पूजा भट्ट ने महाराष्ट्र में फंसे 800 मजदूरों को लेकर दिया आदित्य ठाकरे को जवाब, बोलीं- आपसे रिक्वेस्ट है कि...

बॉलीवुड एक्ट्रेस पूजा भट्ट (Pooja Bhatt) ने 800 मजदूरों के लिए चिंता जताते हुए आदित्य ठाकरे (Aditya Thackeray) को सलाह दी.

पूजा भट्ट ने महाराष्ट्र में फंसे 800 मजदूरों को लेकर दिया आदित्य ठाकरे को जवाब, बोलीं- आपसे रिक्वेस्ट है कि...

पूजा भट्ट (Pooja Bhatt) ने दिया आदित्य ठाकरे को दिया जवाब

खास बातें

  • पूजा भट्ट ने आदित्य ठाकरे के ट्वीट का दिया जवाब
  • एक्ट्रेस ने आदित्य ठाकरे से मजदूरों के लिए किया अनुरोध
  • पूजा भट्ट का ट्वीट हुआ वायरल
नई दिल्ली:

कोरोनावायरस (Coronavirus) के कारण पूरे देश में 21 दिनों तक का लॉकडाउन घोषित कर दिया गया है. जिससे करीब 800 मजदूर महाराष्ट्र में फंस गए हैं. इस बात को लेकर बॉलीवुड एक्ट्रेस पूजा भट्ट (Pooja Bhatt) ने ट्वीट किया है, जो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है. अपने ट्वीट में पूजा भट्ट (Pooja Bhatt) ने 800 मजदूरों के लिए चिंता जताते हुए आदित्य ठाकरे को सलाह दी. इसके साथ ही एक्ट्रेस ने अपने ट्वीट में आदित्य ठाकरे को महाराष्ट्र के स्टेडियम और स्टूडियो में मजदूरों को रहने के लिए जगह देने का भी अनुरोध किया. पूजा भट्ट का यह ट्वीट सोशल मीडिया पर खूब सुर्खियां बटोर रहा है. 

पूजा भट्ट (Pooja Bhatt) ने अपने ट्वीट में आदित्य ठाकरे से अनुरोध करते हुए लिखा, "प्रिय आदित्य ठाकरे, क्या मैं आपसे अनुरोध कर सकती हूं कि महाराष्ट्र में बने स्टूडियो और स्टेडिम को आश्रय घरों में तब्दील कर दिया जाए, जिससे यहां आए दिहाड़ी मजदूर, गरीब व्यक्ति और प्रवासी रुक सकें? यहां उनके स्वास्थ्य पर नजर रखी जा सकती है साथ ही उनसे संपर्क भी किया जा सकता है." बता दें कि आदित्य ठाकरे ने ट्वीट किया था, जिसमें उन्होंने ममता बनर्जी से हुई बात का जिक्र करते हुए कहा था कि हम उन्हें बॉर्डर सील होने की वजह से जाने नहीं दे सकते, लेकिन उनका ख्याल रखेंगे. 

बता दें कि पूजा भट्ट (Pooja Bhatt) सोशल मीडिया पर खूब एक्टिव रहती हैं. वह समसामयिक मुद्दों पर भी अपनी खूब राय पेश करती हैं. वहीं, कोरोनावायरस की बात करें तो देश में अब तक कुल 694 लोग इसकी चपेट में आ चुके हैं, साथ ही 16 लोगों की इससे मौत हो चुकी है. इस वायरस से बचाव के लिए पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने 24 मार्च को देश को संबोधित करते हुए पूरे देश में 21 दिनों के लॉकडाउन की घोषणा की थी. लॉकडाउन के कारण कई मजदूर शहरों में भी फंस गए हैं.