नागरिकता संशोधन बिल लोकसभा में हुआ पेश, तो भड़के ये बॉलीवुड डायरेक्टर, बोले- असल मुद्दों से ध्यान भटका....

गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने लोकसभा में नागरिकता संशोधन विधेयक (Citizenship Amendment Bill) पेश किया तो बॉलीवुड डायरेक्टर ने ट्वीट कर कही यह बात

नागरिकता संशोधन बिल लोकसभा में हुआ पेश, तो भड़के ये बॉलीवुड डायरेक्टर, बोले- असल मुद्दों से ध्यान भटका....

नागरिकता संशोधन बिल (Citizenship Amendment Bill) पर आया ओनिर का रिएक्शन

खास बातें

  • नागरिकता संशोधन बिल पर बॉलीवुड डायरेक्टर ने दिया रिएक्शन
  • अमित शाह ने लोकसभा में पेश किया नागरिकता संंशोधन बिल
  • सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है ट्वीट
नई दिल्ली:

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने लोकसभा में नागरिकता संशोधन विधेयक (Citizenship Amendment Bill) पेश किया जिसके तहत पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान में धार्मिक उत्पीड़न के शिकार गैर मुस्लिम शरणार्थियों को भारतीय नागरिकता देने का प्रावधान है. सरकार के इस फैसले पर बॉलीवुड डायरेक्टर ओनिर ने एक ट्वीट किया है, जो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है. ओनिर (Onir) ने अपने ट्वीट में सरकार के इस फैसले पर निशाना साधा है, उन्होंने यह भी कहा है कि ये सरकार का असल मुद्दों की ओर से ध्यान भटाकाने का तरीका है.

साइना नेहवाल ने हैदराबाद एनाकउंटर का किया सपोर्ट, तो अनुपम खेर का यूं आया रिएक्शन

jaqvo21g

बता दें, बॉलीवुड डायरेक्टर ओनिर (Onir) लगभग हर समसामियक मुद्दों पर अपने राय जनता के सामने पेश करते हैं. इस बार भी उन्होंने सरकार के फैसले पर अपनी राय रखी है. ओनिर ने अपने ट्विटर हैंडल से लिखा, "मेरा जन्म एक धर्मनिरपेक्ष लोकतांत्रिक राष्ट्र के नागरिक के रूप में हुआ था और मैं फिर से देश को सांप्रदायिक आधार पर विभाजित करने के इस निरंतर प्रयास को स्वीकार नहीं करूंगा. यह असल मुद्दों जैसे अर्थव्यवस्था की वास्तविक समस्या, महिलाओं की सुरक्षा, कुपोषण, पर्यावरण, शिक्षा आदि से ध्यान हटाने की एक चतुर चाल है."

दिल्ली फायर ट्रेजडी पर बॉलीवुड डायरेक्टर ने शेयर किए मृतक के आखिरी शब्द, '...बड़े होने तक बच्चों को देख लेना...'

Newsbeep


ओनिर (Onir) के इस ट्वीट पर लोग खूब कमेंट कर रहे हैं और अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं. बता दें, नागरिकता (संशोधन) विधेयक, 2019 के मुताबिक पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान में धार्मिक उत्पीड़न के कारण 31 दिसम्बर 2014 तक भारत आए हिंदू, सिख, बौद्ध, जैन, पारसी और ईसाई समुदाय के लोगों को अवैध शरणार्थी नहीं माना जाएगा बल्कि उन्हें भारतीय नागरिकता (Indian Citizenship) दी जाएगी. यह विधेयक 2014 और 2019 के लोकसभा चुनावों में भाजपा का चुनावी वादा था.  

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


...और भी हैं बॉलीवुड से जुड़ी ढेरों ख़बरें...