सोनाक्षी सिन्हा से पूछा- रामायण में संजीवनी बूटी कौन लाया था? एक्ट्रेस ने दिया करारा जवाब

सोनाक्षी सिन्हा (Sonakshi Sinha) को फिर रामायण (Ramayan) से रिलेटेड सवाल पूछ ट्रोल करने की कोशिश हुई तो एक्ट्रेस ने करारा जवाब दिया है.

सोनाक्षी सिन्हा से पूछा- रामायण में संजीवनी बूटी कौन लाया था? एक्ट्रेस ने दिया करारा जवाब

सोनाक्षी सिन्हा (Sonakshi Sinha)

नई दिल्ली:

सोनाक्षी सिन्हा (Sonakshi Sinha) से केबीसी (KBC) में रामायण (Ramayan) से रिलेटेड एक सवाल पूछा गया था जिसका जवाब एक्ट्रेस नहीं दे सकी थीं. यह सवाल उनका आज भी पीछा नहीं छोड़ रहा है. हाल ही में सोनाक्षी सिन्हा ने फैन्स के साथ QnA सेशन किया. इस दौरान भी फैन्स ने उनसे रामायण से रिलेटेड सवाल पूछा. सोनाक्षी सिन्हा (Sonakshi Sinha) से जब पूछा गया कि 'रामायण में संजीवनी बूटी कौन लाया था'? तो एक्ट्रेस ने जवाब दिया: "आप लोगों में से अधिकतर के पास रामायण से रिलेटेड सवाल है. प्लीज इसे दूरदर्शन पर देखें आपको उत्तर मिल जाएगा. जय बजरंग बली."

ge27kd5

सोनाक्षी सिन्हा (Sonakshi Sinha) ने इस तरह ट्रोल्स को करारा जवाब दिया है. बीते दिनों मुकेश खन्ना (Mukesh Khanna) ने उनके पौराणिक ज्ञान पर भी टिप्पणी की थी. बाद में मुकेश खन्ना की टिप्पणी पर सोनाक्षी सिन्हा के पिता शत्रुघ्न सिन्हा (Shatrughan Sinha) ने उनकी आलोचना की थी. उन्होंने कहा था: "मुझे लगता है रामायण के सवाल का जवाब ना देने पर किसी को सोनाक्षी से दिक्कत है. सबसे पहले रामायण से संबंधित किसी भी चीज को लेकर इस शख्स को किसने एक्सपर्ट बनाया है. और किसने इन्हें हिंदू धर्म का संरक्षक नियुक्त किया है." उन्होंने आगे कहा था: "मुझे अपने तीनों बच्चों पर गर्व है. सोनाक्षी खुद अपने दम पर एक स्टार बनी हैं. मुझे कभी उसके करियर को लॉन्च नहीं करना पड़ा. वह ऐसी बेटी है, जिस पर हर पिता को गर्व हो. रामायण के सवालों का जवाब ना देने पर सोनाक्षी को एक अच्छा हिंदू होने के लिए अयोग्य घोषित नहीं किया जा सकता. उसे किसी के प्रमाण पत्र की आवश्यकता नहीं है."

Newsbeep

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


'महाभारत' (Mahabharat) में दुर्योधन का किरदार निभाने वाले पुनीत इस्सर (Puneet Issar) ने भी मुकेश खन्ना (Mukesh Khanna) की टिप्पणी पर सवाल उठाए थे. उन्होंने 'स्पॉटबॉय' से बात करते हुए कहा था:  "मुकेश खन्ना को और अधिक अनुग्रह दिखाना चाहिए था और अगर सोनाक्षी महाकाव्य से एक तथ्य नहीं जानती तो दुनिया खत्म नहीं हो जाती. मुकेश खन्ना को यह नहीं कहना चाहिए था कि सोनाक्षी एक एवीएम की छात्रा हैं, मेरे बच्चे भी वहां गए थे. यदि वह केबीसी में रामायण के एक प्रश्न का उत्तर नहीं दे सकीं, तो यह दुनिया का अंत नहीं है. किसी की इतनी निंदा क्यों करनी चाहिए. इस उम्र में आपको और सुशोभित होना चाहिए. फल लगते हैं तो पेड़ झुक जाना चहिए."