NDTV Khabar

लंबी बीमारी के बाद हुआ रानी मुखर्जी के पिता का निधन

निर्माता-निर्देशक राम मुखर्जी का पार्थिव शरीर रविवार को जुहू स्थित उनके घर लाया जाएगा, इसके बाद दोपहर 3 बजे विले पार्ले स्थित श्मशान घाट में उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा.

641 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
लंबी बीमारी के बाद हुआ रानी मुखर्जी के पिता का निधन

राम मुखर्जी हिंदी और बंगाली सिनेमा के जाने-माने निर्माता-निर्देशक थे.

खास बातें

  1. नहीं रहे रानी मुखर्जी के पिता राम मुखर्जी
  2. लंबी बीमारी के बाद अस्पताल में हुआ निधन
  3. रविवार दोपहर 2 बजे होगा अंतिम संस्कार
मुंबई: बॉलीवुड एक्ट्रेस रानी मुखर्जी के पिता राम मुखर्जी का निधन रविवार सुबह 4 बजे हुआ. जानकारी के मुताबिक, राम मुखर्जी पिछले कई दिनों से मुंबई के एक अस्पताल में भर्ती थे. लंबी बीमारी के बाद हॉस्पिटल में उन्होंने आखिरी सांस ली. उनका पार्थिव शरीर जुहू स्थित घर में लाया जाएगा, इसके बाद दोपहर 3 बजे विले पार्ले स्थित श्मशान घाट में उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा.

पढ़ें: काजोल-रानी, आलिया-करिश्मा के साथ शाहरुख खान ने साझा की तस्वीर और कहा...

मालूम हो कि राम मुखर्जी हिंदी और बंगाली सिनेमा के जाने-माने डायरेक्टर, प्रोड्यूसर और राइटर्स में से एक थे. वे मुंबई स्थित हिमालया स्टूडियो के फाउंडर भी थे.
 
पढ़ें: अब ऐसे दिखने लगे रानी मुखर्जी के देवर, फिल्मों से गायब उदय चोपड़ा को पहचानना हुआ मुश्किल

हम हिंदोस्तानी (1960) और लीडर (1964) जैसी फिल्मों का निर्देशन कर चुके राम मुखर्जी ने 1996 में बेटी रानी मुखर्जी की डेब्यू बंगाली फिल्म 'बियेर फूल' को डायरेक्ट किया था. इसके बाद 1997 में रानी मुखर्जी ने 'राजा की आएगी बारात' से अपनी बॉलीवुड पारी की शुरुआत की थी. इसे राम मुखर्जी के होम प्रोडक्शन के बैनर तले ही बनाया गया था. बता दें, राम मुखर्जी की पत्नी कृष्णा प्लेबैक सिंगर हैं और उनके बेटे राजा एक्टर और डायरेक्टर हैं.

 Video: गीतकार इरशाद कामिल से खास मुलाकात...और भी हैं बॉलीवुड से जुड़ी ढेरों ख़बरें...


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement