कड़ाके की ठंड और बारिश में आंदोलन कर रहे किसानों पर आया Swara Bhasker का रिएक्शन, बोलीं- दिल तोड़ने वाला...

कृषि कानूनों (Farm Bill) को लेकर कड़ाके की ठंड और बारिश में विरोध प्रदर्शन कर रहे किसानों पर स्वरा भास्कर (Swara Bhasker) का रिएक्शन आया है, उन्होंने ट्वीट कर ये बात कही है.

कड़ाके की ठंड और बारिश में आंदोलन कर रहे किसानों पर आया Swara Bhasker का रिएक्शन, बोलीं- दिल तोड़ने वाला...

स्वरा भास्कर (Swara Bhasker) का ट्वीट हुआ वायरल

खास बातें

  • स्वरा भास्कर का ट्वीट हुआ वायरल
  • सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे किसानों की शेयर कीं तस्वीरें
  • ट्वीट कर कही ये बात
नई दिल्ली:

कृषि कानूनों (Farm Bill) को लेकर सरकार और किसानों के बीच लंबे समय में गतिरोध चल रहा है. कृषि कानूनों के मुद्दे पर किसान संगठनों और सरकार के बीच अभी तक सुलह नहीं हो पाई है. कड़ाके की ठंड और बारिश भी किसानों को रोकने में नाकामयाब साबित हो रही है. दिल्ली-एनसीआर में पिछले तीन दिनों से लगातार तेज बारिश और रूह कंपकंपा देने वाली सर्दी पड़ रही है. हालांकि, इसके बाद भी किसान मजबूती के साथ सिंघू और टिहरी बॉर्डर पर डटे हुए हैं. अब हाल ही में एक्ट्रेस स्वरा भास्कर (Swara Bhasker) ने बारिश में धरने पर बैठे किसानों की कुछ तस्वीरें अपने ट्विटर हैंडल पर शेयर की हैं. 


इन तस्वीरों में देखा जा सकता है कि किसान खुद को बारिश और ठंड से बचाने के लिए किस तरह जद्दोजहद में लगे हुए हैं. कोई अलाव जलाकर ठंड से बचने की कोशिश कर रहा है, तो कोई ट्रक के नीचे छुपकर खुद को बारिश में भीगने से बचा रहा है. इन तस्वीरों को शेयर करते हुए स्वरा भास्कर (Swara Bhasker Twitter) ने कैप्शन में लिखा, "दिल तोड़ने वाला." स्वरा भास्कर के इस ट्वीट पर लोग खूब कमेंट कर रहे हैं और अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com



दूसरी ओर कृषि कानूनों के मुद्दे पर किसान संगठनों और सरकार के बीच आज बैठक शुरू हो गई है. कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग पर अड़े किसान संगठनों के नेताओं का कहना है कि वह बैठक में सरकार के सामने नया विकल्प नहीं रखेंगे. दरअसल, कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने पिछली बैठक में किसान संगठनों से अनुरोध किया था कि कृषि सुधार कानूनों के संबंध में अपनी मांग के अन्य विकल्प दें, जिस पर सरकार विचार करेगी. हालांकि, किसान नेताओं ने आज वार्ता से पहले कहा कि वह बैठक में सरकार के सामने नया विकल्प नहीं रखेंगे.