बजट से पहले अर्थव्‍यवस्‍था पर कांग्रेस का रिपोर्ट कार्ड, पूछा - कहां हैं नौकरियां और निवेश?

बजट से पहले अर्थव्‍यवस्‍था पर कांग्रेस का रिपोर्ट कार्ड, पूछा - कहां हैं नौकरियां और निवेश?

अर्थव्‍यवस्‍था की हालत पर कांग्रेस ने जारी किया रिपोर्ट कार्ड

खास बातें

  • इसे इकोनॉमिक सर्वे से पहले विपक्ष का रिपोर्ट कार्ड कहा जा रहा है
  • डॉ. मनमोहन सिंह ने कहा कि देश की अर्थव्‍यवस्‍था अच्‍छी हालत में नहीं है
  • '10 साल से ज्‍यादा वक्‍त तक यूपीए ने 7 फीसदी की विकास दर दी थी'
नई दिल्‍ली:

वित्त मंत्री अरुण जेटली 1 फरवरी को आम बजट पेश करने वाले हैं. प्रधनमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्‍व वाली सरकार दावा करती रही है कि उनके शासनकाल में देश लगातार तरक्‍की की राह पर अग्रसर है और विकास दर ऊंची बनी हुई है. साथ ही पूरी दुनिया में भारत की विकास गाथा की चर्चा है. कांग्रेस ने सोमवार को केंद्र सरकार के दावों के मद्देनजर अर्थव्‍यवस्‍था की हालत पर रिपोर्ट कार्ड जारी किया. पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने देश की अर्थव्‍यवस्‍था पर 'स्‍टेट ऑफ इकोनॉमी' नाम की रिपोर्ट जारी की. इसे इकोनॉमिक सर्वे से पहले विपक्ष का रिपोर्ट कार्ड कहा जा रहा है. इस मौके पर पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा कि देश की अर्थव्‍यवस्‍था अच्‍छी हालत में नहीं है और रेटिंग एजेंसियों ने भारतीय अर्थव्‍यवस्‍था की साख घटा दी है. उन्‍होंने कहा कि मोदी जी का नेतृत्‍व और नीति देश के लिए हानिकारक हैं.

मनमोहन सिंह ने कहा, 'आईएमएफ के मुताबिक भारत की विकास दर 6.6 फीसदी से कम है. कई अन्‍य एजेंसियों ने भी कुछ ऐसा ही अनुमान जताया है जिस पर मैं कुछ भी नहीं कहना चाहूंगा. लोग खुद अब आकंड़ेबाजी से अलग सवाल करते हैं. उन्‍होंने कहा, 'हम उम्‍मीद कर रहे थे कि एनडीए विकास दर बनाए रखेगी लेकिन ऐसा नहीं हुआ.'

इस मौके पर पूर्व वित्तमंत्री पी चिदंबरम ने कहा कि यह रिपोर्ट कार्ड काफी रिसर्च के बाद जारी किया जा रहा है. उन्‍होंने कहा कि यूपीए के 10 साल के शासनकाल में 7 फीसदी की विकास दर थी. लेकिन आज लोग पूछ रहे हैं कि नौकरियां कहां हैं, नया निवेश कहां है. उन्‍होंने सवाल किया कि व्‍यवसायों को बढ़ाने के लिए आखिर कैसे मदद की जा रही है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com