NDTV Khabar
होम | आम बजट 2019

आम बजट 2019

  • अंतरिम बजट पर बोले अरुण जेटली, 5 लाख तक की आय पर कर छूट से मध्यम वर्ग को लाभ
    केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली ने शुक्रवार को कहा कि बजट में पांच लाख रुपये तक की आय पर आयकर माफ करने के सरकार के निर्णय से देश के मध्यम वर्ग को फायदा होगा. जेटली ने फेसुबक पर एक पोस्ट में लिखा कि वित्त मंत्री पीयूष गोयल द्वारा अंतरिम बजट में की गयी इस महत्वपूर्ण घोषणा से मध्यम वर्ग की क्रय शक्ति बढ़ेगी. 
  • बजट में दो शब्द शिक्षा और रोजगार गायब, सरकार की नीति 'पकौड़ानॉमिक्स' की : चिदंबरम
    पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री और कांग्रेस नेता पी चिदंबरम ने मोदी सरकार द्वारा पेश बजट की आलोचना की है. उन्होंने कहा कि रोजगार को लेकर इस सरकार की नीति 'पकौड़ानॉमिक्स' की है.
  • बजट 2019: कुमार विश्वास बोले- अब 'भक्त' इसे सदी का सबसे महान बजट बताएंगे
    Budget 2019: कुमार विश्वास (Dr Kumar Vishwas) ने नरेंद्र मोदी सरकार के अंतरिम बजट पर प्रतिक्रिया व्यक्त की है. कहा है कि अब भक्त इसे सदी का सबसे महान बजट बताएंगे तो विरोधी भी बिना पढ़े देश के खिलाफ बताएंगे.
  • कुछ कल्पवासियों को निराकार तो कुछ को साकार नज़र आया अंतरिम बजट
    प्रयागराज के कुंभ में कल्पवासी एक महीने तक गंगा के किनारे जप तप और साधना में लगे रहते हैं. जिससे धर्म की नगरी में हर तरफ अध्यात्म नज़र आता है, लेकिन यहां रहने वाले लोग सांसारिक होते हैं. लिहाजा सांसारिक दुनिया से अलग कैसे हो सकते हैं. इसी वजह से बजट के दिन भजन पूजन के बाद कल्पवास कर रहे लोग मोबाईल पर अंतरिम बजट देखते नज़र आये.
  • बजट पर सीपीएम ने कहा- सरकार किसानों को भीख की कटोरी क्यों पकड़ा रही?
    केंद्र सरकार द्वारा पेश किए गए बजट पर सीपीएम ने नाखुशी जाहिर की है और उद्योग जगत भी इससे खुश नहीं हुआ. सीपीएम ने कहा है कि सरकार किसानों को भीख की कटोरी क्यों पकड़ा रही है? एसोचैम ने कहा है कि कार्पोरेट टेक्स से राहत की उम्मीद थी जो पूरी नहीं हुई.
  • राहुल गांधी बोले, EVM पर भ्रम दूर करना जरूरी, सोमवार को मिलेंगे चुनाव आयोग से
    कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने एक बार फिर EVM को लेकर सरकार पर निशाना साधा है. शुक्रवार को उन्होंने कहा कि इस मुद्दे पर हम सोमवार को चुनाव आयोग से मिलेंगे. लोगों के दिमाग में ईवीएम को लेकर शक है. हमें उनका भ्रम दूर करना चाहिए. हम लोगों ने ईवीएम को लेकर दस्तावेज तैयार किया है.
  • बजट 2019: मोदी सरकार के आखिरी बजट को समझें 19 प्वाइंट में, जानें- किसे हुआ फायदा, कौन रहा खाली हाथ?
    केंद्रीय वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने शुक्रवार को संसद में बजट पेश करते हुए किसानों, कामगार तबके और मध्यम वर्ग को ध्यान में रखते हुए कई घोषणाओं का ऐलान किया. इस साल होने वाले लोकसभा चुनाव का असर इस बजट में देखने को मिला है, मोदी सरकार ने उन सभी तबकों को इस बजट के जरिए साधने की कोशिश की है, जो चुनाव परिणाम को प्रभावित कर सकते हैं. वित्त मंत्री ने छोटे किसानों को सालाना 6,000 रुपये की न्यूनतम सहायता देने और पांच लाख रुपए तक सालाना आय वालों को कर से मुक्ति दी है. इतना ही नहीं उन्होंने कामगार वर्ग के लोगों के लिए पीएम श्रम योगी मानधन वृहद पेंशन योजना भी शुरू करने का ऐलान किया है, जिसके तहत 60 साल की उम्र के बाद हर महीने तीन हजार रुपये पेंशन मिलेगी.
  • बजट 2019: अखिलेश यादव बोले- एक साल के बजट में दस साल आगे की झूठी बात है
    Budget 2019: समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव(Akhilesh Yadav) ने नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) सरकार के इस बजट (Budget) पर तंज कसा है.
  • वित्त मंत्री ने बजट में पेश किया विजन-30, जानें- अगले दस साल में कौनसे दस काम करेगी सरकार
    वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने शुक्रवार को संसद में अंतरिम बजट 2019-20 पेश किया. उन्होंने कहा कि सरकार ने देश के अहम मुद्दों को ध्यान में रखते हुए अगले एक दशक के लिए एक विजन पेश किया है. उन्होंने कहा कि हम एक ऐसे भारत का निर्माण करेंगे, जहां गरीबी, कुपोषण, गंदगी और निरक्षरता बीते समय की बातें होंगी. साथ ही उन्होंने कहा कि भारत एक आधुनिक, प्रौधोगिक से संचालित, उच्च विकास के साथ एक समान और पारदर्शी समाज होगा. परिकल्पना-30 में वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने बताया है कि अगले दस साल में कौनसे दस काम करेगी सरकार...
  • अंतरिम बजट में नहीं बढ़ा यात्री किराया और माल भाड़ा 
    अंतरिम बजट में यात्री किराये और माल भाड़े में कोई बढ़ोतरी नहीं की गई है. वित्त मंत्री पीयूष गोयल द्वारा शुक्रवार को पेश किए गए अंतरिम बजट में रेलवे के लिए 1.58 लाख करोड़ रुपये के पूंजीगत व्‍यय आवंटन की घोषणा की गई है. यह रेलवे के लिए अब तक की सबसे बड़ी वार्षिक पूंजीगत खर्च की योजना है. इससे पहले वित्त मंत्री अरुण जेटली ने पिछले साल अपने बजट में रेलवे के लिए 1.48 लाख करोड़ रुपए आवंटित किए थे.
  • स्‍टैंडर्ड डिडक्‍शन अब 50 हजार : जानिए आप हैं किस स्लैब में और कितने हजार का होगा फायदा
    आम चुनाव से ठीक पहले मोदी सरकार के वित्तमंत्री पीयूष गोयल ने आयकर में छूट दिए जाने की घोषणा कर वेतनभोगियों के लिए खुश करने की कोशिश की है. पीयूष गोयल ने कहा कि पांच लाख रुपये तक की आय वालों को अब कोई टैक्‍स नहीं देना होगा. अब स्‍टैंडर्ड डिडक्‍शन 40 हजार की जगह 50 हजार होगी.
  • किसान को आधा कप चाय की कीमत देकर अपनी पीठ थपथपा रही सरकार : रणदीप सुरजेवाला
    सरकार के अंतरिम बजट पर प्रतिक्रिया जताते हुए कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि खोदा पहाड़ निकली चुहिया.किसानों को 6 हजार सालाना देने का ऐलान किया लेकिन डीजल की कीमत बढ़ाकर, खाद, बीज, कीटनाशक की कीमत बढ़ाकर.. सामानों पर GST लगाकर बोझ डाल रखा है.
  • वो काम जिनके दम पर मोदी उतरेंगे चुनावी अखाड़े में...
    चुनावी साल में घोषणाओं की झड़ी लगाकर मोदी सरकार ने सर्दी में सावन का एहसास करा दिया. अभी दो दिन भी नहीं हुए थे इस ख़बर को पढ़ते हुए कि देश में 45 वर्ष में बीते वित्‍तवर्ष सबसे ज्‍यादा बेरोज़गारी दर्ज की गई है. वित्तमंत्री पीयूष गोयल ने तमाम आलोचनाओं को खारिज करते हुए अपने भाषण में सपनों का संसार गुलाबी कर दिया.
  • बजट 2019 : जिनकी आय पांच लाख तक, सिर्फ उन्हें होगी 13,000 रुपये के इनकम टैक्स की बचत
    इसके अलावा, पिछले दो सालों की तरह 1 फरवरी को ही पेश किए गए बजट में वित्तमंत्री ने पिछले साल मेडिकल और परिवहन खर्च के नाम पर शुरू की गई मानक कटौती को भी 40,000 रुपये से बढ़ाकर 50,000 रुपये कर दिया है, जो सब पर लागू होगी. इनकम टैक्स एक्ट की धारा 80सी के तहत निवेश पर मिलने वाली कर छूट की सीमा को नहीं बढ़ाया गया है, और वह अब भी डेढ़ लाख रुपये ही है, सो, अगर कैलकुलेट कर देखें, तो अब ऐसा कोई शख्स, जिसका 80सी में निवेश डेढ़ लाख रुपये है, और जिसने 10,000 रुपये बैंक से ब्याज के रूप में अर्जित किए हैं, उसे 6,60,000 रुपये तक की कुल आय होने पर कोई टैक्स नहीं देना होगा.
  • Budget 2019: PM मोदी की पहली प्रतिक्रिया- यह गरीब को शक्ति, किसान को मज़बूती और अर्थव्यवस्था को नया बल देगा
    पीएम मोदी ने साथ ही कहा, 'देश का एक बहुत बड़ा वर्ग आज अपने सपनें साकार करने में और देश के विकास को गति देने में लगा हुआ है. उनके लिए सरकार ने अपनी प्रतिबद्धता दोहराई है. इस बजट से 3 करोड़ से ज्यादा मध्यम वर्ग के टैक्स देने वालों को और 30-40 करोड़ श्रमिकों को सीधा लाभ मिलना तय हुआ है. सरकार के प्रयासों से आज देश में गरीबी रिकॉर्ड गति से कम हो रही है. देश का एक बहुत बड़ा वर्ग आज अपने सपनें साकार करने में और देश के विकास को गति देने में लगा हुआ है. उनके लिए सरकार ने अपनी प्रतिबद्धता दोहराई है. देश में बढ़ते मीडिल क्लास की आशा-आक्षांका को कुछ हौसला मिले, इसके लिए हमारी सरकार ने अपनी प्रतिबद्धता दिखाई है. मैं मीडिल क्लास को इनकम टैक्स में मिली छूट के लिए बधाई देता हूं.
  • 5 रुपये में भरपेट खाना मिलने का दावा करने वाली कांग्रेस से BJP आज एक कदम आगे निकली
    कांग्रेस जहां अपने कार्यकाल में गरीबों को 5 रुपये और 12 रुपये में भरपेट खाना मिलने का दावा करती थी तो बीजेपी ने आज एक कदम आगे बढ़ते हुए 17 रुपये हर रोज के हिसाब से किसानों को मदद करने का ऐलान कर डाला है. आपको याद होगा जब साल 2013 में जब डॉ. मनमोहन सिंह की अगुवाई में यूपीए सरकार लोकसभा चुनाव की तैयारी कर रही थी तो उस समय कांग्रेस के कुछ नेताओं के बयान पार्टी की जमकर फजीहत करा रहे थे.
  • राहुल गांधी ने बजट को बताया, 'आखिरी जुमला बजट', कहा- डियर NoMo, किसानों  को 17 रुपये प्रतिदिन देकर की उनकी बेइज्जती
    केंद्रीय वित्त मत्री पीयूष गोयल ने संसद में वित्त वर्ष 2019-2020 का अंतरिम बजट पेश करते हुए कहा कि छोटे और सीमांत किसानों को निश्चित आय सहायता उपलब्ध कराने के लिए सरकार ने प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (पीएम-किसान) की शुरूआत की है. गोयल ने कहा कि इस योजना के तहत दो हेक्टेयर तक की जोत वाले किसान परिवारों को 6,000 रुपये प्रति वर्ष सहायता उपलब्ध कराई जाएगी. यह राशि 2,000-2,000 की तीन किस्तों में प्रत्यक्ष लाभ अंतरण (डीबीटी) के जरिए सीधे किसानों के बैंक खातों में भेजी जाएगी. इस कार्यक्रम के लिए केंद्र सरकार धन उपलब्ध कराएगी.
  • Budget 2019: चुनाव से पहले मिड्ल क्लास को तोहफा, किसानों को सालाना मदद, हिंदी में पढ़ें पीयूष गोयल का पूरा भाषण
    मोदी सरकार ने आम चुनाव से पहले शुक्रवार को पेश अपने आखरी बजट (budget 2019) प्रस्तावों में किसानों, मजदूरों और मध्यम वर्ग को लुभाने के लिये कई बड़ी घोषणायें की हैं.
  • Budget 2019: किसानों, सैलरी क्लास, टैक्सपेयर्स को मोदी सरकार के आखिरी बजट में क्या मिला, देखें पूरी लिस्ट
    interim budget 2019: सरकार ने आम चुनाव से पहले बृहस्पतिवार को पेश अपने आखरी बजट प्रस्तावों में किसानों, मजदूरों और मध्यम वर्ग को लुभाने के लिये कई बड़ी घोषणायें की हैं.
  • बजट में ऐलान: रेहड़ी-पटरी वाले, रिक्शा चालक और कूड़ा बीनने वालों को हर महीने मिलेगी 3000 रुपये पेंशन
    निर्माण मजदूर, बीड़ी बनाने वाले, हथकरघा कामगार, रेहड़ी-पटरी वाले, रिक्शा चालक, कूड़ा बीनने वाले, खेती कामगार, चमड़ा कामगार और ऐसे ही काम करने वाले अन्य कामगारों को इसका फायदा मिलेगा. करीब 42 करोड़ कामगारों को इससे फायदा होगा. इसका नाम 'प्रधानमंत्री श्रम-योगी मानधन वृहद पेंशन योजना' रखा जाएगा. इस योजना के तहत यह पेंशन 60 साल की उम्र के बाद मिलेगी. इसके लिए कामगारों को 29 साल की उम्र में इस पेंशन योजना से जुड़ने के लिए असंगठित क्षेत्र के कामगार को 100 रुपये मासिक 60 साल की उम्र तक देना होगा. अगर कामगार की उम्र 18 साल है तो उसे हर महीने 55 रुपये देने होंगे. सरकार भी हर महीने उसे पेंशन खाते में इतनी ही रकम जाम कराएगी.
«123456789»

Advertisement

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com