NDTV Khabar

#MeToo: बॉलीवुड एक्ट्रेस के पिता पर लगा यौन उत्पीड़न का आरोप, सोशल मीडिया पर लिखी ये बात

पिता और पद्मभूषण से सम्मानित चित्रकार जतिन दास पर यौन उत्पीड़न के आरोप लगाए जाने के बाद बॉलीवुड अभिनेत्री नंदिता दास ने सोशल मीडिया पर अपनी बात रखी है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
#MeToo: बॉलीवुड एक्ट्रेस के पिता पर लगा यौन उत्पीड़न का आरोप, सोशल मीडिया पर लिखी ये बात

प्रतीकात्मक तस्वीर

खास बातें

  1. नंदिता दास के पिता पर लगा आरोप
  2. उन्होंने महिलाओं का किया सपोर्ट
  3. बोली ये बात
नई दिल्ली: पिता और पद्मभूषण से सम्मानित चित्रकार जतिन दास पर यौन उत्पीड़न के आरोप लगाए जाने के बाद बॉलीवुड अभिनेत्री नंदिता दास ने कहा है कि वह 'मी टू' का समर्थन करती हैं और उन्होंने भरोसा दिलाया कि सच्चाई की जीत होगी. नंदिता ने अपने फेसबुक पर एक पोस्ट में लिखा, "मैं 'मी टू' की मजबूत समर्थक हूं और दोहराना चाहूंगी की पिता पर लगे आरोपों के बाद भी अपनी आवाज उठाऊंगी, जिसे उन्होंने स्पष्ट रूप से नकारा है." उन्होंने लिखा, "मैं शुरुआत से इस बात पर जोर दे रही हूं कि यह समय महिलाओं (और पुरुषों) को खुलकर बोलने और सुरक्षित महसूस करवाने का है, साथ ही आरोपों की सच्चाई भी महत्वपूर्ण है. मेरा अजनबियों और दोस्तों से स्पर्श हुआ है, जो चिंतित हैं और मेरी ईमानदारी पर भरोसा करते हैं."

भोजपुरी एक्ट्रेस शुभी शर्मा ने सास से की जंग तो 'पति' बोले, 'घरवा भइल बा कारगिल'- Video हुआ वायरल




संरक्षणवादी कार्यकर्ता निशा बोरा ने मंगलवार को जतिन दास पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया. बोरा ने कहा कि जतिन ने अपने खिड़की गांव स्थित स्टूडियो में 2004 में उनका यौन उत्पीड़न किया था. जतिन ने इन आरोपों को हास्यास्पद और अशिष्ट करार दिया है और झूठा बताया है.

सुष्मिता सेन ने दुर्गा पंडाल पर किया 'धुनुची नाच', बेटियों भी थिरकीं; देखें Video

मालूम हो कि, कागज का उत्पादन करने वाली एक कंपनी की सह संस्थापक महिला ने मंगलवार को दावा किया कि मशहूर चित्रकार जतिन दास ने 14 साल पहले उसका यौन शोषण किया था. निशा बोरा नाम की महिला ने ट्विटर पर दास से जुड़ी अपनी घटना की जानकारी साझा की. निशा बोरा ने मंगलवार ट्वीट किया, "मैं जतिन से उनके स्टूडियो में खिड़की गांव में मिली थी..दूसरी बात जो मैं जानती हूं वह यह कि उन्होंने मुझे पकड़ने की कोशिश की थी. मैं घबराकर उनसे दूर हो गई. इसके बाद उन्होंने फिर ऐसा करने की कोशिश की. इस बार वह भद्दे तरीके से मेरे होठों को चूमने में कामयाब रहे." निशा ने कहा, "उस समय उन्होंने कहा, 'अरे, अच्छा लगेगा.' या ऐसा ही कुछ कहा था. मुझे यह याद है कि जब मैं पीछे हट रही थी, उन्हें इसपर विश्वास नहीं हो रहा था. मैंने अपना झोला उठाया और घर के लिए भागी. इसके बारे में कभी बात नहीं की. अब कर रही हूं."

 
हालांकि चित्रकार ने आरोपों से इनकार करते हुए कहा कि आजकल लोगों के खिलाफ आरोप लगाने का एक 'खेल' चल रहा है जिसका मकसद केवल 'मौज' लेना है.    उन्होंने अपने खिलाफ लगाए गए आरोपों को 'अश्लील' बताया. दास ने कहा, "यह भयावह है. इससे ज्यादा मैं क्या कह सकता हूं. यह बहुत ही घटिया है." उन्होंने बोरा को पहचानने से भी इनकार कर दिया. जतिन दास (76) ने कहा, "अगर आप सैंकड़ों लोगों से मिलते हैं और जब कोई इस तरह के आरोप लगाता है तो यह बहुत घटिया है. उन चेहरों को याद रखना बहुत मुश्किल है, लेकिन कोई इस हद तक नहीं गिर सकता."

टिप्पणियां
...और भी हैं बॉलीवुड से जुड़ी ढेरों ख़बरें...

(इनपुट आईएएनएस और भाषा से)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement