तहसीन पूनावाला का नागरिकता संशोधन विधेयक पर Tweet, बोले- इसके खिलाफ जनआंदोलन...

लोकसभा (Lok Sabha) में नागरिकता संशोधन विधेयक (Citizenship Amendment Bill) पास होने पर 'बिग बॉस' के एक्स कंटेस्टेंट तहसीन पूनावाला (Tehseen Poonawalla) ने भी ट्वीट किया है और उन्होंने जन आंदोलन की बात कही है.

तहसीन पूनावाला का नागरिकता संशोधन विधेयक पर Tweet, बोले- इसके खिलाफ जनआंदोलन...

तहसीन पूनावाला (Tehseen Poonawalla) ने नागरिकता संशोधन विधेयक पर किया ट्वीट

खास बातें

  • तहसीन पूनावाला ने नागरिकता संशोधन विधेयक पर किया ट्वीट
  • बिग बॉस एक्स कंटेस्टेंट बोले, हमें इसके खिलाफ आंदोलन करना चाहिए
  • तहसीन पूनावाला के ट्वीट ने बटोरी सुर्खियां
नई दिल्ली:

लोकसभा में नागरिकता संशोधन विधेयक (Citizenship Amendment Bill) के पास होने के बाद से ही इस पर चारों तरफ से रिएक्शन आने जारी हैं. सदन में इस बिल के पक्ष में 311, जबकि विरोध में 80 वोट पड़े. बिल को लेकर गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने कहा था कि ये बिल लाखों- करोड़ों शरणार्थियों को यातनापूर्ण जीवन से मुक्ति दिलाने का जरिया बनने जा रहा है. इस बिल को लेकर आम जनता के साथ-साथ बॉलीवुड और टीवी कलाकारों ने भी अपनी राय पेश की है. इस बिल पर बिग बॉस के एक्स कंटेस्टेंट तहसीन पूनावाला (Tehseen Poonawalla) ने भी ट्वीट किया है, जो सोशल मीडिया पर जमकर सुर्खियां बटोर रहा है. 

'मकड़ी' एक्ट्रेस श्वेता बसु प्रसाद पति रोहित मित्तल से हुईं अलग, लिखा- कुछ चीजों को अधूरा छोड़ना ही बेहतर...

अपने ट्वीट में तहसीन पूनावाला (Tehseen Poonawalla) ने नागरिकता संशोधन विधेयक (CAB) के खिलाफ जन आंदोलन करने की आवश्यकता जाहिर की है. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि हमें एक जनआंदोलन नोटबंदी के समय भी करना चाहिए था. सीएबी पर आए तहसीन पूनावाला के इस ट्वीट पर लोग खूब रिएक्शन दे रहे हैं. तहसीन पूनावाला ने अपने ट्वीट में लिखा, "हमें नागरिकता संशोधन बिल के खिलाफ जन आंदोलन करने की जरूरत है. हमें इसे नोटबंदी के समय करना चाहिए था, जो गैर संवैधानिक था और जिससे हम सभी को परेशानी भी हुई. हमने तब ऐसा नहीं किया. हम यहां हैं, हमें अपनी अर्थव्यवस्था के लिए नागरिकता संशोधन बिल के खिलाफ खड़ा होना चाहिए."

अमित शाह के बयान पर भड़के बॉलीवुड डायरेक्टर, बोले- इतिहास लिखने के लिए झूठ...

बता दें कि गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने नागरिकता संशोधन विधेयक (Citizenship Amendment Bill) के बारे में कहा था कि यह बिल शरणार्थियों को नागरिकता देने का काम करेगा. उन्होंने कहा कि यह बिल किसी भी तरह से गैर संवैधानिक नहीं है न ही ये आर्टिकल-14 का उल्लंघन करता है. अमित शाह ने कहा कि इस देश का विभाजन धर्म के आधार पर न होता तो मुझे बिल लाने की जरूरत ही नहीं होती, सदन को ये स्वीकार करना होगा कि धर्म के आधार पर विभाजन हुआ है. जिस हिस्से में ज्यादा मुस्लिम रहते थे वो पाकिस्तान बना और दूसरा हिस्सा भारत बना. अब इस बिल को राज्यसभा में पेश किया जाएगा. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

...और भी हैं बॉलीवुड से जुड़ी ढेरों ख़बरें...