NDTV Khabar

जब दिलीप कुमार, अमिताभ बच्चन के साथ फिल्म करने से पीछे हट गए थे शाहरुख खान

सुभाष घई ने अपनी मल्टी-स्टारर ड्रीम फिल्म की स्टारकास्ट के बारे में बात करते हुए कहा, "शाहरुख (खान) का कहना था कि फिल्म में बहुत ज़्यादा कैरेक्टर हैं... वह उस वक्त सोलो हीरो वाली फिल्म करना चाहते थे, और मेरी फिल्म वैसी नहीं थी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
जब दिलीप कुमार, अमिताभ बच्चन के साथ फिल्म करने से पीछे हट गए थे शाहरुख खान
नई दिल्‍ली: 'बॉलीवुड के शहंशाह' अमिताभ बच्चन और 'ट्रेजेडी किंग' दिलीप कुमार ऐसे नाम हैं, जिनके साथ कैमरे के सामने आना किसी का भी ख्वाब हो सकता है, लेकिन 'बॉलीवुड के बादशाह' कहलाने वाले शाहरुख खान इन दोनों दिग्गजों के साथ काम करने से भी पीछे हट गए थे, क्योंकि वह 'सोलो हीरो फिल्म' करना चाहते थे, यानी जिसमें वह अकेले ही नायक हों... दरअसल, बॉलीवुड के जाने-माने निर्माता-निर्देशक सुभाष घई वर्ष 2003 में एक वॉर-फिल्म (युद्ध पर आधारित फिल्म) बनाने वाले थे, जिसका नाम 'मदर लैंड' (मातृभूमि) होना था... सुभाष घई इस फिल्म में शाहरुख खान के अलावा दिलीप कुमार और अमिताभ बच्चन के साथ भी काम करने वाले थे...

सुभाष घई ने समाचार एजेंसी पीटीआई को बताया, "2003 में, मैं 'मदर लैंड' शीर्षक से एक वॉर-फिल्म पर काम शुरू करना चाहता था, जिसमें मैं दिलीप कुमार, अमिताभ बच्चन और शाहरुख खान को लेना चाहता था... स्क्रिप्ट तैयार थी, और तीन गीत भी रिकॉर्ड हो चुके थे, लेकिन आखिरी समय पर शाहरुख खान पीछे हट गए..."

यह भी पढ़ें: शाहरुख खान ने अपने तीनों बच्‍चों का Photo शेयर कर लिखा, 'मेरी बुराइयां...'

पीटीआई ने कहा कि वर्ष 1997 में शाहरुख खान के साथ 'परदेस' में काम कर चुके सुभाष घई ने बताया कि शाहरुख खान उस वक्त ऐसी फिल्म करना चाहते थे, जिसमें वह अकेले हीरो हों, और चूंकि उनका प्रोजेक्ट ऐसा नहीं था, इसलिए शूटिंग ही शुरू नहीं हो पाई...

 यह भी पढ़ें: ...तो इस वजह से अचानक फिल्मों से गायब हो गई थीं महिमा चौधरी

सुभाष घई ने अपनी मल्टी-स्टारर ड्रीम फिल्म की स्टारकास्ट के बारे में बात करते हुए कहा, "शाहरुख (खान) का कहना था कि फिल्म में बहुत ज़्यादा कैरेक्टर हैं... वह उस वक्त सोलो हीरो वाली फिल्म करना चाहते थे, और मेरी फिल्म वैसी नहीं थी... वह फिल्म दिलीप साहब, अमिताभ बच्चन और शाहरुख की कहानी थी... फिल्म के लिए मेरी विशलिस्ट में ऐश्वर्या राय, प्रीति ज़िंटा और महिमा चौधरी भी थीं, लेकिन बस, यही किस्मत है..."
 
 यह भी पढ़ें: सामने आया शाहरुख खान की नई फिल्म का First Look, बौना बन कैटरीना-अनुष्का के साथ फरमाएंगे इश्क

सुभाष घई ने इस बातचीत में यह जानकारी भी दी कि महिमा चौधरी की पहली फिल्म 'परदेस' कैसे बनी... पीटीआई के मुताबिक, उन्होंने बताया, "मैंने 'परदेस' से पहले एक और फिल्म 'शिखर' की तैयारी की थी, जिसमें जैकी श्रॉफ और शाहरुख होते, और उनके साथ एक नई लड़की को कास्ट किया जाना था... 'शिखर' एक प्रेम कहानी थी, जिसकी पृष्ठभूमि में युद्ध भी था... हमने उसका मुहूर्त कर लिया था, और एआर रहमान को साइन करने के बाद एक गीत भी रिकॉर्ड कर लिया था... 'इश्क बिना क्या जीना यारों...' (बाद में यह गीत अनिल कपूर, अक्षय खन्ना और ऐश्वर्या राय की फिल्म 'ताल' में इस्तेमाल हुआ) दरअसल 'शिखर' का ही गीत था..."

 यह भी पढ़ें: शाहरुख खान और रणवीर सिंह से क्रिसमस 2018 में पंगा लेंगी नई नवेली सारा अली खान

'परदेस' के सुपरहिट हो जाने और ढेरों अवॉर्ड जीत लेने के बाद सुभाष घई ने वर्ष 1999 में एक और हिट फिल्म 'ताल' बनाई... उस फिल्म के लिए अनिल कपूर को फिल्मफेयर अवॉर्ड भी मिला था, और 'ताल' का चयन वर्ष 2005 के एबरफेस्ट : रोजर एबर्ट के फिल्म फेस्टिवल के लिए हुआ तथा उसकी स्क्रीनिंग 2014 के इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल ऑफ इंडिया के दौरान भी किया गया...

 यह भी पढ़ें: Fans ने किया घंटों इंतजार फिर बेटे अबराम के साथ मिलने पहुंचे शाहरुख खान...

वैसे, सुभाष घई ने शाहरुख खान के साथ वर्ष 1995 की 'त्रिमूर्ति' में भी काम किया था, जो फ्लॉप रही थी... इस वक्त शाहरुख खान आनंद एल राय की अनाम फिल्म की शूटिंग में व्यस्त हैं, जिसमें उनके साथ कैटरीना कैफ तथा अनुष्का शर्मा भी काम कर रही हैं...

(इनपुट पीटीआई से भी)

VIDEO: फिल्‍म रिव्‍यू : सोनाक्षी और सिद्धा‍र्थ की ‘इत्तेफाक’ में सस्‍पेंस तो है पर एक्टिंग कमजोर

टिप्पणियां


...और भी हैं बॉलीवुड से जुड़ी ढेरों ख़बरें...
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement