Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

अरहर और उड़द के बाद अब चना दाल महंगाई की चपेट में

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
अरहर और उड़द के बाद अब चना दाल महंगाई की चपेट में

खास बातें

  1. सरकार के लिए बना नया सिरदर्द
  2. पिछले 10 दिनों में तेजी से बढ़े इसके दाम
  3. जमाखोरी और कयासबाजी को बताया जा रहा वजह
नई दिल्‍ली:

अरहर दाल की कीमतों पर नकेल कसने का रास्ता तलाश रही सरकार को अब एक नए सिरदर्द से निपटना पड़ रहा है। दिल्ली के खुदरा बाज़ार में चना दाल का खुदरा दाम अब तक के सबसे ऊंचे स्‍तर 120 रुपये प्रति किलो तक पहुंच गया है।

अशोक खुराना चालीस साल से सेंट्रल दिल्ली के साउथ एवेन्यू इलाके में किराना दुकान चलाते हैं। मंगलवार को चना दाल जब थोक बाज़ार में 110 रुपये किलो पहुंच गई तो उन्होंने उपभोक्ताओं को चना दाल 120 रुपये के रेट पर बेचनी शुरू कर दी।

ये संकट दिल्ली के थोक और खुदरा बाज़ार तक ही सीमित नहीं है। खाद्य मंत्रालय के मुताबिक पिछले दस दिन में चना दाल देश के 17 शहरों में 7 रुपये प्रति किलो या उससे ज़्यादा महंगी हो गई है। सबसे ज़्यादा महंगी दिल्ली में बिक रही है।

टिप्पणियां

पिछले दस दिन में चना दाल के दाम सबसे ज़्यादा अंबिकापुर में 20 रुपये किलो, अमृतसर  में 16 रुपये, जयपुर में 15 रुपये, करनाल  में 12 रुपये, तिरूवनंतपुरम में 12 रुपये और कोयंबटूर में 12 रुपये प्रति किलो बढ़े हैं।


एनडीटीवी ने जब इस बारे में खाद्य मंत्री रामविलास पासवान से पूछा तो उन्होंने कहा, "चना दाल की सप्लाई और प्रोडक्शन में समस्या नहीं है। इसकी कीमतें जमाखोरी और बाज़ार में कयासबाजी की वजह से बढ़ रही हैं।'' ज़ाहिर है, अरहर और उड़द दाल के बाद अब चना दाल महंगाई की चपेट में है।



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... नागरिकता कानून पर सुलगती दिल्ली: अब तक 10 लोगों की मौत, सूत्रों ने कहा- सरकार का सेना बुलाने से इनकार

Advertisement