दिल्ली हिंसा में 27 लोगों की हुई मौत तो फराह खान बोलीं- पोस्टमार्टम होना चाहिए, जिससे...

फराह खान अली (Farah Khan Ali) ने उत्तर-पूर्वी दिल्ली में हुई हिंसा को लेकर ट्वीट किया है, जिसमें उन्होंने मृतक व्यक्तियों का पोस्ट-मार्टम कराने की बात की है.

दिल्ली हिंसा में 27 लोगों की हुई मौत तो फराह खान बोलीं- पोस्टमार्टम होना चाहिए, जिससे...

फराह खान अली (Farah Khan Ali) ने दिल्ली के मौजूदा हालात पर किये ट्वीट

खास बातें

  • दिल्ली के मौजूदा हालात पर फराह खान अली ने किया ट्वीट
  • फराह खान ने मृतक व्यक्तियों का पोस्ट मार्टम करने की कही बात
  • दिल्ली में हिंसा में करीब 27 लोगों की हुई मौत
नई दिल्‍ली:

उत्तर-पूर्वी दिल्ली (North East Delhi) में हुई हिंसा में अब तक 27 लोगों की मौत हो चुकी है, जिसे लेकर बॉलीवुड एक्टर संजय खान (Sanjay Khan) की बेटी फराह खान अली (Farah Khan Ali) ने ट्वीट किया है. फराह खान अली ने अपने ट्वीट के जरिए हिंसा में हुई मौत के पोस्टमार्टम की बात कही है. फराह खान अली का यह ट्वीट सोशल मीडिया पर खूब सुर्खियां बटोर रहा है, साथ ही लोग इसपर जमकर कमेंट भी कर रहे हैं. बता दें कि बीते बुधवार उत्तर-पूर्वी दिल्ली में जहां दिन के समय माहौल थोड़ा शांत रहा तो वहीं देर शाम कई जगहों पर हिंसक झड़पें हुईं. मौजपुर-करावल नगर के साथ-साथ शेरपुर चौक पर भी हिंसा हुई. हिंसा प्रभावित क्षेत्रों में पुलिस की पेट्रोलिंग और फ्लैग मार्च जारी है. 

आयुष्मान खुराना की फिल्म ने छठे दिन भी मचाया धमाल, कमाए इतने करोड़

फराह खान अली  (Farah Khan Ali) ने अपने ट्वीट में दिल्ली के मौजूदा हालात और हिंसा में हुई मौत पर रिएक्शन देते हुए लिखा, "दिल्ली हिंसा में हुई सभी मौत का पोस्टमार्टम किया जाना चाहिए, जिससे पता चले कि यह बुलेट आई कहां से है." इसके अलावा उन्होंने एक और ट्वीट किया, जिसमें उन्होंने लिखा, "यह सुनना काफी दुखद और दिल तोड़ने वाला है कि गलत कारणों के वजह से लोगों की जानें जा रही हैं." बता दें कि अब तक उत्तर-पूर्वी दिल्ली में हुई हिंसा में मरने वालों की संख्या 27 हो गई है. 

पाकिस्तानी यूजर ने ताजमहल की सफाई का उड़ाया मजाक, तो अदनान सामी ने यूं लगाई क्लास

नागरिकता संशोधन कानून (Citizenship Amendment Act) के विरोध और समर्थकों के बीच हुई झड़प ने उत्तर-पूर्वी दिल्ली  (North East Delhi) में अलग ही रूप धारण कर लिया. इस हिंसा में दिल्ली के भजनपुरा, चांदबाग, मौजपुर और गोकुलपुरी जैसे क्षेत्र ज्यादा प्रभावित हुए. हिंसा के बीच ही खूफिया ब्यूरो के अधिकारी अंकित शर्मा का भी शव पाया गया. इस तनाव के कारण सुरक्षा बल किसी को भी सड़क पर निकलने की अनुमति नहीं दे रहे हैं. कुछ गलियों को बंद कर दिया गया है. निवासियों का कहना है कि उन्होंने अपनी सुरक्षा के लिए उन्हें बंद किया है.

देखें वीडियो

Newsbeep

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


...और भी हैं बॉलीवुड से जुड़ी ढेरों ख़बरें...