NDTV Khabar

क्‍या...'तनु वेड्स मनु' के पप्‍पी भैया फिर से नहीं करना चाहते यह रोल ?

दीपक ने कहा, 'मैं पप्पी जी का किरदार निभाकर ऊब गया हूं. मैं उस किरदार से थोड़ा खीज गया हूं क्योंकि उस व्यक्ति के जीवन की न कोई शुरूआत है और न ही कोई अंत, जैसे कि वह फिल्म में एक नाकामयाब व्यक्ति क्यों है?'

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
क्‍या...'तनु वेड्स मनु' के पप्‍पी भैया फिर से नहीं करना चाहते यह रोल ?

दीपिका डोबरियाल हाल ही में 'लखनऊ सेंट्रल' नजर आए हैं.

नई दिल्‍ली: फिल्म ‘तनु वेड्स मनु’ में निभाए पप्पी जी के अपने किरदार से बॉलीवुड में पहचान बनाने वाले अभिनेता दीपक डोबरियाल का कहना है कि वह अब इस तरह के किरदार से ऊब गए हैं और भविष्य में दोबारा वह यह किरदार नहीं निभाना चाहते. दीपक ने वर्ष 2011 में आई आनंद एल राय की फिल्म ‘तनु वेड्स मनु’ और 2015 में ‘तनु वेड्स मनु रिटर्न्स’ में निभाए अपने किरदार पप्पी जी से काफी लोकप्रियता हासिल की. दीपिक, शुक्रवार को रिलीज हुई फिल्‍म 'लखनऊ सेंट्रल' में अहम किरदार निभाते नजर आए हैं. ऐसे में दीपक ने न्‍यूज एजेंसी पीटीआई भाषा से बात करते हुए कहा, '‘तनु वेड्स मनु’ और उसके सीक्वल में एक मजाकिया किरदार निभाने के बाद, मुझे उससे मिलते-जुलते किरदारों के प्रस्ताव ही मिल रहा था. मैं मानता हूं कि मुझे उससे काफी लोकप्रियता और भूमिकाएं मिलीं लेकिन मैं दोबारा इस तरह का किरदार नहीं निभाना चाहता.

यह भी पढ़ें: 'लखनऊ सेंट्रल' का पहला गाना रिलीज, कैदियों के साथ थिरकते दिखे फरहान अख्तर
 

यह भी पढ़ें: Movie Review: बिना मसाले वाली ठंडी फिल्‍म है 'लखनऊ सेंट्रल'

दीपक हाल ही में इरफान खान अभिनीत ‘हिंदी मीडियम’ में भी अहम किरदार निभाते नजर आए थे.  उन्होंने कहा कि इस फिल्म से उन्हें अपनी बंधी हुई छवि से बाहर निकलने का मौका मिला. उन्होंने कहा, 'मैं उस कॉमिक अवतार से बाहर निकलना चाह रहा था क्योंकि वह अब बार-बार दोहराया जा रहा था. ‘हिंदी मीडियम’ वह फिल्म थी जिसने मुझे एक हास्य अभिनेता की छवि से बाहर निकाला. अब अलग तरह के हास्य किरदार निभाने का मौका मिलने पर ही मैं उन्हें करूंगा.' अभिनेता ने कहा कि अगर कभी ‘तनु वेड्स मनु’ का तीसरा संस्करण बनाया गया तो वह फिर से पप्पी जी का किरदार निभाने के लिए उत्साहित नहीं हैं.
 
deepak dobriyal youtube

दीपक ने कहा, 'मैं पप्पी जी का किरदार निभाकर ऊब गया हूं. मैं उस किरदार से थोड़ा खीज गया हूं क्योंकि उस व्यक्ति के जीवन की न कोई शुरूआत है और न ही कोई अंत, जैसे कि वह फिल्म में एक नाकामयाब व्यक्ति क्यों है, वह कहां से आया है, उसके माता-पिता कौन हैं.' उन्होंने कहा, 'मैं नहीं करूंगा (तीसरा भाग). मैं ऊब गया हूं. मैंने वर्ष 2015 में ही पप्पी जी का वह किरदार छोड़ दिया था. मैं कॉमेडी करूंगा लेकिन अलग तरह की.'

यह भी पढ़ें: Movie Review: फरहान अख्तर की औसत फिल्म है ‘लखनऊ सेंट्रल’

बॉलीवुड के अपने एक दशक लंबे करियर में दीपक सलमान खान, कंगना रनौत, सैफ अली खान और फरहान अख्तर जैसे कई बड़े सितारों के साथ काम कर चुके हैं और उनका कहना है कि उन्हें काम के लिए कभी किसी फिल्मकार का दरवाजा नहीं खटखटाना पड़ा. 'लखनऊ सेंट्रल' की बात करें तो इस फिल्‍म में वह एक बंगाली शख्स विक्टर चट्टोपाध्याय का किरदार निभा रहे हैं, जो युवावस्था में की अपनी किसी गलती के कारण जेल पहुंच जाता है.

टिप्पणियां
(इनपुट भाषा से भी)


 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement