सोनिया गांधी ने PM को दो साल तक मीडिया विज्ञापनों पर रोक लगाने की दी सलाह तो फराह खान बोलीं- बहुत सही...

कोरोना वायरस (Coronavirus) से जंग लड़ने के लिए देश भर में कई कदम उठाए जा रहे हैं. केंद्र सरकार ने कई फैसले लिए हैं, और अब सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) ने केंद्र सरकार को सलाह दी है. इस पर फराह खान का रिएक्शन आया है.

सोनिया गांधी ने PM को दो साल तक मीडिया विज्ञापनों पर रोक लगाने की दी सलाह तो फराह खान बोलीं- बहुत सही...

सोनिया गांधी के सुझाव पर फराह खान का यूं आया रिएक्शन

खास बातें

  • सोनिया गांधी ने पीएम को दी सलाह
  • मीडिया विज्ञापनों पर रोक लगाने की कही बात
  • फराह खान का यूं आया रिएक्शन
नई दिल्ली:

कोरोना वायरस (Coronavirus) से जंग लड़ने के लिए देश भर में कई कदम उठाए जा रहे हैं. केंद्र सरकार ने कई फैसले लिए हैं, और अब सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) ने केंद्र सरकार को सलाह दी है. सोनिया गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) को सलाह दी है कि वह सरकार और पीएसयू द्वारा मीडिया कंपनियों (टीवी, प्रिंट और ऑनलाइन) को विज्ञापन दिए जाने पर दो साल तक के लिए रोक लगा दें. सोनिया गांधी का यह सुझाव सोशल मीडिया पर खूब पढ़ा जा रहा है, और इस पर बॉलीवुड के मशहूर एक्टर संजय खान की बेटी और जूलरी डिजाइनर फराह खान अली (Farah Khan Ali) का भी ट्वीट आया है जो खूब सुर्खियां बटोर रहा है.

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) के पीएम नरेंद्र मोदी (PM Modi) को दिए गए इस सुझाव पर फराह खान अली (Farah Khan Ali) ने ट्वीट किया है और लिखा है, 'बहुत ही सही आइडिया.' फराह खान अकसर सोशल मीडिया पर बहुत ही बेबाकी के साथ अपनी राय रखती हैं, और इस वजह से उन्हें कई बार ट्रोल भी किया जाता है, लेकिन वह अपनी बात रखने से पीछे नहीं हटती हैं. इस तरह इस बार भी उन्होंने सोनिया गांधी के इस विचार को एकदम सही ठहराया है. 


Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) को  सरकारी विज्ञापन बंद करने, दिल्ली में 20,000 करोड़ रुपये के "सौंदर्यीकरण अभियान" को टालने तथा अधिकारियो-मंत्रियों का विदेश दौरा रद्द करने और पीएम केयर्स फंड की राशि को प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत फंड में स्थानांतरित करने का सुझाव दिया है. यह चिट्ठी ऐसे समय लिखी गई जब हाल ही में प्रधानमंत्री मोदी ने विपक्षी दलों के नेताओं से फोन पर बात करके कोरोना वायरस (Coronavirus) संकट के संबंध में सुझाव मांगे थे.