Mere Pyare Prime Minister Review: टॉयलेट बनवाने के लिए प्रधानमंत्री को पत्र लिखता है बच्चा, कुछ ऐसी है कहानी

फिल्म की कहानी है झोपड़ पट्टी में रहने वाले कनु की, जो अपनी मां के लिए टॉयलेट बनवाने के लिए प्रधानमंत्री को पत्र लिखता है, क्योंकि..

Mere Pyare Prime Minister Review: टॉयलेट बनवाने के लिए प्रधानमंत्री को पत्र लिखता है बच्चा, कुछ ऐसी है कहानी

'मेरे प्यारे प्राइम मिनिस्टर' का फिल्म रिव्यू

नई दिल्ली:

फिल्म की कहानी है झोपड़ पट्टी में रहने वाले कनु की, जो अपनी मां के लिए टॉयलेट बनवाने के लिए प्रधानमंत्री को पत्र लिखता है, क्योंकि एक दिन सुबह शौच के लिए जाते वक्त कनु की मां का रेप हो जाता है और अपने मां के दुःख से दुखी कनु निकल पड़ता है प्रधानमंत्री के नाम पत्र लेकर दिल्ली के लिए. आगे की कहानी के बारे में जानने के लिए आपको सिनेमाघर तक जाना पड़ेगा. इस फिल्म की खामी इसकी स्क्रिप्ट है, जो कि मुद्दे से इधर-उधर भटकती है और साथ ही इसका स्क्रीनप्ले जो फिल्म को लम्बा करता है. छोटी सी कहानी को मोमेंट्स क्रिएट करने के लिए फिल्म को 2 घंटे में फैलाई गई है. 

कंगना रनौत की नाराजगी पर आमिर खान ने दिया जवाब, बोले- जब मैं उनसे मिलूंगा तो पूछूंगा कि...'

डी-फोकस करके फिल्म को थोड़ा उबाऊ कर देते हैं. इसके अलावा इसी मुद्दे पर हम 'टॉयलेट- एक प्रेम कथा' और 'हल्का' जैसी फिल्में देख चुके हैं तो विषय की नॉवल्टी भी उतनी नहीं रहती. फिल्म की एक और बड़ी खामी ये है कि कहानी का मर्म आप कई जगह महसूस नहीं करते और साथ में कई किरदारों का भी.

Avengers Endgame Trailer: 'एवेंजर्स' की आखिरी जंग में दिखेंगे ये 'सुपरहीरोज', यूट्यूब पर वायरल हुआ Video

 

 

बावजूद इसके कि हम इस विषय पर सौ फिल्में देख चुके हैं, फिर भी इस फिल्म की सबसे बड़ी खूबी है इसका विषय, क्योंकि बतौर फिल्मकार अपनी जिम्मेदारी समझते हुए राकेश ओम प्रकाश मेहरा ने यह विषय उठाया. इसके अलावा दूसरी खूबी है अंजली पाटिल और ओम कन्नौजिया की अदाकारी. इसके अलावा फिल्म के गाने अच्छे लगे फिर चाहे वो इनका संगीत हो या फिर लिखायी. वहीं मैं तारीफ करना चाहूंगा फिल्म की सिनेमेटोग्राफी की, जो फिल्म को इसकी दुनिया के करीब रखती है. बाकी फैसला आपके हाथ में, मेरी और से इसे 2.5 स्टार्स.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

कास्ट एंड क्रू 
कलाकार: मकरंद देशपांडे, अंजलि पाटिल, ओम कनोजिया, अतुल कुल्कर्नी और नीतीश वाधवा
राइटर: मनोज मैरता, हुसैन दलाल और राकेश ओम प्रकाश मेहरा
डायरेक्टर: राकेश ओम प्रकाश मेहरा 
म्यूजिक: शंकर, अहसान, लॉय

...और भी हैं बॉलीवुड से जुड़ी ढेरों ख़बरें...