इरफान खान के करीबी दोस्त का खुलासा, बोले- अंतिम सांस लेने से पहले कोरोना से जंग के लिए किया था दान

इरफान खान (Irrfan Khan) के निधन के एक महीने बाद उनके दोस्त जिआउल्लाह (Jiaullah) ने यह खुलासा किया है.

इरफान खान के करीबी दोस्त का खुलासा, बोले- अंतिम सांस लेने से पहले कोरोना से जंग के लिए किया था दान

इरफान खान (Irrfan Khan) की फाइल फोटो

नई दिल्ली:

बॉलीवुड के मशहूर एक्टर इरफान खान (Irrfan Khan) के निधन को एक महीने पूरे हो गए हैं. बीते 29 अप्रैल को उनका निधन हो गया था. इस खबर के बाद पूरे सिनेमा जगत में शोक की लहर दौड़ पड़ी थी. किसी को भी इस बात पर विश्वास नहीं हो रहा था. अब इरफान खान (Irrfan Khan) के निधन के एक महीने बाद उनके करीबी दोस्त ने बड़ा खुलासा किया है. उनका कहना है कि अंतिम सांस लेने से पहले इरफान खान ने कोरोनावायरस (Coronavirus) से जूझ रहे लोगों के लिए राशि डोनेट की थी.

इरफान खान (Irrfan Khan) को लेकर एंटरटेनमेंट वेबसाइट 'बॉलीवुड लाइफ' ने 'पिंकविला' का हवाला देते हुए ये बातें लिखी हैं. रिपोर्ट में कहा गया है: "इरफान खान के दोस्त जिआउल्लाह (Jiaullah) ने बताया कि कोरोनावायरस (Coronavirus) से जंग हेतु मेरी टीम फंड जुटाने में लगी हुई थी. इस दौरान इरफान खान के बड़े भाई से इस बारे में बात की तो वो मदद के लिए तैयार हो गए. उनके साथ-साथ इरफान खान ने भी उस समय हमें डोनेशन दिया था. डोनेशन देते वक्त इरफान खान ने एक शर्त रखी थी. वह यह थी कि इसके बारे किसी को ना बताया जाए."

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

इरफान खान (Irrfan Khan) के दोस्त जिआउल्लाह (Jiaullah) ने आगे कहा: "इरफान ये मानते थे कि अगर किसी को दान दो तो वो राज ही रहना चाहिए." उन्होंने यह भी बताया कि अब इरफान खान हमारे बीच नहीं हैं इसलिए मेरी जिम्मेदारी है कि उनके अच्छे कामों को मैं दुनिया को बताउं. अगर वो जिंदा होते तो मैं ये बातें नहीं बताता.

बात करें कोरोनावायरस  (Croonavirus) की तो इसका प्रकोप थमने का नाम ही नहीं ले रहा है. स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार शनिवार सुबह तक देश में अब तक कुल 1,73,763 मरीज सामने आए हैं, जबकि 4971 लोगों की मौत हो चुकी है. 24 घंटे में सबसे ज्यादा नए केस और सबसे ज्यादा मौतें हुई हैं. पिछले 24 घंटे में 7964 नए मामले सामने आए हैं वहीं 265 लोगों की मौत हो चुकी है, हालांकि पिछले 24 घंटों में सबसे ज्यादा मरीज 11,264 रिकवर हुए हैं अब तक 82370 मरीज इस बीमारी को मात देने में सफल भी हुए हैं. वहीं रिकवरी रेट की बात करें तो वह बढ़कर 47.40 फीसदी हो गई है.