NDTV Khabar

दिलीप कुमार की ख़ातिर इमोशनल हुईं सायरा बानो, फ़ैन्स से बोलीं- मेरे कोहिनूर के लिए दुआ करें...

बॉलीवुड के ट्रेजेडी किंग दिलीप कुमार के ऑफिशियल ट्विटर हैंडल से उनकी पत्नी सायरा बानो ने खुद ट्वीट करते हुए फैन्स से उनके बेहतर स्वास्थ्य के लिए दुआएं मांगी हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
दिलीप कुमार की ख़ातिर इमोशनल हुईं सायरा बानो, फ़ैन्स से बोलीं- मेरे कोहिनूर के लिए दुआ करें...

दिलीप कुमार और सायरा बानो (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. सायरा बानो ने किया ट्वीट
  2. इमोशनल होकर लिखा मैसेज
  3. दिलीप कुमार के लिए मांगी दुआ
नई दिल्ली: बॉलीवुड के ट्रेजेडी किंग कहलाने वाले दिलीप कुमार की तबियत को लेकर आए दिन कुछ न कुछ खबरें आती रहती हैं. इस बार दिलीप कुमार के ऑफिशियल ट्विटर हैंडल से उनकी पत्नी सायरा बानो ने खुद ट्वीट करते हुए फैन्स से उनके बेहतर स्वास्थ्य के लिए दुआएं मांगी हैं. उन्होंने काफी इमोशनल होकर दिलीप कुमार के लिए इमोशनल मैसेज लिखा है, सायरा बानो ने ट्वीट किया, 'अल्लाह उनपर आप सभी की दुआएं बनाए रखे. कृपया उनके स्वास्थ और खुशी के लिए मेरे कोहिनूर के लिए दुआ करें. अपनी प्रार्थना में हमे रखें जैसे हम आप सभी को रखते हैं.'

95 वर्षीय दिलीप कुमार की खैरियत लेने पहुंचे उनके 'बेटे', सामने आई तस्वीर
बता दें दिलीप कुमार का जन्म पेशावर (अब पाकिस्तान में) 11 दिसंबर, 1922 को हुआ था. उनके 12 भाई-बहन थे और वे तीसरे नंबर के थे. उनके पिता 1930 के दशक में मुंबई आ गए थे, वे यहां अपना फलों का कारोबार स्थापित करना चाहते थे और उन्होंने ऐसा किया भी. वहीं युसूफ खालसा कॉलेस से आर्ट्स में ग्रेजुएशन कर रहे थे. पढ़ाई के बाद युसूफ नौकरी करने निकले तो उन्होंने आर्मी कैंटीन में असिस्टेंट मैनेजर की नौकरी की. दिलचस्प यह कि उनके परिवार में फिल्म या संगीत से किसी का दूर-दूर तक कोई नाता नहीं रहा था.

पाकिस्तान में मनाया गया बॉलीवुड मशहूर एक्टर दिलीप कुमार का बर्थडे, लोगों ने स्वस्थ्य रहने की मांगी दुआएं

टिप्पणियां
कुछ समय की तैयारी के बाद समय आ गया था कि दिलीप कुमार को लॉन्च किया जाए. देविका रानी ने 1944 में 'ज्वार भाटा' फिल्म से उन्हें लॉन्च किया. फिल्म की हीरोइन भी नई थी. इसमें दिलीप कुमार ने एक नौटंकी कलाकार का रोल निभाया था. लेकिन फिल्म चल नहीं सकी और सबको लगा कि इस हीरो में दम नहीं है. लेकिन तीन साल की मेहनत के बाद वह समय भी आया जब पहली फिल्म ने क्लिक किया. 1947 की फिल्म 'जुगनू' ने उनकी किस्मत बदल दी और फिर उसके बाद उन्हें कभी पीछे मुड़कर देखने का मौका नहीं मिला.

 ...और भी हैं बॉलीवुड से जुड़ी ढेरों ख़बरें...


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement