NDTV Khabar

'करीब करीब सिंगल' की डायरेक्टर का बयान, 'बॉलीवुड में महिला होने के चलते कभी परेशान नहीं हुई'

फिल्म 'करीब करीब सिंगल' की निर्देशक तनुजा चंद्रा का कहना है कि महिला होने के कारण बॉलीवुड में उन्हें कभी किसी दिक्कत का सामना नहीं करना पड़ा.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
'करीब करीब सिंगल' की डायरेक्टर का बयान, 'बॉलीवुड में महिला होने के चलते कभी परेशान नहीं हुई'

'करीब करीब सिंगल' की निर्देशक तनुजा चंद्रा

खास बातें

  1. 'करीब करीब सिंगल' फिल्म की डायरेक्टर हैं तनुजा
  2. बॉलीवुड में महिला को लेकर दिया बयान
  3. तनुजा ने नौ साल बाद वापसी की
नई दिल्ली: फिल्म 'करीब करीब सिंगल' की निर्देशक तनुजा चंद्रा का कहना है कि महिला होने के कारण बॉलीवुड में उन्हें कभी किसी दिक्कत का सामना नहीं करना पड़ा. यह पूछे जाने पर कि क्या फिल्म उद्योग में महिला निर्देशकों के लिए काम करना मुश्किल है, तनुजा ने बताया, लैंगिक आधार पर उतना नहीं होता, बल्कि एक निर्देशक फिल्म बनाने के लिए जिस तरह का विषय चुनता है, उससे अक्सर दिक्कतों का सामना करना पड़ता है.

इरफान खान और कीर्ति कुल्हारी को ‘BLACKमेल’ कर रहा है ये डायरेक्टर, कुछ ऐसी रखी है डिमांड

तनुजा ने कहा, मैंने वास्तव में महिला होने की वजह से कभी भी दिक्कत का सामना नहीं किया, बल्कि मैंने अपनी फिल्मों के लिए जो अलग व असामान्य विषय चुना, उसके लिए मुझे विरोध का सामना करना पड़ा. तो, अगर आप कुछ ऐसा बनाना चाहते हैं जो एक निश्चित सांचे या लेबल या विधा में फिट नहीं बैठता, तो मंजिल पर पहुंचने में आपको मुश्किलों का सामना करना पड़ेगा. 'दुश्मन', 'संघर्ष' और 'सुर-द मेलोडी ऑफ लाइफ' जैसी फिल्में निर्देशित कर चुकीं तनुजा का मानना है कि देश में पर्याप्त संख्या में महिला निर्देशक नहीं हैं.

‘करीब करीब सिंगल’ में मस्तमौला इरफान खान के ये बिंदास डायलॉग बना देंगे आपको उनका फैन

उन्होंने कहा, जब मैंने शुरुआत की, उसके बाद से संख्या में वृद्धि हुई है, लेकिन यह मामूली है. जब फिल्में निर्देशित करने के लिए बहुत, बहुत, बहुत सारी महिला निर्देशक होंगी.. मुझे विश्वास है कि कहानी कहने की शैली बेहतर होगी. फिल्म 'होप एंड अ लिटिल सुगर' (2008) के बाद इरफान के साथ वाली फिल्म से तनुजा ने नौ साल बाद वापसी की. इस लंबे अंतराल के बारे में तनुजा ने कहा कि एक निर्देशक के लिए सफर किसी कलाकार या लेखक, निर्माता की अपेक्षा कहीं ज्यादा लंबा है. 

Movie Review: नए कॉन्सेप्ट, जोरदार इरफान और कमजोर क्लाइमेक्स का कॉकटेल है ‘करीब करीब सिंगल’

पटकथा पर काम करना पड़ता है, फिर निर्माताओं और कलाकारों से संपर्क करना पड़ता है, जिसमें काफी समय लग जाता है. सिर्फ फिल्म की रिलीज के दौरान लोगों का ध्यान इस ओर जाता है. उन्होंने कहा कि इस अंतराल के दौरान वह पटकथा पर काम करती रही और कुछ प्रोजेक्ट शूटिंग के पड़ाव तक पहुंचे, लेकिन बाद में उन्हें रोकना पड़ा. सौभाग्य से 'करीब-करीब सिंगल' के साथ ऐसा नहीं हुआ और यह बनने के बाद सफलतापूर्वक रिलीज हुई. यह फिल्म टीवी चैनल एंड पिक्चर्स पर 17 फरवरी को दिखाई जाएगी। फिल्म में दक्षिण भारतीय अभिनेत्री पार्वती भी हैं.

टिप्पणियां
VIDEO: मीडिया से बात करते हुए शाहरुख खान ने खोले दिल के राज​

(इनपुट आईएएनएस से)

 ...और भी हैं बॉलीवुड से जुड़ी ढेरों ख़बरें...


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement