Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar
होम | आम बजट 2018

आम बजट 2018

  • इनकम टैक्स से जुड़े 10 नियम-कानून, जो अप्रैल, 2018 से बदलने जा रहे हैं...
    वित्तवर्ष 2018-19 के आम बजट में वित्तमंत्री अरुण जेटली ने इनकम टैक्स के स्लैब तथा दरों में कोई बदलाव नहीं किया, लेकिन फिर भी कुछ परिवर्तनों का प्रस्ताव रखा है, जिनसे बहुत-से टैक्सपेयर प्रभावित होंगे... दरअसल, वर्ष 2018-19 के वार्षिक बजट में शेयरों व इक्विटी म्यूचुअल फंडों पर लगने जा रहे लॉन्ग-टर्म कैपिटल गेन टैक्स से लेकर वरिष्ठ नागरिकों को ब्याज से होने वाली आय पर राहत तक कई बदलाव किए गए हैं... वित्तमंत्री ने एक ओर वेतनभोगियों के लिए नई मानक कटौती (स्टैंडर्ड डिडक्शन) का प्रस्ताव रखा है, लेकिन साथ ही इनकम टैक्स पर लगने वाले सेस की दर को एक फीसदी बढ़ा दिया है... इनमें से ज़्यादातर परिवर्तन 1 अप्रैल को वित्तवर्ष 2018-19 शुरू होते ही प्रभावी हो जाएंगे...
  • मोदी सरकार ने वित्तीय समझदारी छोड़ दी है : कांग्रेस
    वरिष्ठ कांग्रेस पूर्व केंद्रीय वित्तमंत्री पी. चिदंबरम ने नरेंद्र मोदी सरकार पर वित्तीय समझदारी का परित्याग व राजकोषीय घाटे की स्थिति को बिगाड़ने का आरोप लगाया. उन्होंने सवाल किया कि दो करोड़ सालाना नौकरियां देने का दावा करने वाली सरकार ने पिछले चार साल में अंतर्राष्ट्रीय श्रम संगठन (आईएलओ) के मानकों के अनुसार कितने लोगों को रोजगार दिया है? राज्यसभा में सत्तापक्ष द्वारा किए जा रहे शोरगुल के बीच वरिष्ठ कांग्रेस नेता ने सरकार से 12 सवाल किए. 
  • बजट में बदले लॉन्ग-टर्म कैपिटल गेन टैक्स के नियम - अब बचत के लिए यही दो योजनाएं हैं सबसे मुफीद
    वित्तवर्ष 2018-19 के आम बजट में केंद्रीय वित्तमंत्री अरुण जेटली ने लॉन्ग टर्म कैपिटल गेन टैक्स की जद में म्यूचुअल फंड भी ला दिए, और अब इनकम टैक्स कटौती के बाद हाथ आने वाली अपनी तनख्वाह में से टैक्स-फ्री निवेश के विकल्प और भी घट गए हैं...
  • मोदी सरकार की सबसे बड़ी स्वास्थ्य बीमा योजना का गैर BJP राज्यों में विरोध, येचुरी ने कहा-राज्यों पर बोझ न डालें
    1 फरवरी को जब वित्त मंत्री अरुण जेटली ने बजट पेश करते हुए दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य बीमा योजना का एलान किया तो सुनने में ये बेहद आकर्षक योजना लगी लेकिन जल्द ही इस योजना के क्रियान्वन पर सवाल भी खड़े हो गए. केंद्र ने इसका एलान तो कर दिया लेकिन अब वो राज्य जहां बीजेपी की सरकार नहीं है वो इससे काफ़ी नाराज़ है क्योंकि इस योजना को लागू करने के लिए केंद्र के साथ-साथ राज्यों को भी काफ़ी पैसा इसके लिए देना होगा.
  • हेल्थ बीमा योजना एक क्रांतिकारी कदम : केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा
    स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री जेपी नड्डा  ने कहा है कि 'आयुष्‍मान भारत' योजना इस देश की आर्थिक और सामाजिक क्षेत्र में क्रांतिकारी परिवर्तन लाने वाला साबित होगा.
  • शेयरों पर कैपिटल गेन टैक्‍स लगने से सेंसेक्स 840 अंक टूटा, निफ्टी भी गिरा
    मोदी सरकार के बजट 2018 के पेश होने के एक दिन बाद शुक्रवार को शेयर बाजार में भारी गिरावट रही. निवेशकों की बिकवाली से बंबई शेयर बाजार का संवेदी सूचकांक 840 अंक टूट गया. पिछले ढाई साल में यह एक दिन की सबसे बड़ी गिरावट है.
  • आम बजट-2018 से बिफरी बीजेपी की सहयोगी शिवसेना, टीडीपी भी निराश
    केंद्रीय बजट 2018 से बीजेपी के समर्थक काफी खुश हैं वहीं, विरोधी दलों के अलावा बीजेपी के साथ सत्ता में शामिल कुछ दल नाराज हैं. बजट 2018 पर शिवसेना ने नाराजगी जताई है जबकि आंध्र प्रदेश से सहयोगी दल टीडीपी ने भी बजट पर निराशा जताई है. शिवसेना की ओर से पार्टी प्रमुख उद्धव ठाकरे के बेटे आदित्य ठाकरे ने बात रखी है. आदित्य ने मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के ट्वीट पर रिएक्शन दिया है. देवेंद्र फडणवीस ने बजट में मुंबई में ट्रेनों के विस्तार के लिए दिए गए 40 हजार करोड़ रुपये की घोषणा के बाद मुंबई वासियों को जश्न मनाने के लिए कहा. इस ट्वीट पर आदित्य ठाकरे ने अपनी प्रतिक्रिया दी. 
  • आम बजट-2018 : अगर आप शेयर बाजार में निवेश करते हैं तो यह 10 बातें जानना आपके लिए है जरूरी
    मोदी सरकार के बजट 2018 के अगले दिन शेयर बाजार में गिरावट का दौर देखने को मिला. जानकारों का मानना है कि बजट में फिस्कल घाटे के ज्यादा होने और लंबी अवधि के कैपिटल गेन पर टैक्स लगाने के सरकार के फैसले से यह गिरावट देखी जा रही है. आज सुबहर बीएसई में करीब 300 अंकों की गिरावट दर्ज की गई जबकि निफ्टी 10950 के कारोबार करने लगा. अंतरराष्ट्रीय बाजार में भी घरेलू शेयरों को नुकसान दिखाई दे रहा है. वे भी आज कमजोर खुले. गुरुवार की तुलना में रुपया भी 64.02 से फिसलकर 64.18 पर आ गया. 
  • आम बजट की घोषणाओं के बाद आज शेयर बाजार हुआ लाल, सेंसेक्स 550 और निफ्टी 150 अंक से नीचे गिरा
    मोदी सरकार के बजट 2018 के अगले दिन शेयर बाजार में गिरावट का दौर देखने को मिला. जानकारों का मानना है कि बजट में फिस्कल घाटे के ज्यादा होने और लंबी अवधि के कैपिटल गेन पर टैक्स लगाने के सरकार के फैसले से यह गिरावट देखी जा रही है
  • मोदी सरकार के आखिरी पूर्ण बजट के बाद सोनिया गांधी ने राष्ट्रहित में विपक्षी दलों से एक होने की अपील की
    कांग्रेस की अगुवाई में शुक्रवार को विपक्षी पार्टियों की एक बैठक हुई. इस बैठक में सोनिया गांधी ने तमाम विपक्षी पार्टियों से राष्ट्रीय मुद्दों पर एकजुट होने का आह्वान किया. संसद की लाइब्रेरी में हुई इस बैठक में 17 दलों ने हिस्सा लिया. सोनिया ने कहा कि राज्यों के मुद्दों पर बेशक विपक्षी दलों की राय अलग हो लेकिन राष्ट्रीय मुद्दों पर सबको बीजेपी के ख़िलाफ़ एकजुट होने की ज़रूरत है. 
  • मोदी सरकार के आखिरी पूर्ण बजट के खिलाफ आरएसएस के सहयोगी संगठन का आज प्रदर्शन
    मोदी सरकार के आख़िरी बजट से मिडिल क्लास और नौकरीपेशा वर्ग के साथ-साथ भारतीय मज़दूर संघ भी निराश है. आरएसएस के सहयोगी संगठन ने बजट को निराशाजनक बताते हुए शुक्रवार को देशव्यापी प्रदर्शन का ऐलान किया है.
  • देश की सुरक्षा पर पिछले साल की तुलना में 7.81 फीसदी अधिक खर्च करेगी सरकार
    देश की सुरक्षा के लिए सरकार ने बजट में 7.81 प्रतिशत की वृद्धि कर दी है. वित्तीय वर्ष 2018-19 में रक्षा बजट के लिए 2.95 लाख करोड़ रुपए आवंटित किए गए हैं.
  • अल्पसंख्यक मंत्रालय के बजट में 505 करोड़ रुपये की बढ़ोतरी
    सरकार ने वर्ष 2018-19 के लिए केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय के बजट आवंटन में करीब 505 करोड़ रुपए की बढ़ोतरी की है.
  • लोकपाल के बजट में कोई बढ़ोतरी नहीं, सीवीसी के बजट में मामूली बढ़ोतरी
    लोकपाल के बजट में कोई बदलाव नहीं हुआ है और वर्ष 2018-19 में इसके लिए 4.29 करोड़ रुपए का आवंटन किया गया है.
  • बजट में कॉर्पोरेट टैक्स में कटौती से छोटी कंपनियों को बड़ी राहत
    वित्त मंत्री अरुण जेटली ने इस बार सबसे बड़ी राहत 250 करोड़ तक के कारोबार वाली छोटी कंपनियों को दी. उन पर अब 25 फ़ीसदी कॉर्पोरेट टैक्स लगेगा. इसका फ़ायदा देश की उन 99 फ़ीसदी कंपनियों को मिलेगा जिन पर नोटबंदी-जीएसटी का काफी असर पड़ा था.
  • मोदी सरकार के बजट को लेकर बीजेपी के बागी नेता यशवंत सिन्हा ने कही यह बड़ी बात
    भाजपा के बागी नेता एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा ने गुरुवार को पेश किये गये केन्द्र सरकार के बजट को निराशाजनक बताया है. यशवंत सिन्हा ने कहा कि ‘उम्मीद थी कि यह बजट कृषि और ग्रामीण क्षेत्र के लिये महत्वपूर्ण और शुभ समाचार लेकर आयेगा. लेकिन कृषि क्षेत्र के साथ-साथ यह बजट शिक्षा, स्वास्थ और रोजगार की दृष्टि से निराशाजनक रहा.’
  • प्राइम टाइम इंट्रो : आम बजट में आम आदमी को क्या मिला?
    मोदी सरकार का पांचवा बजट पेश हो गया. आप इस और पहले के सभी बजट को सामने रखते हुए 2014 के बाद आई सरकार की आर्थिक नीतियों, प्रगतियों और नतीजों का मूल्यांकन कर सकते हैं. बताया जाता है कि मिडिल क्लास खुश नहीं है क्योंकि टैक्स में छूट नहीं मिली, शेयर मार्केट से कमाई पर टैक्स लगेगा.
  • बजट पर राहुल गांधी का तंज, 'शुक्र है' सरकार का केवल एक साल बचा है
    कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने बजट को लेकर केंद्र सरकार पर प्रहार करते हुए कहा कि पिछले चार वर्षों में केवल वादे किए गए हैं और 'शुक्र है कि' मोदी सरकार का केवल एक साल बचा हुआ है. राहुल ने ट्विटर पर लिखा कि राजग सरकार के चार साल बीत गए, लेकिन यह किसानों से उनके उत्पादों के बारे में उचित मूल्य के केवल वादे कर रही है.
  • बजट में 10 करोड़ परिवारों को मेडिकल बीमा का लाभ और किसानों को बड़ी राहत, 10 बड़े ऐलान
    वित्तमंत्री अरुण जेटली ने मोदी सरकार का अंतिम पूर्णकालिक बजट पेश किया. इस बजट में पीएम मोदी के 'न्‍यू इंडिया' की झलक देखने को मिली. वित्तमंत्री अरुण जेटली ने अपने बजट भाषण में कई योजनाओं का ऐलान किया. वो अपने बजट भाषण में वे किसान, गरीब, युवा, गृहणी, उद्यमी सबों को खुश करते नजर आए. वित्तमंत्री जेटली ने किसानों को लागत मूल्‍य से 50 फीसदी ज्‍यादा देने की घोषणा की है. तो चलिए जानते हैं बजट भाषण की 10 खास बातें.
  • क्या वित्त मंत्री ने लागत मूल्य पर किसानों से झूठ बोला?
    2018-19 के लिए एक क्विंटल गेहूं का भाव तय हुआ है 1735 रुपये. गेहूं की उत्पादन लागत है 1256 रुपये और आर्थिक लागत है 2345 रुपये. दोनों भाव के अनुसार 1735 रुपया कहीं से भी लागत का डेढ़ गुना नहीं होता है. अगर डेढ़ गुना होता तो उत्पादन लागत के अनुसार एक क्विंटल गेहू का भाव होता 1884 रुपया और आर्थिक लागत के अनुसार भाव होता 3517 रुपये.
12345»

Advertisement