Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

इसलिए वर्ल्ड बॉक्सिंग चैंपियनशिप पदक जीतने वाले को ओलिंपिक क्वालीफायर में मिलेगा सीधे प्रवेश

इसलिए वर्ल्ड बॉक्सिंग चैंपियनशिप पदक जीतने वाले को ओलिंपिक क्वालीफायर में मिलेगा सीधे प्रवेश

रूम में होगी आगामी वर्ल्ड बॉक्सिंग चैंपियनशिप (प्रतीकात्मक तस्वीर)

खास बातें

  • हाई परफॉर्मेस निदेशक सैंटियागो नीवा ने दी यह जानकारी
  • विजेंदर सिंह ने 2009 में इटली में जीता था कांस्य पदक
  • IOA ने AIBA ओलिंपिक क्वालीफायर आयोजित करने से रोक दिया है
नई दिल्ली:

रूस में होने वाली वर्ल्ड चैंपियनशिप (2019 AIBA World Boxing Championships) में पदक जीतने वाले भारतीय बॉक्सरों को अगले साल ओलिंपिक क्वालीफायर के लिए राष्ट्रीय टीम में सीधे प्रवेश मिलेगा. बॉक्सिंग के हाई परफॉर्मेस निदेशक सैंटियागो नीवा ने यह जानकारी दी. रूस में होने वाली वर्ल्ड चैंपियनशिप को ओलिंपिक क्वालीफायर दर्जा हासिल नहीं है. अंतरराष्ट्रीय ओलिंपिक समिति (International Olympic Committee) ने अंतरराष्ट्रीय बॉक्सिंग संघ (International Boxing Association) को 2020 टोक्यो ओलिंपिक के लिए क्वालीफायर आयोजित करने से रोक दिया है.

इस वजह से हुई रूसी मुक्केबाज मैक्सिम दादाशेव की मौत

एआईबीए में प्रशासनिक और वित्तीय अनियमितताओं के आरोपों के कारण यह फैसला लिया गया. आईओए ने क्वालीफायर्स भी अपने हाथ में ले लिए हैं. यह प्रक्रिया जनवरी में शुरू होगी जब एशिया ओशियाना क्षेत्र के क्वालीफायर खेले जाएंगे. अभी इसकी तारीख तय नहीं हुई है. नीवा ने कहा, 'वर्ल्ड चैंपियनशिप में पदक जीतने वालों को ओलिंपिक क्वालीफायर टीम में सीधे प्रवेश मिलेगा. बाकियों को ट्रायल देने होंगे.' 

खुद को 'बच्चा' बताने से बॉक्‍सर नीरज गोयत खफा, विजेंदर सिंह को दे डाली यह चुनौती...

वर्ल्ड चैंपियनशिप सात से 15 सितंबर तक रूस में खेली जाएगी. भारत ने इस चैंपियनशिप में चार कांस्य पदक जीते हैं जिनमें से पहला विजेंदर सिंह ने 2009 में इटली में जीता था. वह 2015 में पेशेवर मुक्केबाज बन गए. विकास कृष्णन ने 2011, शिवा थापा ने 2015 और गौरव विधुड़ी ने 2017 में कांस्य पदक जीते. (इनपुट: IANS)

वीडियो: बॉक्‍सर विजेंदर सिंह से खास बातचीत