उत्तराखंड के 173 प्रवासी श्रमिकों को घर भेजने पर आया रिएक्शन, तो सोनू सूद बोले- चलो अब वहीं भी कांडाली का साग...

सोनू सूद (Sonu Sood) इन प्रवासी मजदूरों को उनके मूल निवास भेजने के लिए जी-जान से जुटे हुए हैं. रोजाना उनके कई वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं.

उत्तराखंड के 173 प्रवासी श्रमिकों को घर भेजने पर आया रिएक्शन, तो सोनू सूद बोले- चलो अब वहीं भी कांडाली का साग...

सोनू सूद (Sonu Sood) का ट्वीट वायरल

नई दिल्ली:

बॉलीवुड एक्टर सोनू सूद (Sonu Sood) इन प्रवासी मजदूरों को उनके मूल निवास भेजने के लिए जी-जान से जुटे हुए हैं. रोजाना उनके कई वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं. सोनू सूद के इस मेहनत की खूब तारीफ भी हो रही है और लोग उन्हें अपना मसीहा बता रहे हैं. शुक्रवार को सोनू सूद (Sonu Sood) एयर एशिया इंडिया के एक विमान से मुंबई से 173 प्रवासी मजदूरों को उनके घर उत्तराखंड भेजा. एयरएशिया इंडिया के प्रवक्ता ने बताया कि एयरबस ए320 मुंबई के छत्रपति शिवाजी महाराज अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से दोपहर करीब एक बजकर 57 मिनट पर 173 प्रवासी श्रमिकों को लेकर रवाना हुई.

उत्तराखंड में प्रवासी मजदूरों को उनके घर भेजने के बाद सोनू सूद (Sonu Sood) को लेकर सोशल मीडिया पर जमकर रिएक्शन आ रहे हैं. उत्तराखंड के मुख्यमंत्री से लेकर आम लोग सभी उनकी तारीफ कर रहे हैं. सोनू सूद के लिए जहां तक संभव हो पा रहा है वो ट्वीट के जवाब भी दे रहे हैं. रघु नायडू नाम के ट्विटर यूजर ने सोनू सूद के काम को लेकर ट्वीट किया था, जिसपर अभिनेता ने भी रिएक्शन दिया है. सोनू सूद ने उनको जवाब देते हुए ट्वीट किया: "चलो अब उत्तराखंड में भी कांडाली का साग, गहत की दाल के परांठे पक्के हुए. जल्दी ही मिलते है मेरे उत्तराखंड के नए परिवार से."

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

इससे पहले उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने भी सोनू सूद (Sonu Sood) का आभार जताते हुए ट्वीट किया था. उन्होंने लिखा था: "मैं सोनू सूदजी का हार्दिक आभार व्यक्त करता हूं कि उन्होंने अपने स्वयं के प्रयासों से मुंबई और आसपास के इलाकों में उत्तराखंड के शेष बचे प्रवासियों-जो किसी कारणवश पहले वापस नहीं आ पाए थे. उनके घर भेजने का प्रबंध किया. आपके इस सहयोग के लिए हम आपके सदैव आभारी रहेंगे." सोनू सूद ने भी उनके ट्वीट का जवाब दिया था.

सोनू सूद (Sonu Sood) ने प्रवासी मजदूरों को उत्तराखंड भेजने के बाद कहा था कि आज एक और चार्टर्ड विमान के उड़ान भरने के साथ ही देश के विभिन्न हिस्सों में फंसे प्रवासी श्रमिकों की मदद करने की हमारी कोशिश और मजबूत हुई है. उन्होंने कहा था: "ज्यादातर को कभी विमान से यात्रा करने का मौका नहीं मिला था, और अपने घर-परिवार तक पहुंचने के लिए जब वे एयर एशिया इंडिया के विमान में प्रवेश कर रहे थे तो उनके चेहरे की खुशी देखने लायक थी."