'कहीं दूर जब दिन ढल जाए...' गाने के लेखक का हुआ निधन, लता मंगेशकर ने दी श्रद्धांजलि

बॉलीवुड के गीतकार योगेश (Yogesh) का निधन हो गए, लता मंगेशकर (Lata Mangeshkar) ने ट्वीट करके जानकारी दी है.

'कहीं दूर जब दिन ढल जाए...' गाने के लेखक का हुआ निधन, लता मंगेशकर ने दी श्रद्धांजलि

गीतकार योगेश (Yogesh) का हुआ निधन

खास बातें

  • योगेश का हुआ निधन
  • लता मंगेशकर का ट्वीट कर दी श्रद्धांजलि
  • सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है ट्वीट
नई दिल्ली:

बॉलीवुड के दिग्गज गीतकार योगेश (Yogesh) का शुक्रवार को निधन हो गया है. 77 साल की उम्र में उन्होंने दुनिया को अलविदा कह दिया. उन्होंने बॉलीवुड में अपना बड़ा योगदान दिया है. दिग्गज सिंगर लता मंगेशकर (Lata Mangeshkar) ने गीतकार को ट्वीट कर श्रद्धांजलि अर्पित की. लता मंगेशकर (Lata Mangeshkar Twitter) ने ट्वीट करते हुए सोशल मीडिया पर लिखा, "मुझे अभी पता चला कि दिल को छूनेवाले गीत लिखने वाले कवि योगेश जी का आज स्वर्गवास हो गया है. ये सुनकर मुझे बहुत दुख हुआ. योगेश जी के लिखे गीत मैंने गाए."

लता मंगेशकर (Lata Mangeshkar) ने आगे कहा, "योगेश जी बहुत शांत और मधुर स्वभाव के इंसान थे. मैं उनको विनम्र श्रद्धांजलि अर्पण करती हूं." लता मंगेशकर का ट्वीट खूब वायरल हो रहा है और लोग इस पर अपनी प्रतिक्रिया दे हे हैं. गीतकार योगेश (Yogesh) ने 'कहीं दूर जब दिन ढल जाए' और 'जिंदगी कैसी है पहेली' जैसे हिट सॉन्ग के लिरिक्स लिखे हैं. 

बता दें, ऋषिकेश मुखर्जी और बासु चटर्जी जैसे बड़े डायरेक्टर्स के साथ भी योगेश ने काम किया है. योगेश को अपना पहला ब्रेक गीतकार के रूप में फिल्म Sakhi Robin (1962) से मिला, जिसमें उन्होंने छह गीत लिखे. उन्होंने छोटी सी बात (1976), बातों बातों में (1979), मंज़िल (1979), रजनीगंधा (1974), प्रियतमा (1977) मंजिलें और भी हैं (1974) और कई और फिल्मों के लिए सॉन्ग लिखे.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com