NDTV Khabar

Sridevi के निधन पर राम गोपाल वर्मा को आया गुस्सा, उनको लेकर कह दी ऐसी बात....

फिल्मकार ने लिखा, "मुझे श्रीदेवी से नफरत है, क्योंकि वह मुझे महसूस करा गईं कि वह भी आखिर में केवल एक इंसान थीं. मुझे नफरत है उनके दिल से, जो जिंदगी से हार गया,"

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Sridevi के निधन पर राम गोपाल वर्मा को आया गुस्सा, उनको लेकर कह दी ऐसी बात....

श्रीदेवी के निधन पर राम गोपाल वर्मा ने दुख और क्रोध व्यक्त किया है.

खास बातें

  1. 54 की उम्र में श्रीदेवी का निधन
  2. श्रीदेवी के अकस्मिक निधन से सकते में राम गोपाल वर्मा
  3. फिल्मकार ने पहले इसे बुरा सपना और मजाक समझा था
नई दिल्ली: 54 वर्षीय दिग्गज अभिनेत्री श्रीदेवी का शनिवार रात आकस्मिक निधन से फिल्म उद्योग ही नहीं पूरा देश स्तब्ध है. फिल्मकार राम गोपाल वर्मा श्रीदेवी के निधन से सकते में हैं और उन्होंने इसे लेकर भगवान को कोसा है. श्रीदेवी (54) का शनिवार रात अचानक दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया था. वे अपने पति बोनी कपूर और छोटी बेटी खुशी कपूर के साथ पारिवारिक विवाह समारोह में शामिल होने दुबई गई थीं.

श्रीदेवी के निधन से ठीक पहले अमिताभ बच्चन को होने लगी थी घबराहट, किया ये ट्वीट....

वर्मा ने ट्विटर पर लंबी भावुक टिप्पणी डालकर अपना दुख और गुस्से का इजहार किया है, "मुझे उम्मीद है कि मैं एक बुरा सपना देख रहा हूं, लेकिन मैं जानता हूं कि मैं सपने में नहीं हूं. मुझे श्रीदेवी से नफरत है, क्योंकि वह मुझे महसूस करा गईं कि वह भी आखिर में केवल एक इंसान थीं. मुझे नफरत है उनके दिल से, जो जिंदगी से हार गया,"

Sridevi: जिस गम से गुजरे थे अर्जुन कपूर, अब जाह्नवी को भी सहना पड़ेगा वही दर्दउन्होंने कहा, "मुझे नफरत है कि उनके पास भी ऐसा दिल था, जो सामान्य दिलों की तरह धड़कना बंद कर सकता था. मुझे नफरत है कि मैं उनकी मौत को देखने के लिए जिंदा था. मैं उनकी जान लेने वाले भगवान से नफरत करता हूं और वह नहीं रहीं, इसलिए मैं उनसे भी नफरत करता हूं. मैं आपसे प्यार करता हूं श्री, आप जहां भी हो...मैं हमेशा आपसे प्यार करता रहूंगा." 

Sridevi ने इस वजह से कर दिया था अनिल कपूर के साथ काम करने से इनकारफिल्मकार ने पहले इसे बुरा सपना और मजाक समझा था. उन्होंने कहा, "मैंने सोचा था कि यह तो एक बुरा सपना है, या कोई मजाक और मैं वापस सो गया. एक घंटे बाद मैं जानने के लिए उठा और मुझे उनके निधन के लगभग 50 संदेश मिले."

चार दिन पहले इस अंदाज में दिखी थीं श्रीदेवी, आंखें नम कर देंगी ये आखिरी तस्वीरें

वर्मा ने श्रीदेवी से जुड़ी पुरानी यादों को साझा करते हुए कहा, "जब मैं विजयवाड़ा के इंजीनियरिंग कॉलेज में था तब मैंने उनकी पहली तेलुगू फिल्म 'पड़ाहरेल्ला वयासू' देखी थी. मैं उनकी सुंदरता से चकित रह गया था और मैं थिएटर से बाहर निकलकर सोच रहा था कि वह कोई वास्तविक व्यक्ति नहीं हो सकती हैं और उन्हें किसी कल्पना का स्वरूप होना चाहिए. फिर मैंने उनकी कई अन्य फिल्में देखीं, जिनमें उनकी प्रतिभा और उनकी सुंदरता दोनों के एक स्तर का निर्माण किया. वह ईश्वर की रचना की तरह थीं, जिसे उन्होंने बहुत ही अच्छे मूड में बनाया था. वह मानव जाति के लिए एक बहुत ही विशेष उपहार थीं. श्रीदेवी के साथ मेरी यात्रा शुरू हुई जब मैं अपनी पहली फिल्म 'शिवा' की तैयारी कर रहा था. मैं चेन्नई में नागार्जुन के ऑफिस से पास की सड़क तक चलकर जाता था, जहां श्रीदेवी रहती थीं और मैं वहां खड़ा होता था श्रीदेवी के घर को देखता था."  Sridevi के करीब आने के लिए सब कुछ कर गुजरने को तैयार थे बोनी कपूर, छोड़ा था पहली पत्नी का साथ

टिप्पणियां
वर्मा ने कहा कि यह श्रीदेवी की सुंदरता थी, जिसने उन्हें 'क्षणा क्षणम' की पटकथा लिखने के लिए प्रेरित किया, जो 1991 में रिलीज हुई थी. इसके साथ ही राम गोपाल ने यह भी कहा है कि वह रविवार को अपनी नए प्रोजेक्ट का खुलासा करने वाले थे, लेकिन अभिनेत्री के असामयिक निधन के बाद अब उन्होंने अपनी घोषणा आगे बढ़ाने का फैसला किया है.

VIDEO: श्रीदेवी के निधन पर हर कोई सन्न, सचिन ने कहा- विश्वास करना मुश्किल...और भी हैं बॉलीवुड से जुड़ी ढेरों ख़बरें...
(इनपुट: IANS)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement