NDTV Khabar

पान खा रहे थे जैकी श्रॉफ तभी हुआ कुछ ऐसा, गाने लगे- पान खाए सैंया हमार...

बॉलीवुड में 'जग्गू दादा' के नाम से मशहूर जैकी श्रॉफ (Jackie Shroff) अपने बिंदास अंदाज के लिए जाने जाते हैं. जैकी श्रॉफ का एक ट्वीट खूब वायरल हो रहा है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पान खा रहे थे जैकी श्रॉफ तभी हुआ कुछ ऐसा, गाने लगे- पान खाए सैंया हमार...

अपने बिंदास अंदाज के लिए मशहर हैं जैकी श्रॉफ (Jackie Shroff)

खास बातें

  1. अपने बिंदास अंदाज के लिए मशहूर हैं जैकी श्रॉफ
  2. जैकी श्रॉफ ने साहिर लुधियानवी को किया याद
  3. जैकी श्रॉफ ने ट्वीट कर साहिर लुधियानवी को किया याद
नई दिल्ली:

बॉलीवुड में 'जग्गू दादा' के नाम से मशहूर जैकी श्रॉफ (Jackie Shroff) अपने बिंदास अंदाज के लिए जाने जाते हैं. जैकी श्रॉफ अपनी बात को बेहद ही खास अंदाज में रखते हैं. फिल्मों के साथ-साथ जैकी श्रॉफ सोशल मीडिया (Social Media) पर भी काफी एक्टिव रहते हैं. जैकी श्रॉफ (Jackie Shroff)ने ट्वीट कर प्रसिद्ध शायर और गीतकार साहिर लुधियानवी (Sahir Ludhianvi) को उनके बर्थ एनिवर्सरी पर याद किया है. जैकी श्रॉफ (Jackie Shroff) ने ट्वीट किया, "खाना खाने के बाद पान खा रहा था तोह साहिर साब की याद आ गइ. पान खाये सैया हमार...साहिर साब को हमेशा दिल से बहोत बहोत प्यार.. बहोत कुछ छोड़ गये है हमारे लिए." 

Bhojpuri Cinema: निरहुआ से शादी के लिए आम्रपाली दुबे ने उनकी मम्मी को यूं लगाया मक्खन, वायरल हुआ Video


 

 

दिग्गज एक्टर जैकी श्रॉफ (Jackie Shroff) ने अपने खास अंदाज में साहिर लुधियानवी (Sahir Ludhianvi) को याद किया. बता दें कि साहिर लुधियानवी प्रसिद्ध शायर तथा गीतकार थे. उनका का जन्म 8 मार्च 1921 को लुधियाना में हुआ था. उनका देहांत 25 अक्टूबर 1980 को मुंबई में हुआ था. साहिर लुधियानवी का असली नाम अब्दुल हयी साहिर था. साहिर लुधियानवी (Sahir Ludhianvi) की शिक्षा लुधियाना के खालसा हाई स्कूल में हुई थी. 

सलमान खान ने अपनी दोनों मम्मियों के साथ शेयर की फोटो, फैंस बोले- 'सुभान अल्लाह' - देखें Photos

 

 

सन् 1939 में जब साहिर लुधियानवी (Sahir Ludhianvi) सरकारी  कॉलेज के विद्यार्थी थे. अमृता प्रीतम से उनका प्रेम हुआ जो कि असफल रहा. कॉलेज़ के दिनों में वे अपने शेरों के लिए मशहूर हो गए थे और अमृता इनकी प्रशंसक बनी. लेकिन अमृता के घरवालों को ये रास नहीं आया क्योंकि एक तो साहिर मुस्लिम थे और दूसरे गरीब. बाद में अमृता के पिता के कहने पर उन्हें कॉलेज से निकाल दिया गया. जीविका चलाने के लिये उन्होंने तरह-तरह की छोटी-मोटी नौकरियां कीं.

सलमान खान की एक्ट्रेस ने इस शख़्स पर जमकर बरसाए घूंसे, video हुआ वायरल

साहिर लुधियानवी (Sahir Ludhianvi) सन् 1943 में लाहौर आ गये और उसी वर्ष उन्होंने अपनी पहली कविता संग्रह तल्खियां छपवाईं. 'तल्खियां' के प्रकाशन के बाद से ही उन्हें ख्याति प्राप्त होने लग गई. सन् 1945 में वे प्रसिद्ध उर्दू पत्र अदब-ए-लतीफ और शाहकार (लाहौर) के सम्पादक बने. बाद में वे द्वैमासिक पत्रिका सवेरा के भी सम्पादक बने और इस पत्रिका में उनकी किसी रचना को सरकार के विरुद्ध समझे जाने के कारण पाकिस्तान सरकार ने उनके खिलाफ वारण्ट जारी कर दिया. 

टिप्पणियां

 

...और भी हैं बॉलीवुड से जुड़ी ढेरों ख़बरें...



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement