गिरती अर्थव्यवस्था को लेकर शत्रुघ्न सिन्हा ने पीएम मोदी पर साधा निशाना, Tweet कर बोले- सर कभी तो बोलिए...

शत्रुघ्न सिन्हा (Shatrughan Sinha) ने गिरती अर्थव्यवस्था को लेकर मोदी सरकार (Modi Government) पर साधा निशाना, ट्वीट कर कही यह बात...

गिरती अर्थव्यवस्था को लेकर शत्रुघ्न सिन्हा ने पीएम मोदी पर साधा निशाना, Tweet कर बोले- सर कभी तो बोलिए...

शत्रुघ्न सिन्हा (Shatrughan Sinha) ने मोदी सरकार पर साधा निशाना

खास बातें

  • शत्रुघ्न सिन्हा ने मोदी सरकार पर साधा निशाना
  • गिरती अर्थव्यवस्था को लेकर बीजेपी पर भड़के एक्टर
  • शत्रुघ्न सिन्हा ने ट्वीट कर कही यह बात
नई दिल्ली:

देश की लगातार घटती आर्थिक विकास दर और GDP को लेकर हाल ही में, पूर्व वित्त मंत्री यशवंत सिन्हा (Yashwant Sinha) ने आर्थिक मोर्चे पर मोदी सरकार को निशाने पर लेते हुए कहा कि भारतीय अर्थव्यवस्था (Indian Economy) 'बहुत गंभीर संकट' में है और मांग लुप्त होती दिख रही है. उन्होंने कहा कि सरकार बार-बार ऐसी 'उत्साह की बातें' करके 'लोगों को मूर्ख' बना रही है कि अगली तिमाही या फिर उसके बाद ही तिमाही में आर्थिक हालात बेहतर हो जाएंगे. अब देश की गिरती अर्थव्यवस्था पर एक्टर और पॉलिटिशियन शत्रुघ्न सिन्हा ने मोदी (PM Modi) सरकार पर जमकर निशाना साधा है.


शत्रुघ्न सिन्हा (Shatrughan Sinha) की देश की गिरती अर्थव्यवस्था पर अपनी चिंता जाहिर करते हुए ट्विटर हैंडल से लिखा, 'सर, केंद्र और राज्य सरकार में अपने प्रदर्शन और समस्याओं को नजरअंदाज करना आपकी मदद नहीं करेगा. यशवंत सिन्हा ने ठीक ही कहा है कि सिर्फ अर्थव्यवस्था का ही संकट नहीं बल्कि लोग भी इस संकट से जूझ रहे हैं. सर, आपकी जानकारी, सूचना, प्रसारण, एक्शन के लिए.' शत्रुघ्न सिन्हा केवल एक ट्वीट करके ही चुप नहीं हुए. उन्होंने एक और ट्वीट किया, जिसमें उन्होंने लिखा, 'प्रतिक्रिया, कभी तो बोलिए सर.'

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


शत्रुघ्न सिन्हा (Shatrughan Sinha) ने आगे लिखा, 'प्लीज सर अपनी पार्टी ट्रोल को लोगों को नीचा दिखाने की जगह, सही चाल और सही लोगों के लिए रखें.' वहीं, आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक, देश की जीडीपी वृद्धि दर (GDP Growth Rate) चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में गिरकर 4.5 प्रतिशत पर आ गई है. यह आर्थिक वृद्धि दर का छह साल से ज्यादा का निचला स्तर है. यशवंत सिन्हा ने कहा, 'तथ्य यह है कि हम गंभीर संकट में हैं. अगली तिमाही या फिर उसके बाद की तिमाही बेहतर होगी यह सब सिर्फ खोखली बातें हैं, जो पूरी होने वाली नहीं है. बारबार यह कहकर सरकार लोगों को मूर्ख बनाने की कोशिश कर रही है कि अगली तिमाही में आर्थिक वृद्धि दर बेहतर हो जाएगी.'

...और भी हैं बॉलीवुड से जुड़ी ढेरों ख़बरें...