Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

MeToo: सलमान खान की 'भाभी' ने उठाए आलोक नाथ की बदतमीजियों पर सवाल, नशे में हो जाते थे बेकाबू

MeToo: 'हम आपके हैं कौन' में सलमान खान की भाभी का किरदार निभाने वाली एक्ट्रेस रेणुका शहाणे ने कहा कि आलोक नाथ की बदतमिजियां ऐसी थी, जिसे फिल्म उद्योग में बुरी तरह से छुपाया गया था.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
MeToo: सलमान खान की 'भाभी' ने उठाए आलोक नाथ की बदतमीजियों पर सवाल, नशे में हो जाते थे बेकाबू

खास बातें

  1. ऐसी कोई महिला नहीं होगी जिसके पास ‘मी टू’ स्टोरी नहीं हो: रेणुका शहाणे
  2. "आलोक नाथ की बदतमिजियां को फिल्म इंडस्ट्री ने छिपाया"
  3. "आलोक नाथ शराब के नशे में बिल्कुल अलग तरह के इंसान बन जाते हैं"
नई दिल्ली:

हॉलीवुड से शुरू हुआ ‘मी टू (Me Too)' अभियान भारत में एक सनसनी की तरह फैल गया है और इसमें कई बड़े लोगों के नाम अब तक सामने आ चुके हैं. इसी अभियान के बीच जानी मानी एक्ट्रेस रेणुका शहाणे (Renuka Shahane) का कहना है कि ऐसी शायद ही कोई महिला हो जिसके पास ‘मी टू' कहानी न हो. एवरग्रीन फिल्म 'हम आपके हैं कौन' में सुपरस्टार सलमान खान की भाभी का किरदार निभाने वाली एक्ट्रेस रेणुका शहाणे ने फिल्म में उनके पिता का कैरेक्टर प्ले करने वाले दिग्गज अभिनेता आलोक नाथ (Alok Nath) के व्यवहार पर कई सवाल उठाए हैं.

19 की उम्र में हुई यौन उत्पीड़न का शिकार, आज भी उसका नाम लेने से लगता है डर...; देखें Video


एक्ट्रेस लगातार सामाजिक मामलों पर अपने विचार व्यक्त करती रही हैं. वह हाल ही में सीने एंड टीवी आर्टिस्ट एसोसिएशन की परामर्श समिति की सदस्य भी नियुक्ति की गई. यह समिति फिल्म उद्योग में यौन उत्पीड़न के मामलों को देखती है. अभिनेत्री तनुश्री दत्ता द्वारा नाना पाटेकर पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाए जाने के बाद फिल्म उद्योग की कई कलाकारों ने ‘मी टू' की कहानी साझा की है. आलोक नाथ, साजिद खान, सुभाष घई, कैलाश खेर और रजत कपूर जैसी फिल्म उद्योग की बड़ी हस्तियों पर यौन उत्पीड़न और कुछ मामलों में बलात्कार के आरोप लगे. शहाणे ने कहा कि उन्होंने फिल्म उद्योग के भीतर यौन उत्पीड़न नहीं झेला लेकिन यह सिर्फ भाग्य की बात हो सकती है. अभिनेत्री ने कहा, "मेरे पास भी प्रस्ताव आए थे लेकिन मेरे इंकार करने के बाद मेरी भावनाओं की कद्र की गई. मेरे साथ ऐसा हुआ." उन्होंने कहा कि आलोक नाथ की बदतमिजियां ऐसी थी, जिसे फिल्म उद्योग में बुरी तरह से छुपाया गया था. 
 

v7htv5t

मालूम हो कि आलोक नाथ पर संध्या मृदुल, हिमानी शिवपुरी और दीपिका अमीन ने आरोप लगाए हैं. शहाणे ने कहा कि आलोकनाथ के साथ राजश्री प्रोडक्शन ‘हम आपके हैं कौन' और डीडी शो ‘इम्तिहान' के बाद उन्हें नाथ के कथित गंदे व्यवहार का पता चला था. एक पत्रिका ने यह खबर छापी थी कि ‘तारा' की अभिनेत्री नवनीत निशान ने आलोक नाथ को थप्पड़ मारा था. ‘तारा' की लेखिका-प्रोड्यूसर विन्ता नंदा ने नाथ पर दो दशक पहले यौन उत्पीड़न और बलात्कार के आरोप लगाए थे.

बबीता जी बोलीं- उम्र के किसी न किसी पड़ाव में होना पड़ता है शिकार, बचपन में झेल चुकीं दर्द

इस पर रेणुका शहाणे ने कहा, "सभी को पता है कि एक बार जब वह (आलोक नाथ) शराब के नशे में डूबते हैं तो वह बिल्कुल एक अलग तरह के इंसान बन जाते हैं. जब मैंने संध्या मृदुल की कहानी पढ़ी तो मैंने सोचा कि कम से कम आलोकनाथ ने यह स्वीकार तो किया. लेकिन हम यह देखते आए हैं और उनका व्यवहार लगातार वैसा ही रहता आया है. मुझे पार्टी करना ज्यादा पसंद नहीं है. इसलिए मेरा अनुभव उनके साथ वैसा नहीं रहा."

MeToo: आमिर खान ने लिया बड़ा फैसला, यौन उत्पीड़न के आरोपी डायरेक्टर की छोड़ी फिल्म

रेणुका का मानना है कि हर लड़की ने उम्र के किसी न किसी दौर पर उत्पीड़न झेला है. उन्होंने कहा कि उनके पास भी ‘मी टू' से जुड़ी कहानी है लेकिन उनके साथ गलत काम करने वाला कोई प्रसिद्ध व्यक्ति नहीं था. उन्होंने कहा, “मैं नहीं मानती हूं कि ऐसी एक भी महिला होगी जिसके पास ‘मी टू' की कहानी नहीं होगी. मेरी कहानी में कोई प्रसिद्ध व्यक्ति शामिल नहीं था. यह काफी समय पहले हुआ था लेकिन इसने मुझे प्रभावित किया था. इसने मेरे दुनिया देखने के नजरिए को प्रभावित किया.'' 
 

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

A post shared by Renuka Shahane (@renukash710) on

शहाणे ने भाषा को बताया, "मैंने अपनी पूरी जिंदगी लोकल ट्रेन और बसों में सफर करते हुए बितायी है. यात्रा के दौरान आपको पता होता है कि कोई आपको छूकर, आपके स्तन को दबाकर निकल जाएगा या ऐसा ही कुछ और करेगा. यह फर्क नहीं पड़ता है कि आप किस उम्र की हैं, शादीशुदा हैं या गर्भवती हैं. यह कभी न खत्म होने वाली सूची है."

आलोक नाथ पर इस एक्ट्रेस ने भी लगाया उत्पीड़न का आरोप, बोलीं- अब आपका खेल खत्म...

अभिनेत्री ने कहा कि राजश्री अपने फिल्म के सेट पर कड़ा अनुशासन बनाकर रखता था. जब शहाणे से पूछा गया कि कुछ लोग इस आंदोलन के बारे में कह रहे हैं कि यह ‘सार्वजनिक लिंचिंग' है और निर्दोष पुरुष भी इसमें फंस रहे हैं तो शहाणे ने इस पर असहमति जतायी. उनका कहना है कि कोई भी निर्दोष को जेल भेजना नहीं चाहता है. यह आंदोलन इसलिए उभर कर आया क्योंकि कानूनी प्रक्रिया बेहद लंबी है. 

टिप्पणियां

VIDEO: मुखौटा हटाता #MeToo?...और भी हैं बॉलीवुड से जुड़ी ढेरों ख़बरें...

अगर आप एनडीटीवी से जुड़ी कोई भी सूचना साझा करना चाहते हैं तो कृपया इस पते पर ई-मेल करें-worksecure@ndtv.com



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... करीना कपूर ने शाहिद कपूर से ब्रेकअप को लेकर तोड़ी चुप्पी, बोलीं- हमारी जिंदगी में बहुत कुछ हो रहा था...

Advertisement