ऋषि कपूर के निधन पर संजय दत्त ने लिखा भावुक पोस्ट, बोले- 'आप उस समय मेरे साथ खड़े रहे, जब...'

बॉलीवुड एक्टर संजय दत्त (Sanjay Dutt) ने ऋषि कपूर (Rishi Kapoor) के निधन पर एक इमोशनल पोस्ट लिखा है, जो खूब वायरल हो रहा है.

ऋषि कपूर के निधन पर संजय दत्त ने लिखा भावुक पोस्ट, बोले- 'आप उस समय मेरे साथ खड़े रहे, जब...'

संजय दत्त (Sanjay Dutt) ने लिखा इमोशनल पोस्ट

खास बातें

  • ऋषि कपूर के निधन पर संजय दत्त ने लिखा भावुक पोस्ट
  • बोले- 'आप उस समय मेरे साथ खड़े रहे, जब...'
  • खूब वायरल हो रहा उनका पोस्ट
नई दिल्ली:

ऋषि कपूर (Rishi Kapoor) का गुरुवार को निधन हो गया. अमिताभ बच्चन ने अपने ट्वीट के जरिए से इसकी जानदारी दी थी. अमिताभ ने लिखा कि इस खबर से वह टूट गए हैं. बाद में परिवार के लोगों ने भी अभिनेता के निधन की पुष्टि की. 67 साल के ऋषि कपूर को बुधवार सुबह सेहत में दिक्कत के बाद अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा था. इस बात की पुष्टि उनके भाई व अभिनेता रणधीर कपूर ने भी की थी. ऋषि कपूर (Rishi Kapoor) के निधन पर पूरा देश गममीन है. बॉलीवुड सहित तमाम फिल्ड के जाने-माने लोग उनके निधन दुख जता रहे हैं. बॉलीवुड एक्टर संजय दत्त (Sanjay Dutt) ने भी ट्वीट कर ऋषि कपूर को याद किया.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

संजय दत्त (Sanjay Dutt) ऋषि कपूर (Rishi Kapoor) के निधन की खबर सुन काफी दुखी हैं. उन्होंने ट्विटर पर एक पत्र लिखा: "डियर चिंटू सर, आप हमेशा मेरे करियर और जीवन के लिए प्रेरणा स्त्रोत रहे. जब मैं मुश्किल दौर से गुजर रहा था, उस समय भी आप मरे साथ खड़े रहे और मुझे सिखाया कि जीवन उमंग के साथ जीना चाहिए. मैंने आपके साथ कई फिल्मों में काम किया. आपने इस दौरान हमशा मुझे गाइड किया. आप लंबे समय से कैंसर से लड़ रहे थे, लेकिन आपने कभी भी मुझे इसका अहसास नहीं होने दिया कि आप कितने मुश्किल में है. न्यूयॉर्क में भी बातचीत के समय आप उमंग से भरे थे. मेरी पिछली मुलकात आपसे आपके घर पर डिनर हुई थी. उस समय भी आप मेरा ध्यान रख रहे थे. आज मेरे लिए बहुत बड़े दुख का दिन है, क्योंकि मैंने परिवार का एक सदस्य, भाई और एक ऐसे इंसान को खो दिया, जिसने मुझे जिंदगी को जीना सिखाया. मैं आपको बहुत मिस करूंगा चिंटू सर. भगवान आपकी आत्मा को शांति दें. आई लव यू चिंटू सर."

ऋषि कपूर (Rishi Kapoor) ने अपने पिता राज कपूर की फिल्म 'श्री 420' से बतौर बाल कलाकर बड़े पर्दे पर अपनी फिल्मी पारी का आगाज किया था. इसके बाद वह फिल्म 'मेरा नाम जोकर' में भी नजर आए. बतौर मुख्य अभिनेता 1973 में आई 'बॉबी' उनकी पहली फिल्म थी, जो एक बड़ी हिट थी. इसके बाद करीब तीन दशक तक उन्होंने कई रोमांटिक फिल्में की. 'लैला मजनू', 'रफू चक्कर', 'कर्ज', 'चांदनी', 'हिना', 'सागर' जैसी कई फिल्मों में उनके अभिनय को सराहा गया. अभिनेता के तौर पर अपनी दूसरी पारी को लेकर वह काफी संतुष्ट थे. इस दौरान वह अपनी पत्नी के साथ 'दो दूनी चार' में नजर आए. वहीं 'अग्निपथ', 'कपूर एंडा सन्स', '102 नॉट आउट' में अभिनय से उन्होंने एक बार फिर दिखा दिया कि बतौर कलाकार अभी वह सिनेमा जगत को और कितना योगदान दे सकते हैं.