NDTV Khabar

भूतों के बारे में क्या कह गए रस्किन बॉन्ड, उनकी कहानी पर बनाई जा रही वेब सीरीज

अंग्रेजी के लोकप्रिय लेखक रस्किन बांड जिनकी अलौकिक कहानियों पर वेब सीरीज बनायी गयी है, उनका कहना है कि भूत प्रेत डराने या लोगों को नुकसान पहुंचाने के लिए नहीं है और लोग उनसे भयभीत हो जाते हैं, क्योंकि वे हमारे जैसे नहीं हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
भूतों के बारे में क्या कह गए रस्किन बॉन्ड, उनकी कहानी पर बनाई जा रही वेब सीरीज

'परछाई- घोस्ट स्टोरीज' हुई रिलीज

खास बातें

  1. रस्किन बॉन्ड की कहानी पर आधारित
  2. जी5 पर वेब सीरीज
  3. 15 जनवरी को हो चुकी है रिलीज
नई दिल्ली:

अंग्रेजी के लोकप्रिय लेखक रस्किन बांड जिनकी अलौकिक कहानियों पर वेब सीरीज बनायी गयी है, उनका कहना है कि भूत प्रेत डराने या लोगों को नुकसान पहुंचाने के लिए नहीं है और लोग उनसे भयभीत हो जाते हैं, क्योंकि वे हमारे जैसे नहीं हैं. 84 वर्षीय लेखक ने कहा कि वह उन लोगों में नहीं है जो अलौकिक शक्तियों पर बहुत अधिक यकीन करते हैं लेकिन वह भूत प्रेत की कहानियों को पढ़ते हुए बड़े हुए हैं. मिस्टर जेम्स और अल्गेरनोन ब्लैकवुड जैसे लेखकों की भूत प्रेत की कहानियों में उनकी हमेशा दिलचस्पी रही है. बॉन्ड की कहानियों पर पहले फिल्में बनायी गयी थी, लेकिन यह पहला मौका है कि उनके रचनाकर्म को लेकर वेब सीरीज बनायी जा रही है. 

Simmba Box Office : रणवीर सिंह की 'सिंबा' की नहीं थम रही रफ्तार, तीन हफ्ते में कमाए इतने करोड़


देखें वीडियो-

 

‘परछाई : घोस्ट स्टोरीज बॉय रस्किन बॉड' का पहला एपिसोड जी5 पर 15 जनवरी को प्रदर्शित किया गया था और जून तक प्रसारित होगा. रस्किन बॉड का नाम उन लेखकों में शुमार किया जाता है जो भारतीय लोककथाओं से हमेशा प्रेरणा लेते रहे हैं. उन्होंने बताया, ‘‘हमारी लोक कथाओं में विभिन्न प्रकार के भूत-प्रेत हैं. इसमें ‘प्रेत', ‘भूत' और ‘पिशाच' शामिल हैं और वे पीपल और अन्य तरह के पेड़ों में रहते हैं. कुछ साल पहले आगरा के नजदीक एक गांव की बुजुर्ग महिला ने गांव के भूत और ‘प्रेत' के बारे में कहानियां सुनायी थी. इन कहानियों में पुनर्जन्म के तत्व हैं. इन कहानियों में धार्मिक मान्यतायें भी हैं.''

URI Box Office Collection Day 7: विक्की कौशल की 'उरी' का धमाल, पहले हफ्ते कमा डाले इतने करोड़

बॉन्ड ने कहा, ‘‘मैं हमेशा अनुभव करता हूं कि भूत हमें परेशान नहीं करते हैं या नुकसान नहीं पहुंचाते हैं. वे उन पुराने ठिकानों या स्थानों की तलाश में रहते हैं जिनसे वे जुड़े हुए रहे हैं। हो सकता है इसके पीछे कोई विशेष कारण हो या हो सकता है बस यूं हीं.''

टिप्पणियां

...और भी हैं बॉलीवुड से जुड़ी ढेरों ख़बरें...

(इनपुट भाषा से)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement