NDTV Khabar

टैक्स रिटर्न न भरने वाली 9 लाख कंपनियों पर सरकार की टेढ़ी नजर, जल्‍द होगी कार्रवाई

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
टैक्स रिटर्न न भरने वाली 9 लाख कंपनियों पर सरकार की टेढ़ी नजर, जल्‍द होगी कार्रवाई

केंद्रीय राजस्व सचिव हसमुख अधिया ने कहा, PMO द्वारा गठित कार्य बल लगातार इन कंपनियों पर हर पखवाड़े निगरानी रख रही हैं. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: केंद्रीय राजस्व सचिव हसमुख अधिया ने शनिवार को कहा कि पंजीकरण के बाद कंपनी मामलों के मंत्रालय को टैक्स रिटर्न न भरने वाली नौ लाख कंपनियां लगातार सरकार की निगरानी में हैं. प्रवर्तन निदेशालय दिवस के मौके पर यहां अधिया ने कहा, "पंजीकृत 15 लाख कंपनियों में से सिर्फ छह लाख कंपनियां ही टैक्स रिटर्न भरती आ रही हैं. आठ से नौ लाख कंपनियों ने पंजीकरण के तुरंत बात टैक्स रिटर्न भरना बंद कर दिया और संभव है कि ये कंपनियां धन शोधन में लिप्त हों."

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री कार्यालय द्वारा गठित कार्य बल लगातार इन कंपनियों पर हर पखवाड़े निगरानी रख रही हैं. उन्होंने कहा, "हमने इनमें से धन शोधन में लिप्त होने की आशंका वाली कुछ कंपनियों को नोटिस जारी किया है और प्रधानमंत्री कार्यालय द्वारा गठित कार्य बल के साथ समन्वय बनाए हुए हैं."

अधिया ने कहा कि बैंक ऑफ बड़ौदा से संबद्ध 6,000 करोड़ रुपये का मामला स्पष्ट संकेत देता है कि इन दिनों कारोबार के जरिए धन शोधन तेजी से हो रहा है, जो फर्जी कंपनियों के जरिए अवैध तरीके से किया जा रहा है.

फर्जी कंपनियों पर लगाम लगाने के उद्देश्य से सरकार ने फरवरी में देशव्यापी अभियान शुरू किया और ऐसी कंपनियों के खिलाफ 'सख्त दंडात्मक कार्रवाई' करने का फैसला किया, जिसमें इस तरह की कंपनियों के बैंक खाते जब्त करना शामिल है. प्रवर्तन निदेशालय ने भी सख्त कार्रवाई करते हुए इन फर्जी कंपनियों की चल-अचल संपत्तियां जब्त की हैं और पिछले दो महीने में कई अधिकारियों को गिरफ्तार भी किया है.

टिप्पणियां
ईडी ने इस दौरान 11,289 करोड़ रुपये की संपत्तियां जब्त कीं और 104 मामलों में धन शोधन निवारण अधिनियम के तहत मुकदमे शुरू किए.

इस अवसर पर राजस्व सचिव ने ईडी के काम की भी सराहना की और आश्वस्त किया कि ईडी में नियुक्तियां बढ़ाई जाएंगी और इसकी निगरानी प्रणाली को सुदृढ़ करने के लिए अत्याधुनिक प्रौद्योगिकी मुहैया कराई जाएगी. (इनपुट आईएएनएस से)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement