NDTV Khabar

मैरीकॉम ने हाई-फाई मुकाबला तो जीता, लेकिन गाली-गलौज छोड़ गया सवाल

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
मैरीकॉम ने हाई-फाई मुकाबला तो जीता, लेकिन गाली-गलौज छोड़ गया सवाल

निकहत जरीन की इस मैच के जरिए अपनी चली आ रही जायज मांग पूरी हो गई

खास बातें

  1. मैरीकॉम ने जीता 9-1 से मुकाबला
  2. ओलिंपिक क्वालीफायर मुकाबले में करेंगी भारत का प्रतिनिधित्व
  3. निकहत जरीन की पूरी हुई जायज मांग
नई दिल्ली:

दिल्ली में शनिवार को सबसे कम तापमान 1.7 डिग्री सेंटीग्रेड तक दर्ज किया गया. क़रीब 11:30 बजे दिल्ली के इंदिरा गांधी इंडोर स्टेडियम के बाहर भी ठंड का असर ज़रूर दिखा. वहां आए दर्शक और पत्रकार इस मैच से जुड़े विवाद और जीत की अटकलों के बीच गर्माहट बढ़ाते रहे. टोक्यो ओलिंपिक के ट्रॉयल्स से पहले अटकलबाज़ पत्रकार एक्सपर्ट्स की तरह ठोस राय भी देते रहे. मैरीकॉम और निकहत जरीन के वॉर्म-अप को वहां मौजूद कैमरों ने क्रिकेट जैसी तवज्जो भी दी. दिन के पांच में से तीसरे मुक़ाबले में मैरीकॉम और निकहत के बीच टक्कर शुरू हुई तो पहले राउंड में दोनों बॉक्सर्स एक-दूसरे को सिर्फ़ आंकती ही रहीं. दूसरे और तीसरे राउंड में भी बेहद कम पंच कनेक्ट होते दिखे. निर्णय आखिरकार 9-1 से मैरीकॉम के पक्ष में रहा.

यह भी पढ़ें:  कुछ ऐसे मेरीकॉम ने निकहत जरीन को हराकर पाया ओलिंपिक ट्रॉयल में हिस्सा लेने का हक


मुकाबले के दौरान और फौरन बाद रिंग के बाहर 'जय तेलंगाना'...'मैरी..मैरी' ...'निख़त...निख़त...' के नारे लगते रहे. तेलंगाना बॉक्सिंग संघ के कुछ अधिकारी आपे से बाहर भी चले गए. भारतीय बॉक्सिंग संघ के अध्यक्ष अजय सिंह को बीच-बचाव के लिए रिंग तक आना पड़ा. लेकिन इस झड़प में वो भी ख़फ़ा हो गए पत्रकार यहां तक दावा करते रहे कि दोनों खिलाड़ियों और उनके समर्थकों के बीच गाली-गलौज भी हुई है.

यह भी पढ़ें:  दानिश कनेरिया एक बार फिर नए आरोपों के साथ पाकिस्तान सरकार और पीसीबी पर बरसे

ये तय हो गया है कि एक बार फिर टोक्यो के टिकट के लिए 51 किलोग्राम वर्ग में मैरीकॉम ही भारतीय महिला बॉक्सिंग टीम की नुमाइंदगी करेंगी. रिकॉर्ड 6 बार की वर्ल्ड चैंपियन मैरीकॉम ने दिल्ली में हुए ट्रॉयल्स में निकहत जरीन को शिकस्त देकर ओलिंपिक क्वालिफायर्स के लिए अपना नाम पक्का कर लिया. निकहत से बाद में गले ना मिलने के सवाल पर उन्होंने कहा, "मैं करीब 20 साल से बॉक्सिंग कर रही हूं. आप  क्या कह रही हैं. पहले रिंग में अपने आपको साबित करो."

टिप्पणियां

VIDEO:  पिंक बॉल बनने की पूरी कहानी जान लीजिए, स्पेशल स्टोरी. 

इन सबके बीच पत्रकार और दूसरे लोगों की नज़र बॉकी के चार अहम मुक़ाबलों पर शायद ही गई. वर्ल्ड चैंपियनशिप की सिल्वर मेडल विजेता सरिता देवी का सफ़र यहीं खत्म हो गया, जबकि साक्षी चौधरी, सिमरनजीत सिंह, लवलिना बोर्गोहैन और पूजा रानी ने मैरीकॉम के साथ भारतीय टीम में जगह बना ली है. अब ओलिंपिक क्वालिफ़ाइंग में इनके इम्तिहान चीन के वुहान में फरवरी 2020 में होंगे.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... राजगढ़ के थप्पड़ कांड को लेकर हाई कोर्ट ने राज्य सरकार और कलेक्टर से जवाब मांगा

Advertisement