GDP ग्रोथ में भारत को पछाड़ने जा रहा है बांग्लादेश तो उर्मिला मातोंडकर बोलीं- हमें क्या, हम तो...

अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) की एक रिपोर्ट के मुताबिक, प्रति व्यक्ति सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) के मामले में बांग्लादेश भारत को पछाड़ते हुए आगे निकलने को तैयार है. इस बात को लेकर बॉलीवुड एक्ट्रेस उर्मिला मातोंडकर (Urmila Matondkar) ने ट्वीट किया .

GDP ग्रोथ में भारत को पछाड़ने जा रहा है बांग्लादेश तो उर्मिला मातोंडकर बोलीं- हमें क्या, हम तो...

उर्मिला मातोंडकर (Urmila Matondkar) ने भारतीय जीडीपी को लेकर किया ट्वीट

खास बातें

  • जीडीपी ग्रोथ में भारत को पछाड़ने के लिए तैयार बांग्लादेश
  • आईएमएफ की रिपोर्ट को लेकर उर्मिला मातोंडकर ने किया ट्वीट
  • उर्मिला मातोंडकर का ट्वीट हुआ वायरल
नई दिल्ली:

अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) की एक रिपोर्ट के मुताबिक, प्रति व्यक्ति सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) के मामले में बांग्लादेश भारत को पछाड़ते हुए आगे निकलने को तैयार है. इस बात को लेकर बॉलीवुड एक्ट्रेस उर्मिला मातोंडकर (Urmila Matondkar) ने ट्वीट किया है, जो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है. अपने ट्वीट में उर्मिला मातोंडकर ने लिखा कि हमें क्या, हम तनिष्क माफी मांग और सेक्युलरिज्म के मायने निकालने में व्यस्त हैं. उर्मिला मातोंडकर का यह ट्वीट सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है, साथ ही लोग इसपर जमकर कमेंट भी कर रहे हैं. 

Newsbeep

उर्मिला मातोंडकर (Urmila Matondkar) ने बांग्लादेश (Bangladesh) की बढ़ती जीडीपी (GDP) पर ट्वीट करते हुए लिखा, "अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष, यानी आईएमएफ ने अनुमान लगाया है कि प्रति व्यक्ति जीडीपी के मामले में बांग्लादेश भारत को पीछे छोड़ने के नजदीक पहुंच गया है. पर हमें क्या, हम तनिष्क माफी मांग और सेक्युलरिज्म के मायने निकालने में व्यस्त रहते हैं. जयहिंद." बता दें कि तनिष्क के विज्ञापन को लेकर सोशल मीडिया पर विवाद बढ़ता ही जा रहा है. यहां तक कि गांधीधाम में मौजूद तनिष्क के स्टोर मैनेजर को विज्ञापन को लेकर धमकियां भी दी गई हैं. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


वहीं, जीडीपी की बात करें तो अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF)-वर्ल्ड इकोनॉमिक आउटलुक (WEO) के मुताबिक, साल 2020 में बांग्लादेश की प्रति व्यक्ति जीडीपी 4 फीसदी बढ़कर 1,888 डॉलर होने की उम्मीद है, जबकि भारत की प्रति व्यक्ति जीडीपी 10.3 प्रतिशत घटकर 1,877 डॉलर रहने की उम्मीद है जो कि पिछले चार वर्षों में सबसे कम है. आईएमएफ ने अनुमान जताया है कि इस साल भारत की जीडीपी में 10.3 फीसदी की गिरावट आ सकती है. भारत के लिए आईएमएफ का यह अनुमान जून में किए गए पूर्वानुमान से बहुत नीचे है, जिसमें कहा गया है कि कोरोनोवायरस महामारी की वजह से उभरते बाजारों में सबसे बड़ा संकुचन देखने को मिल सकता है.