125 'ओवरवेट' चालक दल के सदस्यों को फ्लाइंग ड्यूटी से हटा सकता है एयर इंडिया

125 'ओवरवेट' चालक दल के सदस्यों को फ्लाइंग ड्यूटी से हटा सकता है एयर इंडिया

AI चालक दल के करीब 125 सदस्यों को फ्लाइंग ड्यूटी से हटा सकता है।

नई दिल्ली:

एयर इंडिया अपने चालक दल के करीब 125 सदस्यों को फ्लाइंग ड्यूटी से हटा सकता है। हटाए जाने वाले सदस्यों में एयर होस्टेस भी शामिल होंगी। ऐसा इसलिए किया जा सकता है क्योंकि इनके वजन एयर इंडिया विमानन नियामक (DGCA) द्वारा निर्धारित मापदंडों के अनुरुप नहीं है। एयर इंडिया के सूत्रों का कहना है कि इनमें से कुछ सदस्यों को ग्राउंड ड्यूटी दी जा सकती है जबकि कुछ को वॉलेंटरी रिटायरमेंट भी ऑफर की जा सकती है।

वजन कम करने का दिया था मौका..

राष्ट्रीय विमान सेवा ने पिछले साल चालक दल के ज्यादा वजन वाले करीब 600 सदस्यों को नागरिक उड्डयन महानिदेशालय के दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए एक निर्धारित समय सीमा में वजन कम करने का मौका दिया था। इसका उद्देश्य यह सुनिश्चित करना था कि कोई भी ज्यादा वजन वाला व्यक्ति अब और फ्लाइट स्टेवर्ड या किसी एयर होस्टेस के तौर पर काम ना करे।

सूत्रों ने कहा, 'इन 600 लोगों में एयर होस्टेसों समेत करीब 125 लोग निर्धारित अवधि में जरूरी बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) या वजन के मापदंड बनाए रखने में नाकाम रहे। अब हमारे पास उन्हें फ्लाइंग ड्यूटी से स्थायी रूप से हटाने के अलावा कोई विकल्प नहीं है।'

चालक दल सदस्यों के लिए क्या है नियम...

फिलहाल, सरकारी विमान सेवा में इस समय चालक दल के सदस्यों की संख्या 3,500 है जिनमें से 2,200 स्थायी कर्मचारी हैं जबकि बाकी अनुबंध पर हैं। डीजीसीए के नियमों के अनुरूप चालक दल के किसी पुरूष सदस्य का बीएमआई 18-25 होना चाहिए जबकि महिलाओं के लिए यह 18-22 होना चाहिए। चालक दल के किसी पुरूष सदस्य का बीएमआई 25-29.9 बीएमआई होने पर उसे अधिक वजन का जबकि 30 या उससे अधिक होने पर मोटा माना जाता है। वहीं महिलाओं में 22-27 को अधिक वजन वाला जबकि 27 से अधिक को मोटा माना जाता है।

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com