NDTV Khabar

राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार: ऑस्कर विजेता आर्टिस्ट को आया गुस्सा, बोले- 'अगर आप हमें 3 घंटे नहीं दे सकते, तो मत दीजिए नेशनल अवार्ड'

ऑस्कर विजेता साउंड आर्टिस्ट रेसुल पूकुट्टी ने गुरुवार को राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद द्वारा 65वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार समारोह में कुल 137 विजेताओं में से सिर्फ 11 का अभिनंदन किए जाने की खबर पर नाराजगी जताई.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार: ऑस्कर विजेता आर्टिस्ट को आया गुस्सा, बोले- 'अगर आप हमें 3 घंटे नहीं दे सकते, तो मत दीजिए नेशनल अवार्ड'

राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारः राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद

खास बातें

  1. राष्ट्रपति के पास है सिर्फ एक घंटा
  2. सभी को नहीं कर पाएंगी सम्मानित
  3. कलाकारों को आया गुस्सा
नई दिल्ली:

ऑस्कर विजेता साउंड आर्टिस्ट रेसुल पूकुट्टी ने गुरुवार को राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद द्वारा 65वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार समारोह में कुल 137 विजेताओं में से सिर्फ 11 का अभिनंदन किए जाने की खबर पर नाराजगी जताई. राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता पूकुट्टी ने ट्वीट कर कहा, "अगर भारत सरकार हमारे सम्मान में अपना तीन घंटे का समय भी नहीं दे सकती तो उन्हें हमें राष्ट्रीय पुरस्कार देने की जेहमत नहीं उठानी चाहिए. हमारे 50 फीसदी से ज्यादा पसीने की कमाई आप मनोरंजन कर के रूप में ले लेते हैं, हमारी जो प्रतिष्ठा है कम से कम उसका तो सम्मान कीजिए."
 


National Film Awards को लेकर ट्विटर पर निकली भड़ास, डायरेक्टर बोले- राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों के इतिहास में काला दिन

पूकुट्टी ने पिछले महीने पुरस्कार समिति के सर्वश्रेष्ठ ऑडियोग्राफी के पुरस्कार के निर्णय पर सवाल उठाए थे और अपनी नाराजगी जताई थी. यह पुरस्कार 'विलेज रॉकस्टार' के लिए मल्लिका दास (लोकेशन साउंड रिकॉर्डिस्ट) और 'वॉकिंग विद द विंड' के लिए सनल जॉर्ज (साउंड डिजाइनर) और जस्टिन ए जोस (साउंड री-रिकॉर्डिग) को दिया गया था.
 


65th National Film Awards: सिंगर साशा तिरुपति हुईं हताश, बोलीं,‘हम राष्ट्रपति के हाथों पुरस्कार लेने आए थे न कि किसी सरकारी अधिकारी से’

विजेताओं को बुधवार को यह सूचना दी गई कि पुरस्कार पाने वाले लोगों में अधिकतर को सूचना प्रसारण मंत्री स्मृति ईरानी सम्मानित करेंगी जबकि केवल 11 को राष्ट्रपति द्वारा सम्मानित किया जाएगा. राष्ट्रपति के प्रेस सचिव अशोक मलिक ने कहा कि राष्ट्रपति सभी पुरस्कार कार्यक्रमों और दीक्षांत समरोहों में अधिकतम एक घंटे रूकते हैं. यह प्रोटोकाल उनके पदभार ग्रहण करने के समय से ही चला आ रहा है. इस बारे में सूचना और प्रसारण मंत्रालय को कई सप्ताह पहले ही अवगत करा दिया गया था और मंत्रालय को इसकी जानकारी थी.

टिप्पणियां

(इनपुटः IANS)

 ...और भी हैं बॉलीवुड से जुड़ी ढेरों ख़बरें...



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... Delhi Polls 2020: BJP ने जारी की दूसरी लिस्ट, केजरीवाल के खिलाफ इस प्रत्याशी को उतारा मैदान में

Advertisement