीवुड के मशहूर एक्टर जीशान अय्यूब (Zeeshan Ayyub) ने भी ट्वीट किया है, जिसमें उन्होंने लिखा कि सिर्फ लाठी मारने से क्या होगा यार, गोली भी मार दो सारे किसानों को. जीशान अय्यूब ने अपने ट्वीट के जरिए प्रशासन पर तंज कसा है. (यहां देखें ट्वीट

Newsbeep

जीशान अय्यूब (Zeeshan Ayyub) का यह ट्वीट सोशल मीडिया पर खूब सुर्खियां बटोर रहा है, साथ ही लोग इसपर जमकर कमेंट भी कर रहे हैं. अपने ट्वीट में उन्होंने लिखा, "सिर्फ लाठी मारने से क्या होगा यार, गोली मार दो सारे किसानों को, मजदूरों को और आम लोगों को. और अगर वह फिर भी बच जाएं तो लिंच करवा देना. इल्जाम डालने के लिए भगवान तो हैं हीं." जीशान अय्यब के इस ट्वीट ने लोगों का खूब ध्यान खींचा है, साथ ही सोशल मीडिया यूजर ट्वीट पर जमकर कमेंट भी कर रहे हैं. बता दें कि जीशान अय्यूब अपने बेबाक विचारों के लिए खूब जाने जाते हैं. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


वहीं, किसानों की बात करें तो जहां एक तरफ भारतीय किसान संघ ने दावा किया कि पुलिस ने उनपर लाठीचार्ज की है तो वहीं एक पुलिस अधिकारी का कहना है, "सैकड़ों किसान पिपली चौक तक पहुंचे और पुलिसकर्मियों पर पथराव किया." अधिकारी ने कहा कि भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज का सहारा लिया. बाद में, प्रदर्शनकारी यातायात रोकने के लिए राष्ट्रीय राजमार्ग 22 पर धरने पर बैठ गए. "किसान बचाओ, मंडी बचाओ"  रैली के लिये किसानों को पिपली अनाज मंडी में पहुंचने से रोकने के लिए जिला प्रशासन द्वारा की गई कड़ी व्यवस्था के बावजूद कई किसान वहां पहुंचने में कामयाब रहे.