Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

मन्नत पूरी करने के लिए 'अंगारे' पर फेंके जाते हैं बच्चे, तस्वीर साझा कर भड़कीं बॉलीवुड डायरेक्टर-जानें मामला

डायरेक्टर शगुफ्ता रफीक (Shagufta Rafique) ने हाल ही में अपने ट्विटर हैंडल के जरिए एक तस्वीर साझा की है, जिसमें एक नन्हे बच्चे को गर्म कोयले पर लिटाया गया है और उस बच्चे के आस-पास लोग खड़े दिखाई दे रहे हैं.

मन्नत पूरी करने के लिए 'अंगारे' पर फेंके जाते हैं बच्चे, तस्वीर साझा कर भड़कीं बॉलीवुड डायरेक्टर-जानें मामला

दहकते कोयले पर फेंके जाते हैं बच्चे

खास बातें

  • कर्नाटक में रिवााज के तहत दहकते कोयले पर फेंके जाते हैं बच्चे
  • बॉलीवुड डायरेक्टर ने शेयर की तस्वीर
  • डायरेक्टर शगुफ्ता रफीक का ट्वीट सोशल मीडिया पर हुआ वायरल
नई दिल्ली:

बॉलीवुड की मशहूर फिल्म राइटर और डायरेक्टर शगुफ्ता रफीक (Shagufta Rafique) ने हाल ही में अपने ट्विटर हैंडल के जरिए एक तस्वीर साझा की है, जिसमें एक नन्हे बच्चे को गर्म कोयले पर लिटाया गया है और उस बच्चे के आस-पास लोग खड़े दिखाई दे रहे हैं. बॉलीवुड डायरेक्टर के ट्वीट के मुताबिक यह एक प्रकार का रिवाज है और लोग इसे काफी मानते हैं. इस तस्वीर को साझा कर  शगुफ्ता रफीक ने लोगों की मानसिकता और अंधविश्वास पर अपना गुस्सा जताया है. शगुफ्ता रफीक की यह फोटो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रही है, साथ ही लोग इस पर जमकर प्रतिक्रिया भी दे रहे हैं. 

इस कंटेस्टेंट ने की जब अमिताभ बच्चन से अपने पति की शिकायत, तो यूं मिला करारा जवाब

इस फोटो को साझा करते हुए शगुफ्ता रफीक (Shagufta Rafique) ने लिखा, "कुछ गावों में नन्हे बच्चों को गर्म कोयलों पर फेंकने का जो रिवाज है यह किसने बनाया होगा. और इन बच्चों का भविष्य इस जुल्म के बाद किस तरह गुजह रहा है. कुछ मालूम है?" मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक यह तस्वीर कर्नाटक के धारवाड़ जिले की है, जहां मुहर्रम पर एक रिवाज के तहत बच्चों को केले के पत्ते पर लपेट कर उन्हें अंगारों पर लिटाया जाता है. रिपोर्ट्स के मुताबिक तस्वीर में नजर आ रहे बच्चे के माता पिता ने दो साल पहले बेटा होने की मन्नत मांगी थी. मन्नत पूरी होने पर रिवाज के तहत माता पिता ने ऐसा किया. इस रिवाज के तहत बच्चे को कुछ सेकेंड के लिए अंगारों पर रखा जाता है. 

गांधी जयंती पर इस बॉलीवुड एक्टर ने किया ट्वीट, कहा- जय श्री राम की हिंसा...

बता दें कि कर्नाटक कैबिनेट ने साल 2017 में अंधविश्वास विरोधी बिल को मंजूरी दी थी, जिसके बाद ही यह मामला सामने आया है. वहीं बात करें बॉलीवुड डायरेक्टर शगुफ्ता रफीक (Shagufta Rafique) की तो वह सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहती हैं. आए दिन समसामयिक मुद्दों पर अपनी राय पेश करने वाली शगुफ्ता रफीक के ट्वीट खूब वायरल भी होते हैं. अपने करियर के दौरान उन्होंने 'आशिकी 2', 'राज 3', 'मर्डर 2', 'जन्नत 2', 'जिस्म 2', 'आवारापन', 'हमारी अधूरी कहानी', 'वो लम्हे' और जश्न जैसी फिल्में लिखीं हैं. 

..और भी हैं बॉलीवुड से जुड़ी ढेरों ख़बरें...