कंगना रनौत ने Coronavirus को बताया "जैविक युद्ध", बोलीं- एक-दूसरे की अर्थव्यवस्था को नीचे गिराने के लिए...

कंगना रनौत (Kangana Ranaut) ने कोरोनावायरस को जैविक युद्ध बताया है. एक्ट्रेस का मानना है कि इस वक्त जारी कोविड-19 महामारी एक संभावित जैविक युद्ध भी हो सकता है.

कंगना रनौत ने Coronavirus को बताया

कंगना रनौत (Kangana Ranaut) ने कोरोनावायरस (Coronavirus) को बताया "जैविक यु्द्ध"

खास बातें

  • कंगना रनौत ने कोरोनावायरस को बताया जैविक युद्ध
  • एक्ट्रेस ने कहा कि देश एक-दूसरे की अर्थव्यवस्था को नीचे गिराने के लिए...
  • कंगना रनौत ने लॉकडाउन पर भी दिया हैरान करने वाला बयान
नई दिल्ली:

कोरोनावायरस (Coronavirus) को लेकर जहां लगभग सभी बॉलीवुड कलाकार इसे लेकर जागरुकता फैलाते दिखाई दे रहे हैं. तो वहीं कंगना रनौत (Kangana Ranaut) ने कोरोनावायरस को जैविक युद्ध बताया है. एक्ट्रेस का मानना है कि इस वक्त जारी कोविड-19 महामारी एक संभावित जैविक युद्ध भी हो सकता है, जहां देश एक-दूसरे की अर्थव्यवस्थाओं को ध्वस्त करने में लगे हुए हैं. आईएएनएस की रिपोर्ट के मुताबिक कंगना रनौत ने इंडिया टुडे से से बातचीत करते हुए कहा कि अर्थव्यवस्था को लेकर हमारी गहरी चिंता ने हमें उस स्थिति में पहुंचा दिया है, जहां मानव कल्याण की हमें कोई भी फिक्र नहीं हैं. 

कंगना रनौत (Kangana Ranaut) ने कोरोनावायरस (Coronavirus) पर अपने विचार साझा करते हुए कहा, "अर्थव्यवस्था को लेकर हमारी गहरी चिंता ने हमें उस स्थिति पर पहुंचा दिया है, जहां मानव कल्याण की हमें कोई फिक्र ही नहीं है. यह एक संभावित जैविक युद्ध भी हो सकता है, जहां देश एक-दूसरे की अर्थव्यवस्था को नीचे गिराने का प्रयास कर रहे हैं." उन्होंने इस मुद्दे पर बात करते हुए आगे कहा, "हमें यह तय करना होगा कि हम एक इंसान के तौर पर, एक देश के तौर पर कहां जा रहे हैं. हम क्यों अपनी लालचों से संचालित हो रहे हैं, क्यों हम अपनी चेतना की नहीं सुनते हैं."

अपने इंटरव्यू में कंगना रनौत (Kangana Ranaut) ने 21 दिनों के लॉकडाउन को लेकर भी अपनी राय पेश की. उन्होंने कहा, "यह लॉकडाउन अगर 21 दिनों तक चला, तो आर्थिक रूप से हम दो साल पिछड़ जाएंगे और अगर यह 21 दिनों से और आगे बढ़ता है, तो यह हमारे देश के लिए एक भयावह स्थिति होने वाली है क्योंकि हम एक विकासशील देश हैं. बता दें कि कोरोनावायरस से संक्रमित लोगों की संख्या भारत में अब तक 1000 पार कर चुकी है. इसके साथ ही बीमारी से अब तक कुल 27 लोगों की मौत हो चुकी है. हालांकि, थोड़ी राहत वाली बात यह है कि करीब 96 लोग इस बीमारी से ठीक भी हो चुके हैं. 


 

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com