हनी सिंह ने शेयर की दिल की बात, बोले-आजकल लोगों को बहुत जल्द बुरा लग जाता है

हनी सिंह (Honey Singh) का कहना है कि इंडस्ट्री से दो तीन साल दूर रहने के बावजूद उनके मन में अपनी लोकप्रियता खोने को लेकर कभी डर नहीं आया.

हनी सिंह ने शेयर की दिल की बात, बोले-आजकल लोगों को बहुत जल्द बुरा लग जाता है

हनी सिंह (Honey Singh)

खास बातें

  • हनी सिंह ने शेयर की दिल की बात
  • बोले-आजकल लोगों को बहुत जल्द बुरा लग जाता है
  • अक्षय कुमार को लेकर कही यह बात
नई दिल्ली:

पॉप स्टार, कंपोजर यो यो हनी सिंह (Honey Singh) का कहना है कि इंडस्ट्री से दो तीन साल दूर रहने के बावजूद उनके मन में अपनी लोकप्रियता खोने को लेकर कभी डर नहीं आया. किसी अन्य द्वारा अपनी जगह छिने जाने के डर के सवाल पर हनी सिंह ने कहा, "मैं किसी और के विचार से आगे नहीं बढ़ना चाहता, लेकिन दो-तीन साल तक इंडस्ट्री से दूर रहने पर भी मुझे कभी भी परेशानी नहीं हुई और न ही इसे खोने का डर था. मैं 2017 से लेकर अब तक दूर था, मैंने 60 गाने कंपोज्ड किए."

हनी सिंह (Honey Singh) ने आगे कहा, "और मुझे कभी भी ऐसा महसूस नहीं हुआ कि मैं इससे बाहर हूं, क्योंकि लोग अभी भी मेरे गानों को पसंद कर रहे थे और मेरे काम को पसंद कर रहे थे. मैं अपने दर्शकों के दिलों और डीएनए में हूं, और कोई भी इसे बदल नहीं सकता."

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

एक व्यक्ति से गायक बनने के सफर के बारे में हनी सिंह (Honey Singh) ने कहा, "अपने करियर की शुरुआत में मैंने खुद को बहुत व्यस्त रखा और मुझे पता था कि यह अंत में मेरे स्वास्थ्य को प्रभावित करेगा. मैंने खुद को और अपनी दिनचर्या को पूरी तरह से बदल दिया है. अक्षय (कुमार) सर मेरे लिए बहुत बड़ी प्रेरणा हैं. मैं जल्दी जागता हूं, अपने कामों को पूरा करने के लिए खुद को वक्त देता हूं और खुद को इसमें अब नहीं झोकता हूं." गायक को लगता है कि आजकल लोग जल्द किसी बात का बुरा मान जाते हैं.

हनी सिंह (Honey Singh) ने कहा, "मुझे लगता है कि आजकल लोग बहुत जल्दी नाराज हो जाते हैं. मैं भले ही अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का समर्थन करता हूं, लेकिन मुझे अभी भी लगता है कि आपको हर एक चीज पर जज किया जाता है. हमारे पास 'महबूबा महबूबा', 'चोली के पीछे क्या है', 'चुम्मा चुम्मा' और भी ऐसे ही न जाने कितने गाने हैं, लेकिन उनके नैतिक रूप से सही होने या नहीं होने की चर्चा कभी नहीं हुई. एक कलाकार के रूप में एक ही समय में दर्शकों को खुश करना और रचनात्मक होना मुश्किल हो जाता है."