बॉलीवुड डायरेक्टर विशाल भारद्वाज ने दी नसीहत, बोले- 'सराब' को 'शराब' ना पढ़ें ना बोलें...

विशाल भारद्वाज (Vishal Bhardwaj) उस समय खुद को ट्वीट करने से नहीं रोक पाए जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने 'सराब' को 'शराब' कहा, और ट्विटर पर ये ट्रेंड बन गया.

बॉलीवुड डायरेक्टर विशाल भारद्वाज ने दी नसीहत, बोले- 'सराब' को 'शराब' ना पढ़ें ना बोलें...

विशाल भारद्वाज (Vishal Bhardwaj) ने ट्विटर (Twitter) पर यूं दिया रिएक्शन

खास बातें

  • पीएम नरेंद्र मोदी ने 'सराब' को कहा था 'शराब'
  • ट्विटर पर खूब आए थे कमेंट
  • बॉलीवुड डायरेक्टर ने दे डाली ये नसीहत
नई दिल्ली:

बॉलीवुड डायरेक्टर, प्रोड्यूसर और म्यूजिक कम्पोजर विशाल भारद्वाज (Vishal Bhardwaj) उस समय खुद को ट्वीट करने से नहीं रोक पाए जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने 'सराब' को 'शराब' कहा, और ट्विटर पर ये ट्रेंड बन गया. 'मकड़ी', 'कमीने', 'ओंकारा' और 'मकबूल' जैसी यादगार फिल्में देने वाले विशाल भारद्वाज (Vishal Bhardwaj) ने ट्विटर पर मशहूर शायर मीर तकी मीर का शेर साझा किया है और नसीहत दी है कि 'सराब' को 'शराब' न कहें. वैसे भी इन दोनों ही शब्दों के मायने एकदम अलग हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने अपनी रैली के दौरान सपा (SP), बसपा (BSP) और रालोद (RLD) के शुरू के अक्षर लेकर 'सराब' बनाया था.

उर्मिला मातोंडकर मुंबई नॉर्थ से लड़ेंगी चुनाव तो बॉलीवुड प्रोड्यूसर बोले- जमानत भी नहीं बचा पाएंगी...

बॉलीवुड डायरेक्टर विशाल भारद्वाज (Vishal Bhardwaj) ने अपने ट्विटर एकाउंट पर लिखाः हस्ती अपनी हबाब की सी है. ये नुमाइश सराब की सी है. -मीर तक़ी मीर. सराब को शराब ना पढ़े ना बोलें...' इस तरह विशाल भारद्वाज ने बहुत ही खूबसूरती के साथ शब्दों के गलत इस्तेमाल की ओर ध्यान डाला है, साथ ही उन्होंने हल्के-फुल्के अंदाज में तंज भी कसा है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने अपने भाषण के दौरान सपा, बसपा और रालोद को 'सराब' बताया था और जनता से कहा था कि उनसे दूर रहने की जरूरत है.

Kesari Box Office Collection Day 8: जारी है केसरी की धाकड़ कमाई, पहले हफ्ते में बना डाला यह रिकॉर्ड

वैसे भी लोकसभा चुनाव 2019 (Lok Sabha Elections 2019) को लेकर माहौल काफी गर्म है, और हर पार्टी बहुत ही आक्रामक ढंग से प्रचार कर रही है. विशाल भारद्वाज को एक अलग ही ढंग का सिनेमा बनाने के लिए पहचाना जाता है और वे बहुत ही शानदार म्यूजिक भी कंपोज करते हैं. विशाल भारद्वाज (Vishal Bhardwaj) ने बच्चों के लिए 'मकड़ी' और 'ब्लू अम्ब्रेला' जैसी फिल्में बनाई हैं. इसके साथ ही उनकी 'हैदर', 'सात खून माफ' और 'इश्किया' भी लोकप्रिय फिल्में हैं. 53 वर्षीय विशाल भारद्वाज उत्तर प्रदेश के बिजनौर के रहने वाले हैं.  

...और भी हैं बॉलीवुड से जुड़ी ढेरों ख़बरें...

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com