NDTV Khabar
होम | बजट

बजट

  • वोटिंग से पहले दिल्ली के CM अरविंद केजरीवाल को चुनाव आयोग का नोटिस
    दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) को वोटिंग से ठीक एक दिन पहले चुनाव आयोग (Election Commission) ने नोटिस जारी किया है. चुनाव आयोग ने नोटिस जारी कर शनिवार शाम पांच बजे तक केजरीवाल से जवाब मांगा है.
  • ''शाहीन बाग BJP का किया हुआ 10 दिन का तमाशा'', पढ़ें अरविंद केजरीवाल की NDTV से 15 खास बातें
    दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने सोमवार को NDTV इंडिया से कई मुद्दों पर बातचीत की. उन्होंने दिल्ली चुनाव के मद्देनजर न सिर्फ बीजेपी सरकार पर जमकर हमला बोला, बल्कि शाहीन बाग पर राजनीति को लेकर भी बयान दिए. उन्होंने भाजपा के पूर्व अध्यक्ष और गृह मंत्री अमित शाह पर भी निशाना साधा. साथ ही दिल्ली में बेरोजगारी, सड़क, पानी, बिजली, कैंटीन आदि पर भी अपनी राय दी. आइए पढ़ते हैं इंटरव्यू में 15 बिंदुओं पर की गई बातें...
  • नई आयकर व्यवस्था में भी वीआरएस में मिलने वाली पांच लाख रुपये तक की राशि पर नहीं लगेगा कोई टैक्‍स
    वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बेशक आयकर की नई व्यवस्था में अब तक मिलने वाली कई रियायतों और छूट को समाप्त करने की घोषणा कर दी है लेकिन सरकार का कहना है कि नई कर व्यवस्था में भी पेंशन, एनपीएस निकासी के अलावा वीआरएस में मिलने वाली पांच लाख रुपये तक की राशि पर कर छूट उपलब्ध होगी.
  • Budget 2020: NRI को बजट से झटका,  विदेश में टैक्स न देने वालों को भारत में देना होगा टैक्स 
    आयकर अधिनियम की धारा 6 में संशोधन करते हुए, बजट ने प्रस्तावित किया कि "क्लॉज (1) में कुछ भी नहीं होने के बावजूद, एक व्यक्ति - भारत का नागरिक होने के नाते - किसी भी पिछले वर्ष में भारत में निवासी माना जाएगा, यदि वह किसी अन्य देश या क्षेत्र में उसके निवास या समान प्रकृति के किसी भी अन्य मानदंड के कारण कर के लिए उत्तरदायी नहीं है. 
  • Budget 2020: अल्पसंख्यकों पर मेहरबान मोदी सरकार, 6 साल में 1500 करोड़ रुपये बढ़ाया बजट
    अब तक मोदी सरकार की ओर से पेश सभी बजट पर नजर डालें तो 6 साल के कार्यकाल में अल्पसंख्यक मंत्रालय का बजट 1500 करोड़ रुपये तक बढ़ चुका है. भाजपा सूत्रों का कहना है कि सरकार 'सबका साथ, सबका विकास' के मूलमंत्र के साथ काम कर रही है.
  • बजट 2020 को लेकर स्मृति ईरानी का राहुल गांधी पर तंज, पूछा- क्या उन्हें समझ भी आया?
    स्मृति ईरानी से जब राहुल गांधी की बजट पर प्रतिक्रिया को लेकर सवाल किया गया तो उन्होंने कहा, 'मैं उनके सामने बैठी थी. बजट की आधी स्पीच के दौरान वो आंखें बंद करके बैठे हुए थे. आर्थिक मुद्दों पर की जाने वाली घोषणा के दौरान वो बाहर चले गए. बजट भाषण के दौरान जब निर्मला जी अस्वस्थ हो गईं तो वो गैलरी में खड़े हंस रहे थे. अगर कोई महिला स्वस्थ नहीं है तो क्या आप हसेंगे. क्या उन्हें बजट समझ में भी आया.'
  • पीएम मोदी ने बजट 2020 को बताया
    बजट पर अपनी प्रतिक्रिया में मोदी ने कहा, "मैं इस दशक के पहले बजट के लिए, जिसमें विजन भी है, एक्शन भी है, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण जी और उनकी टीम को बहुत-बहुत बधाई देता हूं." उन्होंने कहा, "बजट में जिन नए सुधारों का ऐलान किया गया है, वो अर्थव्यवस्था को गति देने, देश के प्रत्येक नागरिक को आर्थिक रूप से सशक्त करने और इस दशक में अर्थव्यवस्था की नींव को मजबूत करने का काम करेंगे.
  • LIC में हिस्सा बेचने की सरकार की योजना का कर्मचारी संघों ने किया विरोध
    वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि भारतीय जीवन बीमा निगम (LIC) को सरकार के निवेश पहल के हिस्से के तौर पर सूचीबद्ध किया जाएगा. उन्होंने 2020- 21 के लिए बजट पेश करते हुए कहा कि सरकार का एलआईसी में आईपीओ के जरिये अपनी कुछ हिस्सेदारी बेचने का प्रस्ताव है. 
  • रक्षा बजट में मामूली बढ़ोतरी, विशेषज्ञों के अनुसार 1962 के बाद से सबसे कम
    वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा शनिवार को लोकसभा में पेश किए गए आम बजट के मुताबिक कुल रक्षा आवंटन में 1.13 लाख करोड़ रुपये पूंजीगत व्यय के लिए दिए गए हैं. इसका इस्तेमाल नए हथियार, वायुयान, युद्धपोत और अन्य सैन्य उपकरण खरीदने के लिए किया जाएगा. 
  • पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने बजट 2020 पर उठाए सवाल, कहा- अब अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने की उम्मीद छोड़ चुकी है सरकार?
    पूर्व वित्त मंत्री ने दावा किया कि सरकार अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने, निजी निवेश को प्रोत्साहित करने और रोजगार के अवसर पैदा करने की उम्मीद छोड़ चुकी है. उन्होंने कहा, ''सरकार यह नहीं मान रही है कि अर्थव्यवस्था संकट में है. सरकार सुधार में यकीन नहीं करती.'' चिदंबरम ने सवाल किया, ''क्या वित्त मंत्री ने आर्थिक समीक्षा नहीं पढ़ी? मुझे लगता है कि नहीं पढ़ी.''
  • देश के टॉप 100 संस्थानों में पढ़ पाएंगे कमजोर वर्ग के छात्र, मिलेगी ऑनलाइन डिग्री
    वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शनिवार को कहा कि देश के शीर्ष 100 शैक्षणिक संस्थान उन छात्रों के लिए डिग्री स्तर का एक ऑनलाइन शिक्षण कार्यक्रम आरंभ करेंगे जो समाज के वंचित तबके से संबंध रखते हैं और जिनकी उच्च शिक्षा तक पहुंच नहीं है. सीतारमण ने संसद में वित्त वर्ष 2020-2021 के लिए बजट पेश करते हुए कहा कि जल्द ही नई शिक्षा नीति की घोषणा की जाएगी और सरकार अगले वित्त वर्ष में शिक्षा क्षेत्र के लिए 99,300 करोड़ रुपये और कौशल विकास के लिए 3,000 करोड़ रुपये आवंटित करने का प्रस्ताव रखती है.
  • Budget 2020: बजट में शिक्षा और युवाओं को क्या-क्या मिला? विस्तार से जानें यहां...
    वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने शनिवार को अपना दूसरा आम बजट पेश किया. वित्त मंत्री अपने बजट में गांव, गरीब और किसानों के साथ-साथ युवाओं के लिए भी कई योजनाओं की घोषणा की.
  • Budget 2020: बहुचर्चित मामलों की जांच के बोझ में दबे CBI के बजट में मामूली बढ़ोतरी
    वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा शनिवार को पेश आम बजट में CBI के लिए 2019-20 के 798 करोड़ के मुकाबले 2020-2021 में 802.19 करोड़ रुपये आवंटित किए गए हैं. यह राशि पिछले साल के मुकाबले महज 0.5 फीसदी अधिक है. अधिकारियों ने बताया कि सीमित मानव संसाधन के साथ एजेंसी प्रत्यर्पण के मामलों को देख रही है.
  • Budget 2020: यहां समझें, हमारी अर्थव्यवस्था में रुपया कहां से आएगा और कहां जाएगा
    वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने शनिवार को लोकसभा में वित्त वर्ष 2020-21 के लिए आम बजट पेश किया. बजट पेश करते हुए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि वित्त वर्ष 2020-21 में जीडीपी वृद्धि दर 10 फीसदी रहने का अनुमान है. वहीं वित्त मंत्री ने नए टैक्स दरों का ऐलान करते हुए कई बड़े ऐलान किए हैं. बजट के बाद रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि बजट नये और आत्मविश्वासी भारत की रूपरेखा देता है, यह आने वाले वर्षों में देश को स्वस्थ एवं समृद्ध बनाएगा.
  • Budget 2020: बजट पेश होने के बाद आईं नेताओं और पार्टियों की प्रतिक्रियाएं, जानिए किसने क्या कहा?
    संसद में शनिवार को बजट 2020-21 पेश कर दिया गया. वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट भाषण देते हुए आने वाले वित्त वर्ष के लिए तमाम योजनाओं की घोषणा की.
  • बजट 2020: देश में खुलेगा राष्ट्रीय पुलिस विश्वविद्यालय, राष्ट्रीय फॉरेंसिक विज्ञान विश्वविद्यालय
    वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने शनिवार को कहा कि सरकार ने राष्ट्रीय पुलिस विश्वविद्यालय (National Police University) और राष्ट्रीय फॉरेंसिक विज्ञान विश्वविद्यालय की स्थापना का प्रस्ताव रखा है. सीतारमण ने 2020-21 का बजट पेश करते हुए कहा कि शिक्षा क्षेत्र के लिए 99,300 करोड़ रुपये का आवंटन किया गया है और कौशल विकास के लिए 3,000 करोड़ रुपये दिए गए हैं.
  • वित्तमंत्री ने किया है राहत का दावा, लेकिन हो सकता है, नई दरें अपनाने पर देना पड़े ज़्यादा इनकम टैक्स
    केंद्रीय वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने इनकम टैक्स ढांचे को सरल करते हुए मिडिल क्लास को राहत देने का दावा किया है, लेकिन असलियत यह है कि यह राहत सिर्फ उन लोगों को मिल पाएगी, जो किसी भी तरह की बचत नहीं कर पाते, जो किराये के मकान में नहीं रहते, या जिन्होंने होम लोन नहीं लिया है.
  • बजट 2020-21 से किसे क्या मिला? पढ़ें वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के ये 8 बड़े ऐलान
    वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने शनिवार को लोकसभा में वित्त वर्ष 2020-21 के लिए आम बजट पेश किया. बजट पेश करते हुए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि वित्त वर्ष 2020-21 में जीडीपी वृद्धि दर 10 फीसदी रहने का अनुमान है. वहीं वित्त मंत्री ने नए टैक्स दरों का ऐलान करते हुए कई बड़े ऐलान किए हैं. बजट के बाद रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि बजट नये और आत्मविश्वासी भारत की रूपरेखा देता है, यह आने वाले वर्षों में देश को स्वस्थ एवं समृद्ध बनाएगा. बजट में सभी वर्गों के कल्याण और विकास पर स्पष्ट ध्यान केंद्रित है, इसमें किसानों पर विशेष ध्यान दिया गया है. वहीं, कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने वित्त वर्ष 2020-21 के लिए पेश हुए आम बजट को खोखला करार देते हुए शनिवार को कहा कि इसमें कुछ ठोस नहीं था और बेरोजगारी से निपटने को लेकर कुछ नहीं कहा गया है. उन्होंने संसद परिसर में मीडिया से कहा, 'मुख्य मुद्दा बेरोजगारी है. मुझे इसमें कोई ऐसा विचार नहीं दिखा जो रोजगार पैदा करने के लिए हो.' गांधी ने कहा कि यह इतिहास का सबसे लंबा बजट भाषण हो सकता है लेकिन इसमें कुछ ठोस नहीं था. इसमें पुरानी बातों को दोहराया गया है.
  • Budget 2020: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट में क्या-क्या किया ऐलान, हिंदी में पढ़ें पूरा भाषण
    वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने बजट (Budget 2020-21) भाषण में कई बड़े ऐलान किए. वित्त मंत्री ने टैक्‍स स्‍लैब में बड़े बदलाव का ऐलान किया. साथ ही बजट में जब वित्त मंत्री ने 2020-21 में GDP की अनुमानित विकास दर 10 फीसदी का अनुमान जताया तो संसद में हूटिंग जमकर हूटिंग भी हुई. बता दें कि बजट में एलआईसी, टैक्स पेयर चार्टर, नेशनल भर्ती एजेंसी, किसानों के कर्ज को लेकर, रेलवे, शिक्षा समेत तमाम योजनाओं पर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कई बड़े ऐलान किए हैं. इसके लिए आप हिंदी पढ़ सकते हैं पूरा भाषण...
  • Union Budget 2020 India:सपा ने बजट को 'कॉमेडी आफ्टरनून विद निर्मला सीतारमण' बताया
    आई.पी. सिंह के ट्विटर अकाउंट पर उनके द्वारा जारी की गई पोस्ट में आगे लिखा गया, "प्रधानमंत्री शिक्षा बजट 94 हजार करोड़ से 99 हजार करोड़ की कर पाए. इतना छोटा दिल क्यों दिखा रहे हैं आप मोदी जी, छात्रों के लिए? छात्रों के विकास के बिना देश का विकास होगा? अमेरिका क्या मूर्ख है, जो जीडीपी का अहम हिस्सा शिक्षा पर खर्च करता है? खैर, जो खुद कभी पढ़ा न हो...
12345»

Advertisement

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com